Saturday, Apr 20 2024 | Time 12:30 Hrs(IST)
image
राज्य » पंजाब / हरियाणा / हिमाचल


हिमाचल में विक्रमादित्य ने मंत्री पद से दिया इस्तीफा, बगावती तेवर बरकरार

शिमला, 28 फरवरी (वार्ता) राज्यसभा चुनाव के नाटकीय घटनाक्रम के बाद अब हिमाचल की राजनीति में एक बड़ा मोड़ आया है और सुक्खू सरकार के लोक निर्माण विभाग मंत्री एवं दिवंगत मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह के पुत्र विक्रमादित्य सिंह ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है।
श्री सिंह ने संवादताता में इस्तीफे का ऐलान कर सबको चौंका दिया। उन्होंने बताया कि वर्तमान परिस्थितियों को देखते हुए उन्होंने यह निर्णय लिया है। उन्होंने कहा कि पार्टी में जिस तरह के हालात बने हुए हैं उसे देखते हुए यह निर्णय लिया है, उनका पद पर बना रहना सही नहीं है। लिहाजा पद से इस्तीफा देने का निर्णय लिया है।
श्री ने बताया कि सरकार में विधायकों की अनदेखी हुई है। उन्होंने भावुक होते हुए कहा कि छह मर्तबा के मुख्यमंत्री स्वर्गीय वीरभद्र सिंह की प्रतिमा के लिए माल रोड पर दो गज भूमि नहीं मिली, ऐसी सरकार में उनका बना रहना शायद सही नहीं है। उन्होंने कहा कि पद और कार्यों को बखूबी निभाया है। नेतृत्व परिवर्तन के सवाल पर उन्होंने कहा कि यह पार्टी आलाकमान तय करेगा कि परिवर्तन होना है या नहीं। लेकिन वह पद से इस्तीफा दे रहे हैं।
उन्होंने कहा कि वह केवल पद से इस्तीफा दे रही है,पार्टी में बने रहेंगे। कांग्रेस के छह विधायकों की क्रॉस वोटिंग के बाद हिमाचल की राजनीति में खासी उथल पुथल चल रही है। बुधवार सुबह भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने राज्यपाल से मिलकर मत विभाजन की मांग की थी। वहीं, बागी विधायक वापस लौट आये,लेकिन घटनाक्रम में उस समय नया मोड़ आ गया था, जब बागी विधायकों ने मुख्यमंत्री को बदलने की मांग की।
सं. संतोष
वार्ता
image