Sunday, Sep 23 2018 | Time 23:14 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • पाकिस्तान से बेहतरी की कोई उम्मीद नहीं: जनरल रावत
  • जयपुर के ट्रांसपोर्ट नगर क्षेत्र में झगड़े के बाद तनाव
  • मंडी जिले में जीप खाई में गिरी, तीन मरे, 12 घायल
  • मोदी सोमवार को सिक्किम हवाई अड्डा का करेंगे उद्घाटन: डॉ जितेंद्र सिंह
  • मानव तस्करी का प्रमुुुख केन्द्र बना पूर्वोतर: मीर
  • राहुल गांधी 27 और 28 को रीवा तथा सतना जिले के दौरे पर रहेंगे
  • रमन ने की आंध्र के विधायक और पूर्व विधायक की हत्या की निन्दा
  • क्रिकेट प्रतियोगिताओं में प्रतिनिधित्व करने वाले खिलाड़ियों के भत्तों में वृदि्ध
  • छोटा उदेपुर में नदी में डूबने से दो युवकों की मौत
  • जम्मू कश्मीर में 90:10 के अनुपात से होगा बीमा योजना के तहत भुगतान
  • कांग्रेस सभी वर्गों को लेकर चलती है साथ- पायलट
  • मुजफ्फरपुर के पूर्व महापौर और उनके चालक की हत्या
  • कायेस और महमूदुल्लाह के अर्धशतकों से बंगलादेश के 249
  • कायेस और महमूदुल्लाह के अर्धशतकों से बंगलादेश के 249
  • संंप्र्रग सरकार द्वारा शुरू की गई योजनाओं का श्रेय ले रहे हैं प्रधानमंत्री: जेना
भारत Share

श्रीमती स्वराज ने बताया कि दोनों पक्ष इस बात पर सहमत हुए हैं कि दोनों रक्षा मंत्रियों तथा विदेश मंत्रियों के बीच निरंतर संपर्क बनाये रखने के लिए हॉट लाइन स्थापित की जायेंगी। उन्होंने यह भी कहा कि बैठक में दक्षिण एशिया की स्थिति पर भी काफी बातचीत हुई। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प की दक्षिण एशिया नीति का भारत समर्थन करता है और पाकिस्तान से सीमा पार आतंकवाद को समर्थन देने की नीति को बंद करने का उनका आह्वान भारत की नीति से मेल खाता है। उन्होंने कहा कि अफगानिस्तान में वहां के लोगों के बीच चल रही मेल मिलाप की प्रक्रिया पर भारत और अमेरिका के प्रयासों पर भी चर्चा हुई।
रक्षा मंत्री सीतारमण ने बताया कि शांति एवं स्थिरता सुनिश्चित करने के हर संभव रास्ते को लेकर सहयोग बढाने का दोनों देशों ने संकल्प लिया ताकि लोगों की तरक्की और समृद्धि की आकांक्षाओं को पूरा किया जा सके। उन्होंने कहा कि हम आतंकवाद और सुरक्षा के लिए हर चुनौती का मिलकर मुकाबला करेंगे। इस संबंध में दोनों देशों ने लक्ष्य हासिल करने की कार्यप्रणाली को लेकर भी विचार विमर्श किया।
उन्होंने कहा कि सैन्य साजो सामान के आदान प्रदान से संबंधित महत्वपूर्ण समझौते लिमोआ तथा विमानवाहक पोतों के अलावा अन्य पोतों से भी हेलिकॉप्टरों के अभियान संबंधी समझौते के बाद आज दोनों देशों ने एक और महत्वपूर्ण सैन्य समझौते पर हस्ताक्षर किये हैं। संचार अनुकूलता एवं सुरक्षा समझौता (कॉमकासा) से भारत को अमेरिका से उच्च रक्षा प्रौद्योगिकी सुलभ हो सकेगी और इससे भारत की रक्षा तैयारियां सुदृढ होंगी।
रक्षा मंत्री ने दोनों देशों के बीच बढती सामरिक साझेदारी में रक्षा सहयोग को द्विपक्षीय संबंधों का प्रमुख कारक बताया। उन्होंने कहा कि इस क्षेत्र में तालमेल बढाने के लिए दोनों देशों की तीनों सेनाओं के बीच अगले साल संयुक्त सैन्य अभ्यास का निर्णय लिया गया है। पहली बार आयोजित यह अभ्यास भारत के पूर्वी तट पर होगा।
संजीव सचिन
जारी वार्ता
More News
महात्मा गांधी की 150वीं जयंती पर ‘मुशायरा’

महात्मा गांधी की 150वीं जयंती पर ‘मुशायरा’

23 Sep 2018 | 9:27 PM

नयी दिल्ली, 23 सितम्बर (वार्ता) केंद्र सरकार राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 150वीं जयंती पर देशभर में मुशायरों का आयोजन करेगी और इसके जरिए बापू का संदेश जन जन तक पहुंचाया जाएगा।

 Sharesee more..
राहुल और ओलांद के बयानों में तारतम्य की कोई वजह जरूर है: जेटली

राहुल और ओलांद के बयानों में तारतम्य की कोई वजह जरूर है: जेटली

23 Sep 2018 | 8:37 PM

नयी दिल्ली, 23 सितम्बर (वार्ता) राफेल सौदे में रिलायंस को लाभ पहुंचाने के आरोपों से घिरी मोदी सरकार के बचाव में वित्त मंत्री अरुण जेटली ने रविवार को फिर मोर्चा संभाला और कहा कि राफेल को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी तथा फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद के बयानों में जो तारतम्य है, उसे देखते हुए लगता है कि दोनों बयानों के बीच जरूर कोई न कोई संबंध है।

 Sharesee more..
केजरीवाल की अमित शाह को बहस की चुनौती

केजरीवाल की अमित शाह को बहस की चुनौती

23 Sep 2018 | 8:09 PM

नयी दिल्ली, 23 सितम्बर (वार्ता) भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष अमित शाह के दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर काम नहीं करने और इससे दिल्ली की जनता के नाराज होने संबंधी बयान पर श्री केजरीवाल ने भाजपा अध्यक्ष को खुले मैदान में बहस करने की चुनौती दी है।

 Sharesee more..
भूटान भारत के परिवार का हिस्सा रहा है: वेंकैया

भूटान भारत के परिवार का हिस्सा रहा है: वेंकैया

23 Sep 2018 | 7:08 PM

नयी दिल्ली, 23 सितम्बर (वार्ता) उप राष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने कहा है कि भारत भूटान को अपने परिवार का ही हिस्सा मानता है और वहां की संस्कृति ने भारतीयों को हमेशा आकर्षित किया है।

 Sharesee more..
image