Monday, Feb 18 2019 | Time 22:18 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • महाराष्ट्र में भाजपा-शिव सेना के बीच लोस, विस चुनावी गठबंधन का एलान
  • भाजपा आतंकवादियों के खिलाफ कार्रवाई का राजनीति फायदा लेने के प्रयास में-कांग्रेस
  • अमृतसर के निगम आयुक्त पर किया जाए मामला दर्ज: भोला
  • अल-जुबेर ने ईरान पर आतंकवाद प्रायोजक होने का आरोप लगाया
  • पंजाब का आम बजट मोदी सरकार की योजनाओं का प्रतिबिंव: कालिया
  • पाकिस्तान ने सऊदी शाहज़ादे को सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार से नवाज़ा
  • पंजाब का आम बजट दिशाहीन: छीना
  • कौशल विकास योजनाओं के लाभार्थी युवा हो रहे आत्मनिर्भर: अनिल जोशी
  • राज्यपाल ने दी प्रदेशवासियों को संत रविदास जयंती की शुभकामनाएं
  • राज्यपाल ने मेजर ढौंढियाल और मेजर बिष्ट की शहादत पर शोक व्यक्त किया
  • कुम्भ स्नान के लिए जा रही बस दुर्घटनाग्रसत,दो महिला श्रद्धालुओं की मृत्यु
  • त्रिवेन्द्र ने मेजर विभूति कुमार ढौंडियाल की शहादत पर शोक व्यक्त किया
  • कुपवाड़ा में अनुपस्थित पाये जाने पर 70 कर्मचारी निलंबित
  • सवर्ण आरक्षण विधेयक पर राजद-कांग्रेस का चेहरा बेनकाब : सुशील
  • उप्र पुलिस का भर्ती परिणाम घोषित,महिलाओं में प्रथम स्थान पर बागपत की प्रिन्सी
भारत Share

बैठक में समझौते की बातचीत के विभिन्न स्तरों और विभिन्न मुद्दों पर गठित किये गये उप कार्यकारी समूह की प्रगति का जायजा लिया गया। इस संबंध में आर्थिक एवं तकनीकी सहयोग, लघु एवं मध्यम उद्योग, सीमा शुल्क एवं व्यापार सुविधा तथा सरकारी खरीद से संबंधित प्रक्रिया पर हुई प्रगति पर संतोष व्यक्त किया गया। बैठक में शामिल हुए देशों ने इस वर्ष के अंत में बातचीत के परिणाम आने की संभावना पर सहमति देते हुए लंबित मुद्दों पर तेजी से विचार विमर्श पर बल दिया।
श्री प्रभु ने भारतीय हितों को ध्यान में रखते हुए सुगम व्यापार पर बल दिया। उन्होंने कहा कि वस्तु एवं सेवा के कारोबार के लिये कागज रहित प्रक्रिया अपनायी जानी चाहिए। निवेश संबंधी विवादों के तेजी से निपटाने पर जोर देते हुए केंद्रीय मंत्री ने कहा कि इससे निवेश के माहौल में सुधार होगा। उन्होंने कहा कि इन मुद्दों से संबंधित सभी मुद्दों पर भागीदारी देशों को जल्दी से जल्दी अपनी आपत्तियां दर्ज करा देनी चाहिए जिससे 17 और 24 अक्टूबर को न्यूजीलैंड के ऑकलैंड में होने वाली बैठक में इनके समाधान को स्वीकार किया जा सके।
सत्या सचिन
वार्ता
More News
गुरुदेव का कृतित्व, सन्देश आज भी प्रासंगिक : मोदी

गुरुदेव का कृतित्व, सन्देश आज भी प्रासंगिक : मोदी

18 Feb 2019 | 8:54 PM

नयी दिल्ली, 18 फरवरी (वार्ता) प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संस्कृति को राष्ट्र की प्राण वायु बताया और कहा है कि गुरुदेव रवीन्द्र नाथ टैगोर का कृतित्व और उनका सन्देश समय और काल से परे है और दुनिया की वर्तमान चुनौतियों को देखते हुए वह आज भी प्रासंगिक है।

 Sharesee more..
image