Friday, Sep 20 2019 | Time 09:30 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • इमरान ने सऊदी क्राउन प्रिंस से कश्मीर मुद्दे पर की चर्चा
  • संरा ने की अफगानिस्तान में आतंकी हमलों की निंदा
  • गौतम बनर्जी एसईसीआर के नये महाप्रबंधक
  • यूनान में वेस्ट नाइल फीवर अब तक 25 की मौत
  • अफगानिस्तान में आत्मघाती हमले में 8 सैनिक मारे गये
  • यमन में विस्फोट से पांच की मौत 20 घायल
  • पिकअप वैन लूटकांड मामले में दो अपराधी गिरफ्तार
  • लातेहार से एक नक्सली गिरफ्तार
  • जम्मू में नाबालिग के स्कूटी चलाने पर 25 हजार का जुर्माना
राज्य » गुजरात / महाराष्ट्र


पीटर मुखर्जी की जमानत याचिका नामंजूर

मुंबई 08 मई (वार्ता) बॉम्बे उच्च न्यायालय ने बहुचर्चित शीना वोरा हत्या मामले में आरोपी पीटर मुखर्जी की चिकित्सकीय आधार पर जमानत याचिका नामंजूर कर दी।
न्यायमूर्ति रियाज चागला की आवकाशकालीन पीठ ने कहा, “ बहरहाल मैं याचिकाकर्ता (मुखर्जी को सीमित सुरक्षा दिए जाने देने के पक्ष में हूं। याचिकाकर्ता को एशियन हार्ट इंस्टीट्यूट में ऑपरेशन के बाद कार्डिएक रिहैबिलिटेशन सेशन और फिजियोथेरेपी कराने की अनुमति देना यथोचित होगा।”
न्यायालय ने जेल प्रशासन को निर्देश दिया कि वह ऑपरेशन के बाद होने वाले कार्डिएक रिहैबिलिटेशन सेशन के लिए मुखर्जी को पुलिस सुरक्षा में एशियन हार्ट इंस्टीट्यूट में ले जाए, जहां उनकी बायपास सर्जरी हुई थी।
मुखर्जी ने पिछले सप्ताह न्यायालय में एक याचिका प्रस्तुत की थी , जिसमें उन्होंने चिकित्सकीय आधार पर अंतरिम जमानत दिये जाने की गुहार लगायी थी। मुखर्जी के वकील श्रीकांत शिवाड़े ने न्यायालय से कहा कि उनके मुवक्किल को आपरेशन बाद देखभाल के बिना जेल ले जाया गया। उन्होंने कहा कि आपरेशन बाद कार्डिएक रिहैबिलिटेशन सेशन और फिजियोथेरेपी के बिना उनके मुवक्किल की जान नहीं बच सकेगी तथा जेल बायपास सर्जरी के बाद मरीज को रखे जाने के लिए उपयुक्त स्थल नहीं है।
पूर्व मीडिया हस्ती पीटर मुखर्जी अपनी पूर्व पत्नी इद्राणी मुखर्जी की पुत्री शीना वोरा की हत्या में संलिप्तता के आरोप में नवम्बर 2015 से जेल में बंद हैं।
टंडन
वार्ता
More News
राममंदिर पर बयानबाजी नहीं हो, न्यायपालिका पर विश्वास रखें: मोदी

राममंदिर पर बयानबाजी नहीं हो, न्यायपालिका पर विश्वास रखें: मोदी

19 Sep 2019 | 4:09 PM

नासिक, 19 सितंबर (वार्ता) प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अयोध्या में राममंदिर के निर्माण को लेकर बयानबाजी करने वाले नेताओं को आज नसीहत दी कि वे देश की न्याय प्रणाली में आस्था रखें।

see more..
image