Friday, Aug 23 2019 | Time 08:35 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • आज का इतिहास (प्रकाशनार्थ 24 अगस्त)
  • मोदी-मेक्रों ने सीमा पार आतंकवाद को रोकने का अनुरोध किया
  • ट्रम्प ने जी-7 सम्मिट में आर्थिक मुद्दे पर बातचीत का अनुरोध किया
  • नाइजीरिया में सड़क हादसे में 17 की मौत
  • कश्मीर मामले पर तीसरे पक्ष को नहीं करनी चाहिए दखलंदाजी : मैक्रों
  • योगी कैबिनेट विस्तार के बाद मंत्रियों को उनका विभाग बांट दिया गया
  • सीमा पार आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में फ्रांस ने हमेशा साथ दिया : मोदी
  • पूर्वी कालिमैनटन में होगी इंडोनेशिया की नयी राजधानी
  • सिंधू-प्रणीत क्वार्टरफाइनल में, सायना,श्रीकांत और प्रणय हारे
  • योगी कैबिनेट विस्तार के बाद मंत्रियों को उनका विभाग बांट दिया गया
  • जोफ्रा के कहर से ऑस्ट्रेलिया 179 पर ढेर
  • पोलैंड में आकाशीय बिजली गिरने से 5 की मौत, कई घायल
  • तुषार वेलापल्ली जमानत पर रिहा
भारत


ईपीएस-95 पेंशनधारकों ने दिया देशभर में धरना

नयी दिल्ली 12 सितंबर (वार्ता) कर्मचारी पेंशन योजना 1995 -ईपीएस के पेंशनधारकों ने कम से कम 7,500 रुपये मासिक पेंशन और अंतरिम राहत के रूप में 5000 रुपये महंगाई भत्ते की मांग को लेकर बुधवार को देशभर में सेंट्रल बोर्ड ऑफ ट्रस्टीज (सीबीटी) में कामगारों के प्रतिनिधियों के घरों और कार्यालयों के सामने धरना दिया।
निवृत्त कर्मचारी समन्वय एवं लोक कल्याण संस्था ने आज यहां बताया कि सेंट्रल बोर्ड ऑफ ट्रस्टीज में 44 सदस्य हैं, जिनमें 10 कामगारों के प्रतिनिधि हैं। ईपीएस पेंशनधारकों ने बुधवार को इन्हीं कामगारों के प्रतिनिधियों के घरों के बाहर धरना दिया और उनसे सरकारी अधिकारियों के समक्ष अपनी मांग को उठाने की बात कही।
ईपीएफ राष्ट्रीय संघर्ष समिति के राष्ट्रीय अध्यक्ष कमांडर अशोक राउत ने कहा कि अगर प्रतिनिधि सीबीटी के सदस्य होकर कर्मचारियों की आवाज नहीं उठा सकते तो उनको इसमें रहने का कोई अधिकार नहीं है। देश भर में कामगारों के प्रतिनिधि माने जाने वाले 10 सीबीटी के सदस्यों के घर हैदराबाद, नयी दिल्ली, विशाखापटनम, जलगांव (महाराष्ट्र), लखनऊ, चंडीगढ़ और कोलकाता में हैं। सीबीटी के जिन सदस्यों के घर और कार्यालय के सामने धरना दिया, उनमें सर्वश्री जी. संजीवा रेड्डी, वृजेश उपाध्याय, एम. जगदीश्वर राव, प्रभाकर जी. बाणासुरे, अशोक सिंह, एडी नागपाल, ए. के. पदमनाभन, शंकर साहा और रमन पांडे शामिल है।
श्री राउत का कहना है कि केंद्र के पास पेंशन कोष में चार लाख करोड़ रुपए से अधिक राशि जमा हैं, जिस पर सरकार ब्याज कमा रही है, लेकिन कर्मचारियों को उनका हक नहीं मिल रहा है। ईपीएस-95 में हर महीने इसके सदस्यों को कम से कम 200 से एक हजार रुपये पेंशन मिलती है। इसमें 60 लाख पेंशनधारक है, जिनमें से करीब 40 लाख सदस्यों को हर महीने 1500 रुपये से कम पेंशन मिल रही है और अन्य कर्मचारियों को दो हजार रुपये से ढाई हजार रुपये मासिक पेंशन मिल रही है।
सत्या आशा
वार्ता
More News
मनु की डायरियों से राष्ट्रपिता के जीवन और कर्मो को समझने में मदद मिलेगी: पटेल

मनु की डायरियों से राष्ट्रपिता के जीवन और कर्मो को समझने में मदद मिलेगी: पटेल

22 Aug 2019 | 11:09 PM

नयी दिल्ली 22 अगस्त (वार्ता) केंद्रीय संस्कृति मंत्री प्रह्लाद पटेल ने कहा है कि श्रीमती मनु गांधी की डायरियों से राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के जीवन और कर्मों को समझने में मदद मिलेगी और आजादी के इतिहास पर नई रौशनी पड़ेगी ।

see more..
सरकार सस्‍ती दर पर स्‍वच्‍छ और हरित ऊर्जा प्रदान करने के लिए प्रतिबद्ध: जावड़ेकर

सरकार सस्‍ती दर पर स्‍वच्‍छ और हरित ऊर्जा प्रदान करने के लिए प्रतिबद्ध: जावड़ेकर

22 Aug 2019 | 11:09 PM

नयी दिल्ली, 22 अगस्त (वार्ता) केन्द्रीय पर्यावरण,वन और जलवायु परिवर्तन मंत्री प्रकाश जावड़केर ने कहा है कि सरकार नवीकरणीय ऊर्जा संसाधनों का दोहन करके ऊर्जा की अधिकतम जरूरत को पूरा करना चाहती है ताकि एक निश्चित समय पर स्‍व्‍च्‍छ ऊर्जा के लक्ष्‍य को हासिल किया जा सके और इसके लिए विभिन्‍न नीतियों और नियमों में लगातार सुधार किया जा रहा है।’

see more..
image