Thursday, Feb 21 2019 | Time 23:08 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • बिहार में अलग-अलग हादसों में दस की मौत, आठ घयल
  • उमर, महबूबा ने संयुक्त बयान का किया स्वागत
  • विद्युत निगम कर्मचारियों का काम का अनिश्चितकालीन बहिष्कार
  • ट्रैक्टर की चपेट में आने से बच्ची की मौत
  • जीप पलटने से एक छात्रा की मौत, दो घायल
  • सुपरटेक पर कार्रवाई, चार गिरफ्तार, 50 हजार जुर्माना
  • तीन तलाक पर रोक सहित चार अध्यादेश जारी
  • थरूर ने कोर्ट से विदेश यात्रा की मांगी इजाजत
  • तेदेपा ने पांच उम्मीदवारों के नाम घोषित किए
  • सिंधी नेताओं का उनके सामाजिक एवं राजनीतिक जीवन में महत्वपूर्ण स्थान रहा है:नाईक
  • इमरान ने सईद नीत जेयूडी पर फिर से पाबंदी लगायी
  • कांग्रेस के निलंबित विधायक 14 दिन की न्यायिक हिरासत में
  • राहुल गांधी का झारखंड दौरा 02 मार्च को
  • सऊदी अरब ने कश्मीर को द्विपक्षीय मसले के रूप में मान्यता दी
बिजनेस Share

खाद्य जरूरतों को पूरा करने के लिए सभी देश मिलकर काम करें : हरसिमरत

नयी दिल्ली 11 सितम्बर (वार्ता) खाद्य प्रसंस्करण उद्योग मंत्री हरसिमरत कौर बादल ने विश्व की बढ़ती जनसंख्या के लिए खाद्य सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए कृषि, तकनीक और खाद्य प्रसंस्करण के क्षेत्र में सभी देशों के मिलजुल कर काम करने पर जोर दिया है।
श्रीमती बादल ने यहाँ मंगलवार को वाणिज्य एवं उद्योग महासंघ फिक्की और खाद्य वस्तुओं की कम्पनी कारगिल की ओर से पोषण सुरक्षा को लेकर आयोजित सम्मेलन को सम्बोधित करते हुये कहा कि वर्ष 2050 तक विश्व की आबादी 9.5 अरब हो जायेगी। उस समय तक खाद्य वस्तुओं की माँग दोगुनी हो जायेगी। साथ ही दुनिया में हर छठा व्यक्ति भारतीय होगा।
उन्होंने कहा कि 2030 तक भारत, चीन और इंडोनिशया की आबादी विश्व की कुल आबादी का 65 प्रतिशत हो जायेगी। उस समय तक इन तीनों देशों में 85 प्रतिशत शहरीकरण हो जायेगा। गाँव से शहर में आने के बाद बढ़ते काम की वजह से लोगों के खानपान की आदतों में बदलाव आयेगा और वे प्रसंस्कृत खाद्य वस्तुएँ खाना पसंद करेंगे।
उन्होंने कहा कि ऐसी स्थिति में खाद्य पदार्थों की माँग पूरी करने के लिए सभी देशों को मिलकर काम करने की जरूरत होगी जिससे फसलों की भरपूर पैदावार हो। इसके साथ ही जल्द खराब होने वाली वस्तुओं को नष्ट होने से बचाने की तकनीक, खाद्य प्रसंस्करण की प्रौद्योगिकी और विकास के अन्य क्षेत्रों में दशों को मिलजुल कर काम करना होगा।
अरुण अजीत
जारी वार्ता
image