Sunday, May 26 2019 | Time 04:57 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • मतदाताओं और कार्यकर्ता का धन्यवाद करने वायनाड जायेंगे राहुल
  • जगनमोहन शपथग्रहण से पहले मोदी से मिलेंगे
भारत


लोकपाल चयन समिति की बैठक में शामिल नहीं हुये खडगे

लोकपाल चयन समिति की बैठक में शामिल नहीं हुये खडगे

नयी दिल्ली, 15 मार्च (वार्ता) कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मल्लिकार्जुन खडगे ने लोकपाल की चयन समिति की शुक्रवार की बैठक में “विशेष आमंत्रित” सदस्य के रूप में हिस्सा लेने से यह कहते हुये इनकार कर दिया कि सरकार विपक्ष की आवाज दबाना चाहती है।

लोकपाल कानून के अनुसार चयन समिति में प्रधानमंत्री, लोकसभा अध्यक्ष, लोकसभा में विपक्ष के नेता तथा उच्चतम न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश शामिल हैं। लोकसभा में किसी को भी विपक्ष के नेता का दर्जा हासिल नहीं है। श्री खडगे सबसे बड़े विपक्षी दल के नेता हैं इसलिए उन्हें बैठक में विशेष आमंत्रित सदस्य के तौर पर बुलाया जाता है। वह पहले भी स्पष्ट कर चुके हैं कि इस कानून में संशोधन कर लोकसभा में विपक्ष के नेता की जगह सबसे बड़े विपक्षी दल के नेता को चयन समिति में सदस्य रखने का प्रावधान किया जाना चाहिए और पहले भी वह कई बार बैठक में शामिल नहीं हुए।

श्री खडगे ने अपनी नाराजगी जाहिर करते हुये प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को आज एक पत्र लिखा। इसमें उन्होंने लिखा है “विशेष आमंत्रित ” सदस्य को लोकपाल की चयन प्रक्रिया में मतदान में हिस्सा लेने का कोई अधिकार नहीं होगा और इसलिए मैं पूरी सोची-समझी रणनीति के तहत विपक्ष की आवाज दबाना स्वीकार नहीं कर सकता।”

उन्होंने आरोप लगाया है कि सरकार ने ‘नेता प्रतिपक्ष’ की जगह ‘सबसे बड़े विपक्षी दल के नेता’ को चयन समिति में शामिल करने के लिए लोकपाल अधिनियम के प्रावधानों में संशोधन के लिए वर्ष 2014 से अब तक कोई कोशिश नहीं की।

पिछले साल 28 फरवरी से यह सातवाँ मौका है जब श्री खगडे ने लोकपाल चयन समिति की बैठक में शामिल होने से इनकार किया है।

कांग्रेस नेता ने कहा कि उनके शामिल हुये बिना ही लोकपाल चयन समिति की सभी बैठकें तय समय पर हुई हैं और खोज समिति का गठन कर नामों का आरंभिक चयन भी कर लिया गया है। इससे स्पष्ट है कि सरकार की मंशा इस महत्त्वपूर्ण प्रक्रिया से विपक्ष को अलग-थलग रखने की रही है।

उन्होंने कहा कि लोकपाल अधिनियम, 2013 के खंड चार में चयन समिति की बैठक में विशेष आमंत्रित सदस्य को बुलाने का कोई प्रावधान नहीं है और इसलिए वह एक बार फिर इस आमंत्रण को शिष्टतापूर्वक अस्वीकार करने के लिए बाध्य हैं।

उच्चतम न्यायालय की पूर्व न्यायाधीश रंजना प्रकाश देसाई की अध्यक्षता वाली लोकपाल खोज समिति ने लोकपाल के अध्यक्ष, न्यायिक सदस्य और गैर-न्यायिक सदस्यों के लिए तीन पैनलों के नाम भेजे हैं।

अजीत संजीव

वार्ता

More News
छपास एवं दिखास के नशे से बचें सांसद : मोदी

छपास एवं दिखास के नशे से बचें सांसद : मोदी

25 May 2019 | 11:25 PM

नयी दिल्ली 25 मई (वार्ता) प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने नये एवं पुराने सांसदों को आज आगाह किया कि वे बड़बोलेपन और मीडिया के माेह से बचें अन्यथा खुद उनके साथ सरकार को भी संकट पेश आ सकता है।

see more..
मोदी ने पेश किया दावा, कोविंद ने दिया सरकार बनाने का न्योता

मोदी ने पेश किया दावा, कोविंद ने दिया सरकार बनाने का न्योता

25 May 2019 | 10:57 PM

नयी दिल्ली, 25 मई (वार्ता) राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) के नेता श्री नरेन्द्र मोदी ने शनिवार रात को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से भेंट कर नयी सरकार बनाने का दावा पेश किया, जिसके बाद राष्ट्रपति ने उन्हें नयी सरकार बनाने के लिए आमंत्रित किया।

see more..
1857 की भावना से अल्पसंख्यकों के उत्थान करेेंगे मोदी

1857 की भावना से अल्पसंख्यकों के उत्थान करेेंगे मोदी

25 May 2019 | 10:50 PM

नयी दिल्ली 25 मई (वार्ता) प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज संकेत दिया कि देश अगले पांच साल के उनके राजनीतिक एजेंडे में अल्पसंख्यकों को भयभीत करके उनके वोट दोहन करने वाली राजनीति को समाप्त करने तथा उनका विश्वास जीत कर 1857 के प्रथम स्वतंत्रता संग्राम की उस भावना को जीवित करने का काम करेंगे जिससे हिन्दू मुसलमान कंधे से कंधा मिला कर गुलामी के विरुद्ध संघर्ष कर रहे थे।

see more..
मोदी को सरकार बनाने का राष्ट्रपति का आमंत्रण

मोदी को सरकार बनाने का राष्ट्रपति का आमंत्रण

25 May 2019 | 10:13 PM

नयी दिल्ली, 25 मई (वार्ता) राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) के नेता श्री नरेन्द्र मोदी ने शनिवार रात को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से भेंट कर नयी सरकार बनाने का दावा पेश किया, जिसके बाद राष्ट्रपति ने उन्हें प्रधानमंत्री मनोनीत किया और सरकार बनाने के लिए आमंत्रित किया।

see more..
image