Thursday, Jul 18 2019 | Time 21:44 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • अरुणाचल के लोगों को दूसरे दर्जे का नागरिक नहीं माने सरकार
  • अपराध, भ्रष्टाचार और सांप्रदायिकता से समझौता नहीं : नीतीश
  • सोनभद्र घटना का मुख्य आरोपी और उसका भाई गिरफ्तार
  • टीएसपीसी के सब जोनल कमांडर समेत चार नक्सली गिरफ्तार
  • जिलाधिकारी ने डॉल्फिन मारने वाले मछुआरों की गिरफ्तारी का दिया आदेश
  • पंजाब में निजी मैडीकल कॉलेजों में भी खिलाड़ियों, दंगा पीड़ितों को आरक्षण का फैसला
  • पत्रकारों के प्रवेश पर रोक को लेकर वित्त मंत्रालय से जवाब तलब
  • बहराइच में बाघ ने बनाया एक व्यक्ति को अपना शिकार
  • मुख्यमंत्री ने लगाई फीस वृद्धि पर रोक, छात्रों को देनी होनी पुरानी फीस
  • पुलिस अवर निरीक्षक रिश्वत लेते गिरफ्तार
  • दो लाख से अधिक श्रद्धालु पवित्र शिवलिंग का कर चुके दर्शन
  • प्रोन्नति के लिये यूपीजेईए का ‘सत्याग्रह’ छठे दिन भी जारी
  • प्रदेश की तीनों विद्युत वितरण कंपनियों द्वारा किया गया रखरखाव : प्रियव्रत
  • वैष्णो देवी हेलिकॉप्टर सेवा तीसरे दिन स्थगित
  • अफगानिस्तान में तालिबानी आतंकवादियों के हमले में 35 सैनिक मारे गये
भारत


पूरे शहर में एलईडी लाइट लगायी हैं और लाइट बनाने का ठेका एक स्थानीय स्व सहायता समूह को दिया गया है। यह समूह आदिवासी महिलाओं का है जो मुंबई के भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान की मदद से सौर पैनल और एलईडी लाइट बनाता है। इस समूह ने हाल में एक करोड़ रुपये के निवेश से डूंगरपुर साेलर टेक्नोलोजी कंपनी लिमिटेड की स्थापना की है। इस समूह की प्रधानमंत्री ने सराहना की है और नगर परिषद ने एक रुपये प्रति वर्ष के किराये पर भवन उपलब्ध कराया है। शहर में बिजली आपूर्ति सुनिश्चित करने तथा सड़कों पर लाइट लगाने के लिये एक निजी कंपनी को जिम्मेदारी दी गयी है। सड़कों, गलियों और पार्कों की लाइट 24 घंटे से अधिक समय तक खराब रहने पर कंपनी से जुर्माना वसूला जाता है और इसकी सूचना देने वाले व्यक्ति को 25 रुपये प्रति सूचना का इनाम दिया जाता है।
शहर में शुद्ध पेयजल उपलब्ध कराने के लिये नगर परिषद ने जगह-जगह आर ओ प्वाइंट स्थापित किये। इनमें से कोई भी व्यक्ति महज पांच रुपये में 20 लीटर पानी ले सकता है। इससे लोगों के जीवन में सकारात्मक बदलाव अाया और लोग अपने स्वास्थ्य के प्रति जागरुक हुए हैं। डूंगरपुर रेडियाे की एफएम फ्रीक्वेंसी से बहुत दूर है इसलिए शहर में एक आॅडियो सिस्टम स्थापित किया गया है। स्कूलों, बस अड्डों, पार्कों, बाजारों और अन्य सार्वजनिक स्थलों पर स्पीकर लगाए गये हैं। इससे लोगों को स्वच्छता के प्रति जागरुक किया जाता है। नगर परिषद भी नागरिकों से इसके जरिये सीधा संवाद करती हैं।
श्री गुप्ता ने दावा किया कि शहर के स्वच्छ होने से मौसम जनित बीमारियों से प्रभावित होने वाले लोगों की संख्या में 60 प्रतिशत तक की कमी अायी है। इसके लिए उन्होंने नगर परिषद के अस्पताल के आंकड़े भी दिये।
सत्या, यामिनी
वार्ता
image