Friday, Apr 19 2019 | Time 12:26 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • तेलंगाना में लॉरी की टक्कर से दो श्रद्धालुओं की मौत
  • बोल्ड गर्ल के तौर पर अपनी पहचान बनायी ममता कुलकर्णी ने
  • बोल्ड गर्ल के तौर पर अपनी पहचान बनायी ममता कुलकर्णी ने
  • सहारण हत्याकांड के चश्मदीद गवाह के घर पर फायरिंग
  • गुजरात में चुनावी सभा को संबोधित कर रहे हार्दिक पटेल को मारा तमाचा
  • हैदराबाद में रेल निलयम भवन में आग, कोई हताहत नहीं
  • छत्तीसगढ़ में बारातियो को लेकर जा रहे वाहन के पलटने से सात मरे
  • जीत का विश्वास, भाजपा को हराने का लक्ष्य है: धवलीकर
  • दक्षिण और पूर्वोत्तर ने कांग्रेस के बुरे समय में दिया साथ
  • भुवनेश्वर में पूर्व-नौकरशाहों के बीच जंग
  • राजस्थान में चार दलबदलू हैं चुनाव मैदान में
  • मैक्सिको में विमान से 429 किग्रा मारिजुआना बरामद
  • कश्मीर में ट्रेन और मोबाइल इंटरनेट सेवा बहाल
  • केरल में भारी बारिश की चेतावनी
  • उ कोरिया ने बैलिस्टिक मिसाइल का परीक्षण नहीं किया: शनहान
बिजनेस


किसान फोन से किराये पर ले सकेंगे ट्रैक्टर

नयी दिल्ली 04 सितम्बर (वार्ता) दूर-दराज के इलाकों के लघु एवं सीमांत किसान भी अब सिर्फ फोन कर उचित दर पर ट्रैक्टर से अपनी खेत की जुताई करा सकेंगे ।
हैलो ट्रैक्टर सूचना क्षेत्र की कम्पनी एेरिस द्वारा विकसत एक एेप के माध्यम से किसानों को यह सुविधा मुहैया करायेगी। कंपनी ने उचित कीमत पर खेती की जुताई के लिए ट्रैक्टर सेवा शुरु करने की आज घोषणा की। एेरिस टेक्नोलॉजीज के प्रमुख रिषी मोहन भटनागर ने संवाददाता सम्मेलन में कहा कि वह ट्रैक्टर से खेत की जोत की दर नहीं घोषित कर रहे हैं हैं लेकिन जुताई की दर निश्चित रुप से उचित होगी ।
श्री भटनागर ने कहा कि वह नाइजीरिया में इसकी सफलता से उत्साहित होकर अब भारत में 500 ट्रैक्टरों की मदद से यह सेवा शुरु कर रहे हैं। फिलहाल यह सेवा पूर्वी उत्तर प्रदेश, बिहार और झारखंड में शुरु की जायेगी। उन्होंने कहा कि खेतों के छोटे-छोटे टुकड़े होने के कारण छोटे किसान ट्रैक्टर से खेत की समय पर जुतायी नहीं करा पाते हैं लेकिन इस सेवा के शुरु होने से वैसे किसान भी खेतों की जुतायी करा पायेंगे ।
उन्होंने दावा किया कि इससे कृषि लागत दर कम होगी और उत्पादकता भी बढेगी तथा किसानों की आय दोगुनी करने में मदद मिलेगी। पंजाब और हरियाणा जैसे समृद्ध राज्यों में अभी यह सेवा नहीं शुरु की जायेगी क्यों यहां पहले से ही पर्याप्त संख्या में ट्रैक्टर हैं। उन्होंने कहा कि बंगलादेश में भी 100 ट्रैक्टर से यह सेवा शुरु की जा रही है ।
‘हैलो ट्रैक्टर’ ट्रैक्टर निर्माता कम्पनियों के माध्यम से ट्रैक्टर उपलब्ध करायेगी जबकि एेरिस इसके लिये एेप और अन्य संचार उपकरण उपलब्ध करायेगी, जिससे यह पता चल सकेगा कि ट्रैक्टर कहां है और उसने दिन भर में कितना काम किया है ।
अरुण अर्चना
वार्ता
More News
जेट एयरवेज के फँसे यात्रियों के लिए ‘मोचन किराया’

जेट एयरवेज के फँसे यात्रियों के लिए ‘मोचन किराया’

18 Apr 2019 | 10:34 PM

नयी दिल्ली 18 अप्रैल (वार्ता) सरकारी विमान सेवा कंपनी एयर इंडिया ने जेट एयरवेज के विदेश में फँसे यात्रियों के लिए ‘रेस्क्यू फेयर’ (मोचन किराया) शुरू किया है।

see more..
image