Tuesday, Feb 19 2019 | Time 09:50 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • अभेद्य सुरक्षा के बीच माघी पूूर्णिमा पर नौ बजे 40 लाख श्रद्धालुओ ने लगायी आस्था की डुबकी
  • मोदी अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी पहुंचे, 3382 करोड़ की ‘सौगत’ देंगे
  • दक्षिण कोरिया में आग से दो लोगों की मौत, 50 अचेत
  • मथुरा यमुना एक्सप्रेस-वे पर एम्बुलेंस और कार की भीषण टक्कर,सात की मृत्यु
  • गुआइदो के आदेशों का पालन करे वेनेजुएला की सेना: ट्रंप
  • बंगलादेश में पोर्नोग्राफी और गैम्बलिंग वेबसाइट पर प्रतिबंध
  • आज का इतिहास (प्रकाशनार्थ 20 फरवरी)
  • अमेरिका में तीन बच्चे सहित मृत पायी गयी महिला
  • अमेरिका में आपातकाल की घोषणा के विरोध में देश व्यापी प्रदर्शन
  • अल अजहर ने की नाइजीरिया में हुए आत्मघाती हमले की निंदा
  • मिस्र: बम विस्फोट में दो पुलिसकर्मी, एक आतंकवादी की मौत
  • सीरिया में आतंकवादी हमले में दो लोगों की मौत
  • तुर्की में यिल्दिरिम ने की इस्तीफा देने की घोषणा
  • इराक में आतंकवादियों ने की एक की हत्या और सात का अपहरण
  • यमन में सुरक्षा बलों के साथ झड़प में 10 हौती विद्रोही मारे गए
भारत Share

श्रीमती स्वराज ने बताया कि दोनों पक्ष इस बात पर सहमत हुए हैं कि दोनों रक्षा मंत्रियों तथा विदेश मंत्रियों के बीच निरंतर संपर्क बनाये रखने के लिए हॉट लाइन स्थापित की जायेंगी। उन्होंने यह भी कहा कि बैठक में दक्षिण एशिया की स्थिति पर भी काफी बातचीत हुई। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प की दक्षिण एशिया नीति का भारत समर्थन करता है और पाकिस्तान से सीमा पार आतंकवाद को समर्थन देने की नीति को बंद करने का उनका आह्वान भारत की नीति से मेल खाता है। उन्होंने कहा कि अफगानिस्तान में वहां के लोगों के बीच चल रही मेल मिलाप की प्रक्रिया पर भारत और अमेरिका के प्रयासों पर भी चर्चा हुई।
रक्षा मंत्री सीतारमण ने बताया कि शांति एवं स्थिरता सुनिश्चित करने के हर संभव रास्ते को लेकर सहयोग बढाने का दोनों देशों ने संकल्प लिया ताकि लोगों की तरक्की और समृद्धि की आकांक्षाओं को पूरा किया जा सके। उन्होंने कहा कि हम आतंकवाद और सुरक्षा के लिए हर चुनौती का मिलकर मुकाबला करेंगे। इस संबंध में दोनों देशों ने लक्ष्य हासिल करने की कार्यप्रणाली को लेकर भी विचार विमर्श किया।
उन्होंने कहा कि सैन्य साजो सामान के आदान प्रदान से संबंधित महत्वपूर्ण समझौते लिमोआ तथा विमानवाहक पोतों के अलावा अन्य पोतों से भी हेलिकॉप्टरों के अभियान संबंधी समझौते के बाद आज दोनों देशों ने एक और महत्वपूर्ण सैन्य समझौते पर हस्ताक्षर किये हैं। संचार अनुकूलता एवं सुरक्षा समझौता (कॉमकासा) से भारत को अमेरिका से उच्च रक्षा प्रौद्योगिकी सुलभ हो सकेगी और इससे भारत की रक्षा तैयारियां सुदृढ होंगी।
रक्षा मंत्री ने दोनों देशों के बीच बढती सामरिक साझेदारी में रक्षा सहयोग को द्विपक्षीय संबंधों का प्रमुख कारक बताया। उन्होंने कहा कि इस क्षेत्र में तालमेल बढाने के लिए दोनों देशों की तीनों सेनाओं के बीच अगले साल संयुक्त सैन्य अभ्यास का निर्णय लिया गया है। पहली बार आयोजित यह अभ्यास भारत के पूर्वी तट पर होगा।
संजीव सचिन
जारी वार्ता
More News
महिला सुरक्षा के लिए कई योजनाओं की शुरूआत करेंगे राजनाथ

महिला सुरक्षा के लिए कई योजनाओं की शुरूआत करेंगे राजनाथ

18 Feb 2019 | 11:46 PM

नयी दिल्ली 18 फरवरी (वार्ता ) केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह मंगलवार को यहां महिलाओं की सुरक्षा के लिए अनेक योजनाओं की शुरूआत करेंगे।

 Sharesee more..
स्वच्छ यमुना के लिए 1387.71 करोड़ की परियोजनाएं स्वीकृत

स्वच्छ यमुना के लिए 1387.71 करोड़ की परियोजनाएं स्वीकृत

18 Feb 2019 | 11:36 PM

नयी दिल्ली, 18 फरवरी (वार्ता) सरकार ने गंगा को निर्मल बनाने के अपने महत्वाकांक्षी ‘नमामि गंगे’ कार्यक्रम के तहत यमुना तट पर बसे शहरों की गंदगी इसमें जाने से रोकने और इसे स्वच्छ बनाने के लिए 1387.71 करोड़ रुपये की परियोजनाएं स्वीकृत की है।

 Sharesee more..
जिला स्तर पर कारोबार के अनुकूल माहौल बनाने की योजना: प्रभु

जिला स्तर पर कारोबार के अनुकूल माहौल बनाने की योजना: प्रभु

18 Feb 2019 | 11:25 PM

नयी दिल्ली, 18 फरवरी (वार्ता) केंद्रीय वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री सुरेश प्रभु ने सोमवार को कहा कि सरकार ने जिला स्तर पर कारोबार के अनुकूल माहौल बनाने के लिए एक योजना तैयार की है।

 Sharesee more..
image