Monday, May 27 2024 | Time 12:08 Hrs(IST)
image
राज्य » पंजाब / हरियाणा / हिमाचल


अमृतसर हवाई अड्डे पर विदेशी यात्रियों की संख्या में 35.9 प्रतिशत की वृद्धि

अमृतसर 26 मार्च (वार्ता) पंजाब के अमृतसर स्थित सबसे बड़े श्री गुरु रामदास जी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा पर फरवरी 2023 की तुलना में फरवरी 2024 में अंतरराष्ट्रीय यात्री यातायात में 35.9 प्रतिशत की उल्लेखनीय वृद्धि के साथ देश के सभी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डों में दूसरे स्थान पर रहा। नागपुर हवाई अड्डे पर 9,207 यात्रियों के साथ 38.4 प्रतिशत की उच्चतम वृद्धि दर्ज की गई।
भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण द्वारा हाल ही में जारी आंकड़ों का हवाला देते हुए फ्लाई अमृतसर इनिशिएटिव के वैश्विक संयोजक और अमृतसर विकास मंच के प्रवासी सचिव समीप सिंह गुमटाला ने मंगलवार को कहा कि फरवरी में अंतरराष्ट्रीय यात्रियों की कुल संख्या 94,625 तक पहुंच गई, जबकि पिछले साल फरवरी 2023 में यह संख्या 69,634 थी। यह फरवरी महीने में अब तक की सबसे अधिक संख्या है और हवाई अड्डे के इतिहास में किसी भी महीने में तीसरी सबसे अधिक संख्या है। अंतरराष्ट्रीय यात्रियों की सबसे अधिक संख्या दिसंबर 2023 में 1,06,813 दर्ज की गई और जनवरी 2024 में दूसरी सबसे अधिक 96,924 दर्ज की गई।
श्री गुमटाला ने कहा कि पिछले साल अप्रैल से लगातार नई उड़ानें शुरू होने से अंतरराष्ट्रीय यातायात में वृद्धि संभव हुई है। इसमें कुआलालंपुर, मिलान, रोम, लंदन और बर्मिंघम की उड़ानें शामिल हैं। नतीजतन, फरवरी 2024 में अंतरराष्ट्रीय हवाई यातायात 474 दर्ज किया गया, जो पिछले साल 402 था। यह भी उल्लेखनीय है कि अधिक संख्या में पंजाबी अब दिल्ली के बजाय अमृतसर से सीधी अंतरराष्ट्रीय उड़ानें पसंद कर रहे हैं।
श्री गुमटाला ने इन आंकड़ों पर खुशी जाहिर करते हुए कहा कि अंतरराष्ट्रीय ट्रैफिक में बढ़ोतरी के साथ-साथ घरेलू ट्रैफिक में भी 13.6 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है। फरवरी 2023 में 1,68,076 की तुलना में इस साल घरेलू यात्रियों की संख्या बढ़कर 1,90,866 हो गई। कई देशों के लिए सीधी अंतरराष्ट्रीय उड़ानें न होने के कारण लाखों पंजाबी आज भी दिल्ली के रास्ते पंजाब आने को मजबूर हैं। उन्होंने कहा कि सांख्यिकीय विश्लेषण से यह भी पता चलता है कि हालांकि फरवरी 2024 में घरेलू विमान यातायात 1268 था जो कि पिछले वर्ष की तुलना में केवल 0.4 प्रतिशत अधिक था, यात्री यातायात में लगभग 23,000 यात्रियों की वृद्धि हुई। इसका मुख्य कारण फरवरी महीने के दौरान किसानों का विरोध प्रदर्शन था, जिससे हरियाणा के रास्ते दिल्ली जाने वाला सड़क यातायात बाधित हो रहा था। नतीजा ये हुआ कि दिल्ली-अमृतसर रूट पर हवाई किराया भी कई गुना बढ़ गया और कई दिनों तक एयरपोर्ट पर ज्यादा भीड़ भी देखने को मिली।
पंजाबियों के लिए यह गर्व की बात है कि दिसंबर 2023 में सबसे अधिक 3,38,512 यात्रियों के नए रिकॉर्ड के बाद, अब फरवरी के महीना में कुल 2,85,491 यात्रियों के साथ हवाई अड्डे के इतिहास में यह दूसरा सबसे अधिक अंतरराष्ट्रीय और घरेलू यात्रियों का रिकॉर्ड है।
श्री गुमटाला ने पंजाब सरकार द्वारा अमृतसर हवाई अड्डे की उपेक्षा पर निराशा व्यक्त की है, जबकि हवाई अड्डे पर अब प्रतिदिन 10,000 से अधिक यात्री यात्रा करते हैं। उन्होंने कहा कि लंबे समय से सरकार के ध्यान में लाने और कई अनुरोध करने के बावजूद, पंजाब का यह हवाई अड्डा राज्य के अन्य शहरों के साथ सार्वजनिक परिवहन के लिए बस कनेक्टिविटी से वंचित है। राज्य सरकार यहां से बस सेवा शुरू करने के बजाय पंजाब के विभिन्न शहरों से दिल्ली हवाई अड्डे तक बस कनेक्टिविटी को लगातार बढ़ावा दे रही है और बढ़ा रही हैं।
अमृतसर में वर्तमान में लंदन, बर्मिंघम, दोहा, दुबई, शारजाह, मिलान, रोम, सिंगापुर, कुआलालंपुर, दिल्ली, मुंबई, अहमदाबाद, श्रीनगर, बैंगलोर, हैदराबाद, लखनऊ, कोलकाता, शिमला, कुल्लू, पुणे सहित नौ अंतरराष्ट्रीय और 11 घरेलू हवाई अड्डों के लिए सीधी उड़ानें हैं।
ठाकुर.संजय
वार्ता
image