Thursday, Sep 19 2019 | Time 20:06 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • बैंककर्मी से लूट मामले में एक गिरफ्तार, 3 40 लाख बरामद
  • सुप्रियो पर वामपंथी छात्रों का हमला,राज्यपाल ने मांगी रिपोर्ट
  • डेरे के महंत की हत्या के आरोप में चेला गिरफ्तार
  • जालौन :बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों की स्थिति और अन्य व्यवस्थाओं का अधिकारियों ने लिया जायजा
  • चित्रकूट पुलिस ने मुठभेड़ में किया एक लाख के इनामी डकैत को गिरफ्तार
  • कोलकाता एवं जयपुर के बीच साप्ताहिक विशेष ट्रेन
  • नौसेना को स्कोर्पिन श्रेणी की दूसरी पनडुब्बी खंडेरी मिली
  • हरीश रावत के स्टिंग मामले में सीबीआई कल सौंपेगी जांच रिपोर्ट
  • डी के श्रीवास्तव चुने गये आईडीए के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष
  • नगर निकायों को राजस्व वृद्धि के उपाय ढूंढने होंगे : वित्त आयोग
  • उच्चतम न्यायालय में दो नये न्यायालय कक्ष बनाये गये
  • जमुई से दो कुख्यात गिरफ्तार
  • सिरसा वायु सेना केंद्र ने ग्रामीणों से मृत पशु खुले में न फेंकने की अपील की
  • हवाई अड्डे पर विदेशी यात्री से पाँच किलोग्राम सोना बरामद
राज्य » गुजरात / महाराष्ट्र


अदालत ने नौ आरोपियों को किया बरी

ठाणे, 17 मई (वार्ता) महाराष्ट्र संगठित अपराध नियंत्रण कानून (मकोका) की विशेष अदालत ने वर्ष 2012 में कार चालक बिट्टू सुल्तान शाह (25) की हत्या के मामले में संदेह का लाभ देते हुए नौ आरोपियों को शुक्रवार को बरी कर दिया।
न्यायाधीश एस बी बहालकर ने अपने आदेश में कहा है कि सरकारी अधिवक्ता आरोपियों पर लगे आरोप को सिद्ध करने में पूरी तरह नकाम रहे जिसके कारण सभी नौ आरोपियों को संदेह का लाभ देते हुए बरी किया गया है।
इस मामले में तीन और आरोपी जुड़े थे जिसमें से दो आरोपी जहूर अहमद अब्बास पठान और ईश्वर अभी भी फरार चल रहे हैं। एक अन्य आरोपी हनीफ शेख (38) की मौत हो गयी है।
सरकारी अधिवक्ता ने अदालत को बताया कि कार चालक की हत्या में सभी नौ आरोपी शामिल थे। आरोपियों ने पीड़ित की 30 किलो मादक पदार्थ चुराने के संदेह में कल्याण में 12 फरवरी 2012 को हत्या की थी और इगतपुरी के जंगलों में उसके शव को जला दिया था।
पुलिस ने चश्मदीद गवाह के आधार पर शिकायत दर्ज की थी अौर आरोपियों पर भारतीय दंड संहिता की धाराओं और मकोका के तहत मामला दर्ज किया था।
सरकारी अधिवक्ता ने यह भी बताया कि पीड़ित की हड्डियां का डीएनए टेस्ट कराया गया। जिससे पता चला की शव बिट्टू का ही था।
बचाव पक्ष के वकील ने कहा कि उसके मुवक्किलों को फंसाया गया और चश्मीद गवाहों का बयान और आरोपियों के इकबालिया बयान को दर्ज करने में देरी की गयी। अदालत ने बचाव पक्ष के वकील की दलील पर सहमति जताते हुए आरोपियों को बरी कर दिया।
बारी किये गये आरोपियों में बबन वानी (44), इरशाद शेख (44), अमजद लम्बू पठान (39), इमरान (37), इम्तियाज लम्बुत पठान (37), बुशान मोरे (32), छोटू शेख (30), रहमबाई यूसुफ पठान ( 28), और जाहिद शेख (27) शामिल हैं।
त्रिपाठी, उप्रेती
वार्ता
More News
राममंदिर पर बयानबाजी नहीं हो, न्यायपालिका पर विश्वास रखें: मोदी

राममंदिर पर बयानबाजी नहीं हो, न्यायपालिका पर विश्वास रखें: मोदी

19 Sep 2019 | 4:09 PM

नासिक, 19 सितंबर (वार्ता) प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अयोध्या में राममंदिर के निर्माण को लेकर बयानबाजी करने वाले नेताओं को आज नसीहत दी कि वे देश की न्याय प्रणाली में आस्था रखें।

see more..
image