Friday, Jul 19 2019 | Time 18:00 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • पीयूष 24 जुलाई को जीआईआई जारी करेंगे
  • सेंसेक्स 560 अंक लुढ़ककर दो महीने के निचले स्तर पर
  • बुंदेलखंड में पलायन की सबसे बडी वजह जल संकट
  • खाद्य तेलों में टिकाव, गेहूँ गरम, मूूंग चढ़ा
  • अंंबानी- अडानी का इतना कसूर कि वे गुजराती हैं- रूपाला
  • इंग्लैंड के स्टोक्स चुने गये ‘न्यूजीलैंडर ऑफ द ईयर’
  • डॉबर का मुनाफा 10 फीसदी बढ़ा
  • पर्ल एकेडमी का शत प्रतिशत प्लेसमेंट का वादा
  • सेंसेक्स 560 अंक लुढ़ककर दो महीने के निचले स्तर पर
  • कार-टैंकर भिडंत में चार मरे, आठ घायल
  • रुपया 17 पैसे चढ़ा
  • कर्नाटक संकट फिर पहुंचा शीर्ष अदालत की चौखट पर
बिजनेस


श्री अग्रवाल ने कहा कि दूध को पोषक तत्वों से युक्त करने के मानक तैयार करने के लिए एफएसएसएआई ने विशेषज्ञों की समिति गठित की थी जिनमें वैज्ञानिक, एम्स के चिकित्सक और जानेमाने विशेषज्ञ थे। इसने मानक तैयार करने को लेकर जितने परीक्षण किये उसमें ढाई वर्ष का समय लग गया। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य एक गंभीर मुद्दा है और इस पर कोई भी निर्णय बहुत सोच समझ कर लिया जाता है ।
श्री अग्रवाल ने कहा कि कुछ लोग फार्टीफिकेशन को लेकर भ्रम की स्थिति पैदा करना चाहते हैं जो उचित नहीं है । उन्होंने कहा कि इसी प्रकार नमक को आयोडिन युक्त करने को लेकर भी कुछ लोगों ने भ्रम फैलाया था जिसे दूर करने में सरकार को वर्षो लग गये थे। बाद में यह प्रमाणित हुआ कि नमक को आयोडिन युक्त करने से स्वास्थ्य पर इसका काफी अच्छा असर हुआ ।
उन्होंने कहा कि दूध में जो विटामिन ए और डी मिलाया जाता है उसका मूल स्त्रोत शाकाहारी पदार्थ हैं। दूध को शाकाहारी माना जाता है और इसलिए इसमें जो विटामिन मिलाया जाता है उसका मुख्य स्त्रोत शाकाहारी वस्तुएं हैं ।
अरुण अर्चना
जारी वार्ता
image