Monday, May 27 2024 | Time 11:11 Hrs(IST)
image
राज्य » पंजाब / हरियाणा / हिमाचल


पंजाब के सभी पोलिंग बूथों पर होगी शत-प्रतिशत वैबकाॅस्टिंगः सिबिन सी

चंडीगढ़, 26 मार्च (वार्ता) पंजाब के मुख्य निर्वाचन अधिकारी सिबिन सी ने मंगलवार को बताया कि लोकसभा चुनाव प्रक्रिया को स्वतंत्र और पारदर्शी ढंग के साथ पूरा करने के लिए राज्य के सभी 24,433 पोलिंग स्टेशनों की शत-प्रतिशत वैबकास्टिंग के द्वारा निगरानी की जायेगी।
मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि आगामी लोक सभा मतदान के लिए सभी 24,433 पोलिंग बूथों के अंदर सीसीटीवी से निगरानी की जाएगी। इसके अलावा सभी 13 लोकसभा क्षेत्रों में जहाँ तीन या इससे अधिक पोलिंग स्टेशन हैं, इसके अलावा 1884 पोलिंग स्टेशनों के बाहर भी कैमरे लगाए जाएंगे।
श्री सिबिन ने कहा कि इस बार मतदान को और सुचारू ढंग से पूरा करने के लिए नवीन ज़िला सूचना प्रणाली ( डी. आई. एस. ई.) को शामिल किया गया है। इसका प्रयोग मतदान के सभी पहलूओं का प्रबंधन करने, पोलिंग स्टाफ का डाटा इकट्ठा करने से लेकर रिहर्सलों की समय- सारणी तक, पोलिंग स्टाफ की यादृच्छिकीकरण (रैंडमाईजेशन) और गिनती करने के लिए किया जायेगा। मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने कहा कि इस आधुनिकीकरण का उद्देश्य मतदान को और ज्यादा कुशल, पारदर्शी और सुरक्षित बनाना है।
मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने कहा कि इस वैब एप्लीकेशन का प्रयोग एपीआईज़/ सीएसवी/ एक्सल फाइलों के प्रयोग के द्वारा अतिरिक्त एप्लीकेशनों से उपलब्ध कर्मचारी डाटा को इकट्ठा करने के लिए किया जाता है। इससे अतिरिक्त स्टाफ की तैनाती करके शुरुआती पड़ाव के बाद स्टाफ की कमी के उचित प्रबंधन में भी सहायता मिलेगी।
एक अन्य पहलकदमी के बारे बताते हुये मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने कहा कि उडन दस्ते (फ्लाइंग स्क्वाड) वाहनों (एफएसवी) से लाइव स्ट्रीमिंग के द्वारा और स्टैटिक सर्विलेंस टीमें चुनाव प्रक्रिया के दौरान आदर्श चुनाव आचार संहिता के उल्लंघन की चौकसी से निगरानी कर रही हैं। चुनाव सम्बन्धी गतिविधियों की कुशलता को बढ़ाने के लिए पोलिंग पार्टियों को तैनात करने और वोटिंग जानकारी को अपडेट करने के लिए इस्तेमाल की जाती पोल गतिविधि प्रबंधन प्रणाली (पीएऐमऐस) में संशोधन किया गया है। यह मोबाइल एप रियल टाइम डाटा प्रदान करेगा।
मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने कहा कि भारत निर्वाचन आयोग की और नयी पहलकदमियों सहित वोटर हेल्पलाइन एप नागरिकों को वोटर सूची में अपने नाम ढूँढने, ऑनलाइन फार्म जमा कराने, अपनी डिजिटल फोटो वोटर स्लिप डाउनलोड करने, शिकायतें दर्ज करने और उन शिकायतों के अपने मोबाइल पर जवाब प्राप्त करने की सुविधा प्रदान करती है। इसी तरह एक अन्य महत्वपूर्ण पहलकदमी के रूप में एक मोबाइल एप्लीकेशन - ‘नौ योर केंडिडेट’ है, जो वोटरों को किसी भी उम्मीदवार के विवरण और आपराधिक पृष्टभूमि के बारे जानकारी हासिल करने की सुविधा देती है। इस ऐप का उद्देश्य पारदर्शी मतदान को यकीनी बनाने के लिए चुनाव लड़ रहे उम्मीदवारों के आपराधिक पृष्टभूमि के बारे व्यापक प्रचार और अधिक से अधिक जागरूकता प्रदान करना है। यह गुग्गल प्ले स्टोर और एपल ऐप स्टोर से डाउनलोड किया जा सकता है।
ठाकुर, उप्रेती
वार्ता
image