Wednesday, Feb 20 2019 | Time 00:41 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
बिजनेस Share

श्री अग्रवाल ने कहा कि दूध को पोषक तत्वों से युक्त करने के मानक तैयार करने के लिए एफएसएसएआई ने विशेषज्ञों की समिति गठित की थी जिनमें वैज्ञानिक, एम्स के चिकित्सक और जानेमाने विशेषज्ञ थे। इसने मानक तैयार करने को लेकर जितने परीक्षण किये उसमें ढाई वर्ष का समय लग गया। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य एक गंभीर मुद्दा है और इस पर कोई भी निर्णय बहुत सोच समझ कर लिया जाता है ।
श्री अग्रवाल ने कहा कि कुछ लोग फार्टीफिकेशन को लेकर भ्रम की स्थिति पैदा करना चाहते हैं जो उचित नहीं है । उन्होंने कहा कि इसी प्रकार नमक को आयोडिन युक्त करने को लेकर भी कुछ लोगों ने भ्रम फैलाया था जिसे दूर करने में सरकार को वर्षो लग गये थे। बाद में यह प्रमाणित हुआ कि नमक को आयोडिन युक्त करने से स्वास्थ्य पर इसका काफी अच्छा असर हुआ ।
उन्होंने कहा कि दूध में जो विटामिन ए और डी मिलाया जाता है उसका मूल स्त्रोत शाकाहारी पदार्थ हैं। दूध को शाकाहारी माना जाता है और इसलिए इसमें जो विटामिन मिलाया जाता है उसका मुख्य स्त्रोत शाकाहारी वस्तुएं हैं ।
अरुण अर्चना
जारी वार्ता
More News

कोयला खदान आवंटन की नयी पद्धति को मंजूरी

19 Feb 2019 | 8:50 PM

 Sharesee more..
दक्ष लॉजिस्टिक नीति बनाने का लक्ष्य है भारत का: प्रभु

दक्ष लॉजिस्टिक नीति बनाने का लक्ष्य है भारत का: प्रभु

19 Feb 2019 | 7:34 PM

नयी दिल्ली 19 फरवरी (वार्ता) केंद्रीय वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री सुरेश प्रभु ने मंगलवार को कहा कि सरकार ने राष्‍ट्रीय लॉजिस्टिक (माल परिवहन) नीति का मसौदा तैयार किया है जिसका उद्देश्‍य एक एकीकृत, निर्बाध, विश्‍वसनीय एवं किफायती लॉजिस्टिक नेटवर्क के जरिए आर्थिक विकास की गति तेज करना और व्‍यापारिक प्रतिस्‍पर्धी क्षमता बढ़ाना है।

 Sharesee more..
image