Monday, Nov 19 2018 | Time 10:17 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • अजमेर उत्तर सीट बचाना भाजपा के लिए मुश्किल
  • अजमेर दक्षिण सीट पर रोचक मुकाबला
  • राहुल, सोनिया, प्रणव और मनमोहन ने इंदिरा को किया याद
  • इजरायली प्रधानमंत्री ने रक्षा मंत्रालय का अतिरिक्त प्रभार लेने की घोषणा की
  • अलीगढ़ में भीषण सड़क हादसा, छह बस यात्रियों की मृत्यु, 10 घायल
  • मोदी ने इंदिरा गांधी को किया याद
  • आज का इतिहास (प्रकाशनार्थ 20 नवंबर)
  • एटा में भागवत कथा के दौरान फायरिंग में किशोर की मृत्यु
  • फ्रांस में देशव्यापी विरोध प्रदर्शन के बावजूद पेट्रोल, डीजल की बढ़ी कीमतें रहेंगी बरकरार
  • ट्रंप नहीं सुनेंगे खशोगी की हत्या का ऑडियो टेप
  • तालिबान के साथ शांति समझौता चाहते हैं खलिलजाद
  • इजरायल में जल्द चुनाव संभव नहीं : नेतन्याहू
  • सबरीमला : श्रद्धालु गिरफ्तार, विजयन के निवास के बाहर प्रदर्शन
  • विजयन के निवास के बाहर श्रद्धालुओं ने किया प्रदर्शन
  • सबरीमला में तनाव बरकरार, भक्ति गीत गाने पर श्रद्धालु गिरफ्तार
भारत Share

शिक्षक दिवस पर पेंशन को लेकर शिक्षकों ने किया प्रदर्शन

शिक्षक दिवस पर पेंशन को लेकर शिक्षकों ने किया प्रदर्शन

नयी दिल्ली 05 सितम्बर (वार्ता) देश भर के हजारों शिक्षकों ने आज शिक्षक दिवस पर बेहतर पेंशन स्कीम की मांग को लेकर काली पट्टी बांधी और विश्वविद्यालय और कॉलेजों में विरोध प्रदर्शन किया।

केन्द्रीय विश्वविद्यालय शिक्षक संघ के बैनर तले यह विरोध प्रदर्शन पुरानी पेंशन स्कीम को दोबारा लागू करने के लिए किया गया। डूटा, जामिया शिक्षक संघ, जवाहरलाल नेहरू शिक्षक संघ, अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय शिक्षक संघ जैसे शिक्षक संगठनों ने फेडकूटा के इस प्रदर्शन को पूरा समर्थन दिया। मानव संसाधन विकास मंत्री को एक ज्ञापन भी सौंपा,

फेडकुता की यहाँ जारी विज्ञप्ति के अनुसार एक जनवरी 2004 को शिक्षकों के ऊपर जो नयी पेंशन स्कीम थोपी गयी, उसे लेकर लगातार ड़ूटा और फेडकूटा जैसे संगठनों ने अपना विरोध प्रदर्शन करते रहे हैं। ज्ञापन भी मानव संसाधन विकास मंत्रालय को सौंपे गये हैं। नयी पेंशन स्कीम मूल रूप से शिक्षकों के लिए सेवानिवृत्त के बाद कोई लाभ सुनिश्चित करने की व्यवस्था नहीं करता है जबकि शिक्षा के क्षेत्र में देश का मेधावी विभाग आता है जो देश के विकास और बेहतरी के लिए कार्य करता है, तब जरूरी है कि उसे सामाजिक सुरक्षा पेंशन स्कीम के माध्यम से दिया जाना चाहिए।

यूजीसी अधिनियम 2018 को लेकर इस बीच फेडकूटा, एआईफक्टो, डूटा द्वारा दिए गए फीडबैक पर मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने संज्ञान में लिया है, वे उसकी सराहना करते हैं।

उन्होंने कहा कि ग्यारह जून 2018 को संसाधन विकास मंत्रालय द्वारा जारी कि गयी पेंशन योजना अभी अधूरी है, क्योंकि सांतवें वेतन आयोग के पे मैट्रिक्स में उसकी योजना साफ नहीं है। एक जनवरी 2016 के पहले सेवानिवृत्त हुए शिक्षकों पर इसका गंभीर और विपरीत असर हुआ है। अभी तक सातवें वेतन आयोग के तहत वेतन भत्तों की घोषणा भी नही हुयी है। सरकार ने 200 प्वाइंट रोस्टर सिस्टम को अधिनियम के जरिए भी पूर्ण स्थापित नहीं किया है, जिसके अभाव में देशभर के विश्वविद्यालयों और कॉलेजों में अनुसूचित जाति एवं जनजाति तथा पिछड़े वर्ग के शिक्षक पदों में भारी कटौती देखने को मिलेगी।

फेडकूटा ने मानव संसाधन विकास मंत्रालय से नयी पेंशन स्कीम को खत्म कर पुरानी पेंशन स्कीम को दोबारा लागू करने कि मांग की है और जब तक शिक्षकों की यह मांगे नहीं मानी जाती तब तक फेडकूटा अपने आंदोलन को जारी रखेगा।

अरविन्द.श्रवण

वार्ता

More News
मोदी ने इंदिरा गांधी को किया याद

मोदी ने इंदिरा गांधी को किया याद

19 Nov 2018 | 9:07 AM

नयी दिल्ली 19 नवंबर (वार्ता) प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी का उनकी जयंती पर स्मरण किया है।

 Sharesee more..

आज का इतिहास (प्रकाशनार्थ 20 नवंबर)

19 Nov 2018 | 8:51 AM

 Sharesee more..
भाजपा ने तेलंगाना के लिए जारी की छठी सूची

भाजपा ने तेलंगाना के लिए जारी की छठी सूची

18 Nov 2018 | 11:11 PM

नयी दिल्ली, 18 नवंबर (वार्ता) भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने तेलंगाना विधानसभा चुनावों के लिए रविवार को छठी सूची जारी करते हुए छह उम्मीदवारों के नामों की घोषणा की। इससे पहले पार्टी ने आज सुबह पांचवीं सूची जारी करके 19 उम्मीदवारों के नाम घोषित किये थे।

 Sharesee more..
राजनाथ ने पंजाब की घटना पर अमरिंदर से की बात

राजनाथ ने पंजाब की घटना पर अमरिंदर से की बात

18 Nov 2018 | 8:01 PM

नयी दिल्ली, 18 नवंबर (वार्ता) गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने पंजाब के अमृतसर में रविवार को निरंकारी भवन पर हमले में निर्दोष लोगों की मौत पर गहरा क्षोभ व्यक्त किया और मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह से बात कर दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने को कहा।

 Sharesee more..
image