Sunday, May 31 2020 | Time 20:57 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • कोरोना का संकट टला नहीं है, सभी सतर्क रहें - शिवराज
  • मुंबई में कोरोना से 38,442 संक्रमित, 1227 की मौत
  • सुप्रीम कोर्ट के पूर्व जज करेंगे अकमल मामले की सुनवाई
  • कोरोना का संकट टला नहीं है, सभी सतर्क रहें - शिवराज
  • राजस्थान में कुछ प्रतिबंध के साथ दुकानें खुल सकेगी, स्कूल, काॅलेज बंद रहेगें
  • तीन बार के ओलम्पिक चैम्पियन बॉबी मोरो का निधन
  • तीन बार के ओलम्पिक चैम्पियन बॉबी मोरो का निधन
  • बिहार में कोरोना संक्रमित दो लोगों की मौत
  • कोरोना : हिमाचल में 17 नये मामले
  • जम्मू-कश्मीर में बारिश के बाद मौसम हुआ ठंडा
  • बोटाद में बिजली के करंट से दो भाईयों की मौत
  • मध्यप्रदेश में आर्थिक गतिविधियां चरणबद्ध तरीके से शुरू होंगी।
  • चंपावत में पुलिस पर हमला करने के आरोप में 25 ग्रामीणों के खिलाफ मामला दर्ज
  • कर्नाटक में कोरोना संक्रमितों की संख्या 3000 के पार
  • पंजाब में कोरोना से 45वीं मौत
भारत


श्री सुरजेवाला ने कहा कि भारत बंद निरंकुश सरकार पर तेल के दामों में बेतहाशा वृद्धि पर अंकुश लगाने के लिए दबाव बनाने के वास्ते किया गया है। उन्होंने कहा कि उनकी मांग डीजल और पेट्रोल को वस्तु एवं सेवाकर (जीएसटी) के दायरे में लाने की है ताकि इनके दाम में बड़ी कमी लाकर लोगों को राहत दिलायी जा सके।
प्रवक्ता ने कहा कि मोदी सरकार के सत्ता में आने के बाद से पेट्रोल के दाम 28 रुपए प्रति लीटर और डीजल के दाम 27 प्रति लीटर से ज्यादा बढ़े हैं। सरकार ने तेल दाम पर कई बार कर लगाए हैं और लोगों की जेबों पर लगातार डाका डाला जा रहा है। सरकार अनावश्यक कर थोपकर डीजल और पेट्रोल से अब तक 11 लाख करोड़ रुपए से ज्यादा की कमायी कर चुकी है। तेल के दाम बढ़ने से महंगाई आसमान छू रही है।
उन्होंने कहा कि पेट्रोल और डीजल के दामों को लेकर सूचना के अधिकार के तहत मांगी गयी एक ताजा जानकारी से खुलासा हुआ है कि सरकार पेट्रोल और डीजल को देश में जहां क्रमश: लगभग 80 और 74 रुपए प्रति लीटर की दर से बेच रही है उसी पेट्रोल डीजल को 15 अन्य मुल्कों को भारत से 37 रुपए तथा 34 रुपए प्रति लीटर की दर से बेचा जा रहा है।
कांग्रेस नेताओं ने कहा कि यह आश्चर्य की बात है कि अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के दाम गिर रहे हैं लेकिन मोदी सरकार इसमें लगातार बढोतरी कर रही है। केंद्र सरकार चाहे तो तेल के दाम में तत्काल कमी ला सकती है लेकिन वह ऐसा नहीं कर रही है इसलिए सभी राजनीतिक दलों, स्वयंसेवी संगठनों तथा आंदोलनकारियों को एकजुट होकर भारत बंद को सफल बनाना चाहिए।
अभिनव सत्या
वार्ता
More News
महाराष्ट्र, गुजरात में तीन जून तक चक्रवाती तूफान दे सकता है दस्तक

महाराष्ट्र, गुजरात में तीन जून तक चक्रवाती तूफान दे सकता है दस्तक

31 May 2020 | 8:41 PM

नयी दिल्ली, 31 मई (वार्ता) अरब सागर और लक्षद्वीप के ऊपर निम्न दाब का क्षेत्र बनने के कारण चक्रवाती तूफान के उठने और इसके तीन जून तक महाराष्ट्र एवं गुजरात के तटीय इलाकों में दस्तक देने की आशंका है।

see more..
विवादित तथ्यों की सुनवाई अनुच्छेद 226 के तहत नहीं : दिल्ली हाईकोर्ट

विवादित तथ्यों की सुनवाई अनुच्छेद 226 के तहत नहीं : दिल्ली हाईकोर्ट

31 May 2020 | 8:12 PM

नयी दिल्ली, 31 मई (वार्ता) दिल्ली उच्च न्यायालय ने लॉकडाउन की अवधि का वेतन देने संबंधी सरकारी अधिसूचना पर अमल संबंधी एक याचिका को तथ्यों के विवादित प्रश्नों का हवाला देते हुए निपटारा कर दिया है।

see more..
दिल्ली में एक दिन में कोरोना के रिकॉर्ड 1295 मामले

दिल्ली में एक दिन में कोरोना के रिकॉर्ड 1295 मामले

31 May 2020 | 8:01 PM

नयी दिल्ली,31 मई (वार्ता) राजधानी में कोरोना वायरस हर दिन विकराल रुप धारण करता जा रहा है और पिछले 24 घंटों में इसके रिकार्ड 1295 मामले सामने आने के बाद संक्रमितों का आंकड़ा 19 हजार को पार कर गया और इस दौरान 13 मरीजों की मौत से कुल मरने वालों की संख्या 473 हो गई है

see more..
निजी फायदे के लिए न्यायपालिका के खिलाफ हमले : बीसीआई

निजी फायदे के लिए न्यायपालिका के खिलाफ हमले : बीसीआई

31 May 2020 | 8:01 PM

नयी दिल्ली, 31 मई (वार्ता) भारतीय विधिज्ञ परिषद (बीसीआई) ने कहा है कि व्यक्तिगत एवं राजनीतिक फायदे को लेकर हाल के दिनों में उच्चतम न्यायालय को निशाना बनाये जाने की घटना में बढ़ोतरी हुई है, जो इस संस्थान को कमजोर करने की सोची समझी साजिश का हिस्सा है।

see more..
घरेलू उद्योग धंधों को सुविधायें दे सरकार: मायावती

घरेलू उद्योग धंधों को सुविधायें दे सरकार: मायावती

31 May 2020 | 8:01 PM

नयी दिल्ली 31मई (वार्ता) बहुजन समाज पार्टी की अध्यक्ष मायावती ने रविवार को कहा कि सरकार के विदेशी कंपनियों की लुभाने की बजाय घरेलू उद्योग धंधों को सुविधायें देनी चाहिये जिससे देश आत्मनिर्भरता की ओर बढेगा.

see more..
image