Wednesday, Feb 8 2023 | Time 12:43 Hrs(IST)
image
राज्य » गुजरात / महाराष्ट्र


गोवा फिल्मोत्सव: किशोरावस्था में प्रवेश करती बालिका की मनोस्थिति की पड़ताल करती है कोस्टारिका की फिल्म 'आई हैव इलेक्ट्रिक ड्रीम्स'

पणजी, 27 नवंबर (वार्ता) गोवा में चल रहे भारतीय अंतरराष्ट्रीय फिल्म महोत्सव में दिखायी जा रही कोस्टारिका की फिल्म 'आई हैव इलेक्ट्रिक ड्रीम्स' पारिवारिक रिश्तों की जटिलताओं और एक किशोर के वयस्कता में जाने की पड़ताल करती है।
इसके चल चित्रकार निकोलस वोंग ने रविवार को एक चर्चा में कहा, ‘फिल्म न तो रिश्तों की जटिलताओं को आदर्श बनाती है और न ही उनकी निंदा करती है।
श्री वोंग ने कहा, "यह एक ऐसी फिल्म है जो वयस्कता में प्रवेश करने की मनोवस्था की खोज करती है। यह सिर्फ उम्र बढ़ने का विषय ही नहीं होती है बल्कि एक ऐसी प्रक्रिया है जो इतनी गहरी है कि कभी-कभी यह व्यक्ति के स्वभाव को किसी एक विशेष प्रकार से तोड़ सकती है।
आधुनिक युग के कोस्टारिका की संस्कृति और वयस्कता की कठिनाइयों का चित्रण होने के नाते निकोलस ने कहा कि फिल्म लोगों को दुनिया की दूसरी तरफ की कहानियों से पहचानने में मदद कर सकती है। यह लोगों के ऐसे पारिवारिक मूल्यों या भावनाओं से जुड़ सकती है जो सार्वभौमिक हैं।’
इस फिल्म में ईवा 16 साल की मजबूत इरादों वाली लड़की है जो अपनी मां, अपनी छोटी बहन और एक बिल्ली के साथ रहती है। उसके अंदर अपने अलग पिता के साथ रहने की गहरी चाहत है। उसका पिता उसकी मां से अलग रह रहा होता है और अपनी दूसरी किशोरावस्था से गुज़र रहा होता है।
ईवा उससे चिपक कर रहते हुए किशोर जीवन की कोमलता और संवेदनशीलता और वयस्क दुनिया की निर्ममता के बीच संतुलन बनाती है। '
आई हैव इलेक्ट्रिक ड्रीम्स' एक ऐसी दुनिया में जहां किसी महिला में यौन जागृति से उत्पन्न भ्रम की दशा में आक्रामकता और क्रोध का घाल-मेल होता रहता है।
मनोहर , जांगिड़
वार्ता
image