Thursday, May 23 2024 | Time 20:52 Hrs(IST)
image
राज्य » राजस्थान


भाजपा 400 पार नहीं तड़ीपार होगी: धारीवाल

कोटा, 20 अप्रैल (वार्ता) राजस्थान के पूर्व मंत्री शांति धारीवाल ने लोकसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के अब की बार चार सौ पार के दावे को खारिज करते हुये शनिवार को दावा किया जनता इस बार भाजपा को तड़ीपार करेगी।
श्री धारीवाल यहां कोटा-बूंदी संसदीय सीट से कांग्रेस के प्रत्याशी प्रह्लाद गुंजल के समर्थन में संवाद कार्यक्रम को संबोधित करते हुये भाजपा प्रत्याशी ओम बिरला पर तीखा हमला करते हुये कहा कि वह पिछले 10 सालों में इस क्षेत्र के सांसद के रूप में और पिछले पांच साल में लोकसभा अध्यक्ष जैसे महत्वपूर्ण पद पर आसीन रहते हुये क्षेत्र में काम के रूप में अपनी उपलब्धि तक बता पाने में विफल साबित हुये हैं, बल्कि जनता के बीच शर्मसार होने से बचने के लिये कांग्रेस के कार्यकाल में हुये विकास कार्यों और योजनाओं को अपनी उपलब्धि के रूप में गिनाने की कोशिश कर रहे हैं।
श्री धारीवाल ने उदाहरण देते हुये बताया कि श्री बिरला कह रहे हैं कि नोनेरा बांध एवं बूंदी
में मेडिकल कॉलेज उन्होंने बनवाया है, जबकि यह कांग्रेस के सरकार में बनना शुरू हुये हैं। यह भी उन्होंने अपने खाते में लिख लिया है कि नोनेरा बांध से गांव में पानी जरूर जायेगा।
श्री बिरला दावा करते हैं कि सात तालाबों का जीर्णोद्धार करवाया है, लेकिन एक भी तालाब का कायाकल्प करवाया हो तो उसका नाम बतायें। ट्रिपल आईटी की घोषणा कांग्रेस के शासन में हुई, लेकिन श्री बिरला इसे अपनी उपलब्धि बता रहे हैं।
उन्होंने कहा कि श्री बिरला तो यह बतायें कि केंद्र सरकार के जरिये उन्होंने क्या-क्या काम करवाये हैं, जबकि वह पांच साल शीर्ष लोकतान्त्रिक संस्था लोकसभा के अध्यक्ष रह चुके हैं। जयपुर, बीकानेर, उदयपुर और अजमेर में कई केंद्रीय संस्थायें हैं, लेकिन कोटा में कुछ नहीं है। एक भी केंद्र सरकार के द्वारा किया गया ऑफिस और संस्थान यहां नहीं है। कांग्रेस के शासन में उन्होंने भारतीय प्रबंधन संस्थान के लिये केंद्र सरकार को पत्र लिखा, लेकिन कुछ नहीं हुआ।
श्री धारीवाल ने कांग्रेस कार्यकर्ताओं से कहा कि अच्छी मेहनत की तो कोटा-बूंदी संसदीय क्षेत्र में इस तरह के समीकरण बन रहा है कि निश्चित तौर पर कांग्रेस के प्रत्याशी की जीत होगी। भाजपा को हारने से बचाने वाला कोई नहीं है।
उल्लेखनीय है कि कोटा की राजनीति में हाडोती के सबसे अधिक प्रभावशाली नेता और
पूर्व कैबिनेट मंत्री शांति धारीवाल और कांग्रेस प्रत्याशी प्रह्लाद गुंजल एक-दूसरे के कट्टर विरोधी रहे हैं। यहां तक कि कोटा (उत्तर) की महत्वपूर्ण विधानसभा सीट पर अब तक एक-दूसरे के खिलाफ कांग्रेस और भाजपा प्रत्याशी के रूप में चुनाव तक लड़ चुके हैं, जिसमें से एक बार बाजी श्री गुंजल के हाथ रही, लेकिन पिछले दो चुनावों में लगातार श्री धारीवाल ने जीत दर्ज की।
सं. रामसिंह.श्रवण
वार्ता
image