Sunday, Feb 17 2019 | Time 17:05 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • मादक पदार्थ विरोधी दस्ते ने पकड़ी लाखों की अफीम
  • तुर्की ने चार विदेशी संदिग्धों को हिरासत में लिया
  • मुरादाबाद- कश्मीरी छात्रों के बारे में छानबीन जारी
  • सरकारी चिकित्सा महाविद्यालयों में शिक्षकों के 153 पद भरने के लिए मंत्रिमंडल की स्वीकृति
  • शाह सोमवार को जयपुर आयेंगे
  • संजय तोमर और श्री सीमा बने ‘मैक्स लाइफ इंश्योरेंस - द रन’ के चैंपियन
  • पुल की रेलिंग तोड़ गहरे नाले में गिरी बस, तीन की मौत पचास घायल
  • पुलवामा हमले के दोषियों को बख्शा नहीं जायेगा: नकवी
  • सुरक्षा हमारे लिए कोई मसला नहीं : मीरवाइज
  • पंजाब कांग्रेस भवन में पुलवामा के शहीदों को दी गई श्रद्धांजलि
  • विश्वेन्द्र ने शहीद के परिजनों को बंधाया ढांढस
  • नारायणस्वामी का धरना पांचवे दिन भी जारी रहा
  • देवरिया में शहीद विजय के घर कल जायेंगे योगी
  • फोटो कैप्शन-पहला सेट
  • मोदी ने ईमानदारी से चलायी है पांच साल सरकार: नकवी
भारत Share

सीवर में मौत पर दिल्ली सरकार को नोटिस

नयी दिल्ली 10 सितम्बर (वार्ता) राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग ने पश्चिमी दिल्ली के मोती नगर में सीवर की सफाई करते समय जहरीली गैस से चार लागों की मौत के मामले में दिल्ली के मुख्य सचिव को नोटिस जारी किया है।
आयोग ने इससे संबंधित मीडिया रिपोर्टों का संज्ञान लेते हुए दिल्ली के मुख्य सचिव और पुलिस आयुक्त को नोटिस जारी करके चार सप्ताह में रिपोर्ट देने को कहा है। आयोग ने यह बताने को भी कहा है कि इस मामले में संबंधित अधिकारियों के खिलाफ क्या कार्रवाई की गयी है और मृतकों के परिजनों को क्या सहायता दी गयी है।
आयोग ने कहा है कि उसने वर्ष 2000 में इसी तरह के मामले का संज्ञान लेने तथा संबंधित विभागों के साथ विचार विमर्श के बाद सीवर प्रणाली के संचालन तथा रख-रखाव के बारे में सुरक्षा संहिता और दिशानिर्देशों को अंतिम रूप दिया था। सभी संबंधित एजेन्सियों के लिए इनका पालन करना जरूरी है। आयोग समय-समय पर इस बात पर जोर देता रहा है कि अधिकारी कर्मचारियों को सुरक्षित उपकरण तथा साजो -सामान उपलब्ध कराएं। इन दिशानिर्देशों का पालन नहीं किये जाने से निर्दोष लोगों की जान जा रही है।
मीडिया रिपोर्टों के अनुसार मोती नगर के डीएलएफ कैपिटल ग्रीन्स अपार्टमेंट में पांच कर्मचारी नौ अगस्त को सीवर साफ करने गये थे। इनमें से दो सरफराज और पंकज बिना सुरक्षित साजो-सामान के सीवर टैंक में उतर गये और बेहोश हो गये। इसके बाद राजा और उमेश को इनका पता लगाने के लिए अंदर भेजा गया लेकिन वे भी बेहोश हो गये। इसके बाद विशाल को अंदर भेजा गया और जहरीली गैस का पता चलते ही उसने मदद के लिए आवाज लगायी।
आयोग ने मीडिया रिपोर्ट के हवाले से कहा है कि अग्नि शमन विभाग को हादसे की जानकारी दी गयी। फायर टेंडरों के पहुंचने से पहले लोगों ने दो कर्मचारियों को निकाल लिया था। बाद में पांचों को अस्पताल ले जाया गया जहां चार को मृत घोषित कर दिया गया। पांचवें कर्मचारी को उपचार के लिए राम मनोहर लोहिया अस्पताल लाया गया।
मीडिया रिपोर्ट में कहा गया है कि कर्मचारियों को किसी तरह के सुरक्षा उपकरण नहीं मुहैया कराये गये थे और वे कपड़े से अपना मुंह ढक कर रखते थे। इन कर्मचारियों को लाने वाला ठेकेदार फरार है।
संजीव अाशा
वार्ता
More News
पुलवामा पर सीआरपीएफ ने किया आगाह

पुलवामा पर सीआरपीएफ ने किया आगाह

17 Feb 2019 | 4:19 PM

नयी दिल्ली, 17 फरवरी (वार्ता) केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) ने पुलवामा आतंकवादी हमले को लेकर सोशल मीडिया में चल रही फर्जी तस्वीरों और पोस्टों को साझा नहीं करने का अाग्रह किया है और कहा है कि कश्मीरी छात्रों को प्रताड़ित करने की खबरें गलत हैं।

 Sharesee more..
‘वंदे भारत एक्सप्रेस’ पहली वाणिज्यिक यात्रा पर वाराणसी के लिए रवाना

‘वंदे भारत एक्सप्रेस’ पहली वाणिज्यिक यात्रा पर वाराणसी के लिए रवाना

17 Feb 2019 | 3:44 PM

नयी दिल्ली, 17 फरवरी (वार्ता) देश की पहली सेमी-हाईस्पीड ट्रेन ‘ वंदे भारत एक्सप्रेस’ रविवार को अपनी पहली वाणिज्यिक यात्रा पर नयी दिल्ली से वाराणसी के लिए रवाना हुई।

 Sharesee more..

मुस्लिम फ्रंट ने की पुलवामा हमले की पुरजोर निंदा

17 Feb 2019 | 3:10 PM

नयी दिल्ली, 17 फरवरी (वार्ता) आल इंडिया मुस्लिम फ्रंट और गैर सरकारी संगठन रियल काॅज ने पुलवामा हमले की पुरजोर निंदा करते हुए कहा कि इस्लाम में आतंकवाद का कोई स्थान नही हैं।

 Sharesee more..
image