Saturday, Sep 22 2018 | Time 08:28 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • मोदी ने चामलिंग को दी जन्मदिन की बधाई
  • नाफ्टा वार्ता विफल होने पर मैक्सिको कनाडा से करेगा समझौता : ओब्राडोर
  • ट्रम्प प्रशासन अंतरराष्ट्रीय शांति व सुरक्षा पर खतरा : ईरान
  • इजरायल सेना की गोलीबारी में फिलीस्तीनी की मौत
  • वेनेजुएला के खिलाफ अमेरिका करेगा कार्रवाई : पोम्पेओ
  • न्यूयॉर्क में तीन नवजात बच्चों,दो लोगों पर चाकू से हमला
  • राफेल सौदा प्रकरण, फ्रांस की कंपनियां भारतीय सहयोगी चुनने को लेकर स्वतंत्र: फ्रांस सरकार
  • राफेल सौदा प्रकरण, फ्रांस की कंपनियां भारतीय सहयोगी चुनने को लेकर स्वतंत्र: फ्रांस सरकार
  • मलिक के कमाल से पाकिस्तान ने अफगानिस्तान को हराया
  • राष्ट्रपति ने नौका हादसे की जांच का दिया आदेश
  • नन से दुष्कर्म का आरोपी बिशप मुलक्कल गिरफ्तार
भारत Share

श्री सुरजेवाला ने कहा कि भारत बंद निरंकुश सरकार पर तेल के दामों में बेतहाशा वृद्धि पर अंकुश लगाने के लिए दबाव बनाने के वास्ते किया गया है। उन्होंने कहा कि उनकी मांग डीजल और पेट्रोल को वस्तु एवं सेवाकर (जीएसटी) के दायरे में लाने की है ताकि इनके दाम में बड़ी कमी लाकर लोगों को राहत दिलायी जा सके।
प्रवक्ता ने कहा कि मोदी सरकार के सत्ता में आने के बाद से पेट्रोल के दाम 28 रुपए प्रति लीटर और डीजल के दाम 27 प्रति लीटर से ज्यादा बढ़े हैं। सरकार ने तेल दाम पर कई बार कर लगाए हैं और लोगों की जेबों पर लगातार डाका डाला जा रहा है। सरकार अनावश्यक कर थोपकर डीजल और पेट्रोल से अब तक 11 लाख करोड़ रुपए से ज्यादा की कमायी कर चुकी है। तेल के दाम बढ़ने से महंगाई आसमान छू रही है।
उन्होंने कहा कि पेट्रोल और डीजल के दामों को लेकर सूचना के अधिकार के तहत मांगी गयी एक ताजा जानकारी से खुलासा हुआ है कि सरकार पेट्रोल और डीजल को देश में जहां क्रमश: लगभग 80 और 74 रुपए प्रति लीटर की दर से बेच रही है उसी पेट्रोल डीजल को 15 अन्य मुल्कों को भारत से 37 रुपए तथा 34 रुपए प्रति लीटर की दर से बेचा जा रहा है।
कांग्रेस नेताओं ने कहा कि यह आश्चर्य की बात है कि अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के दाम गिर रहे हैं लेकिन मोदी सरकार इसमें लगातार बढोतरी कर रही है। केंद्र सरकार चाहे तो तेल के दाम में तत्काल कमी ला सकती है लेकिन वह ऐसा नहीं कर रही है इसलिए सभी राजनीतिक दलों, स्वयंसेवी संगठनों तथा आंदोलनकारियों को एकजुट होकर भारत बंद को सफल बनाना चाहिए।
अभिनव सत्या
वार्ता
More News

22 Sep 2018 | 3:03 AM

 Sharesee more..
डॉक्टरों की पहली पदोन्नति के लिए जरूरी हो ग्रामीण सेवा : नायडू

डॉक्टरों की पहली पदोन्नति के लिए जरूरी हो ग्रामीण सेवा : नायडू

21 Sep 2018 | 11:28 PM

नयी दिल्ली 21 सितम्बर (वार्ता) उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू ने चिकित्सा के पेशे को मिशन बताते हुये युवा डॉक्टरों से वंचितों की सेवा का संकल्प लेने की अपील की और कहा कि उनकी राय में पहली पदोन्नति के लिए ग्रामीण इलाकों में कम से कम तीन साल की सेवा अनिवार्य होनी चाहिये।

 Sharesee more..
image