Monday, Oct 21 2019 | Time 22:55 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • मरे ने लगायी 116 स्थान की छलांग
  • दुनिया को रोशन करने की क्षमता वाला झारखंड अंधेरे में रह गया : रघुवर
  • एग्जिट पोल के नतीजे, राहुल पर भाजपा का कटाक्ष
  • ऑस्ट्रेलियाई अखबारों ने पहला पन्ना काले रंग में प्रकाशित कर दिखाई एकजुटता
  • हिमाचल उपचुनाव: पच्छाद में 72 85 प्रतिशत और धर्मशाला में 65 38 प्रतिशत हुआ मतदान
  • हिमाचल उपचुनाव: पच्छाद में 72 85 प्रतिशत और धर्मशाला में 65 38 प्रतिशत हुआ मतदान
  • गुजरात, दिल्ली, महाराष्ट्र जूनियर खो खो के क्वार्टर फाइनल में
  • नॉर्थईस्ट ने बेंगलुरू को अंक बांटने पर मजबूर किया
  • हरियाणा चुनाव-लीड मतदान समाप्त दो अंतिम चंडीगढ़
  • हरियाणा चुनाव-लीड मतदान समाप्त दो अंतिम चंडीगढ़
  • हरियाणा विस चुनाव में 65 प्रतिशत मतदान, उम्मीदवारों की किस्मत इवीएम में लॉक
  • हरियाणा विस चुनाव में 65 प्रतिशत मतदान, उम्मीदवारों की किस्मत इवीएम में लॉक
  • रेड्डी ने गुवाहाटी में बीएसएफ जवानों के साथ मनाई दिवाली
  • दुनिया का सबसे ऊंचा रणक्षेत्र सियाचिन पर्यटन के लिए खुला
  • आरे कॉलोनी मामले में अगली सुनवाई तक यथास्थिति बरकरार
खेल


चतुर्थ पेफी राष्ट्रीय पुरस्कार 25 सितम्बर को दिल्ली में

चतुर्थ पेफी राष्ट्रीय पुरस्कार 25 सितम्बर को दिल्ली में

नयी दिल्ली, 14 अगस्त (वार्ता) शारीरिक शिक्षा एवं खेलकूद के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने वाले शारीरिक शिक्षकों और खेलकूद के प्रशिक्षकों को सम्मानित करने के लिए चतुर्थ राष्ट्रीय पेफी पुरस्कार 25 सितंबर को दिल्ली के प्रगति मैदान में दिए जायेंगे।

पेफी नेशनल अवॉर्ड के ब्रोशर का अनावरण बुधवार को अहिंसा विश्व भारती के संस्थापक आचार्य लोकेश मुनि ने करते हुए कहा कि फिजिकल एजुकेशन फाउंडेशन ऑफ इंडिया (पेफी) द्वारा इस तरह का आयोजन एक सराहनीय प्रयास है। शारीरिक शिक्षक किसी भी स्कूल के सफल संचालन के लिए रीड की हड्डी की तरह काम करता है और इन शिक्षकों को सम्मानित करना एक बहुत ही परोपकार का काम है।

इस अवसर पर पेफी के राष्ट्रीय सचिव डॉ पीयूष जैन ने बताया कि देश में शारीरिक शिक्षकों और खेलकूद के प्रशिक्षकों को सम्मानित करने के लिए पेफी ने वर्ष 2016 में इस अवार्ड की स्थापना की थी तथा विगत लगातार 3 वर्षों से यह अवार्ड शारीरिक शिक्षा एवं खेलकूद के क्षेत्र में अच्छा काम करने वाले लोगों को दिया जा रहा है। इस वर्ष यह अवॉर्ड 25 सितंबर को प्रगति मैदान में आयोजित होने वाले आठवें स्पोर्ट्स इंडिया कार्यक्रम के साथ दिए जाएंगे।

चतुर्थ पेफी नेशनल अवॉर्ड के लिए पेफी ने पूरे देश भर से आवेदन आमंत्रित किए गए हैं जिसकी अंतिम तिथि 30 अगस्त है। यह अवार्ड शारीरिक शिक्षा के क्षेत्र के विशिष्ट शिक्षकों के नाम पर दिए जाते हैं जिसमें प्रमुख रूप से डॉ अजमेर सिंह अवॉर्ड, डॉ पी एम जोसफ अवॉर्ड, डॉ जी पी गौतम अवार्ड, डॉ एम रोबसन अवॉर्ड एवं कोमल एंड वी के पाहुजा अवार्ड शामिल हैं।

इस बार यह अवॉर्ड बेस्ट शारीरिक शिक्षक, बेस्ट कोच बेस्ट रिसर्चर, लाइफटाइम अचीवमेंट अवॉर्ड शारीरिक शिक्षा और खेलकूद के क्षेत्र में दिए जाएंगे। संस्थान श्रेणी में बेस्ट स्कूल, महाविद्यालय और विश्वविद्यालय को अवार्ड दिए जायेंगे।

पेफी नेशनल अवार्ड कमेटी के आयोजन सचिव डॉ चेतन कुमार ने बताया कि देश में शारीरिक शिक्षा और खेलकूद के क्षेत्र में फिजिकल एजुकेशन फाउंडेशन ऑफ इंडिया विगत 11 वर्षों से देश में शारीरिक शिक्षा और खेलकूद को बढ़ावा देने का कार्य कर रही है।

इस अवॉर्ड के चुनाव के लिए लक्ष्मीबाई राष्ट्रीय शारीरिक शिक्षा संस्थान के पूर्व निदेशक डॉक्टर ए के उप्पल की अध्यक्षता में एक कमेटी का गठन किया गया है जिसमें द्रोणाचार्य अवॉर्डी डॉ ए के बंसल, अर्जुन अवॉर्डी यशपाल सोलंकी, भारतीय विश्वविद्यालय संघ के पूर्व संयुक्त सचिव (खेल) डॉ गुरदीप सिंह, वार्ता के वरिष्ठ खेल पत्रकार राजेश राय, राम मनोहर लोहिया हॉस्पिटल के प्रोफेसर डॉक्टर शैलेश कुमार, दिल्ली यूनिवर्सिटी से डॉ मीरा सूद एवं मीनाक्षी पाहुजा और बिमटेक ग्रेटर नोएडा से डॉक्टर अवधेश कुमार श्रोतिय शामिल हैं।

 

More News
अबुधाबी ओपन रिगाटा में रितिका ने जीता स्वर्ण

अबुधाबी ओपन रिगाटा में रितिका ने जीता स्वर्ण

21 Oct 2019 | 10:35 PM

भोपाल, 21 अक्टूबर (वार्ता) अबुधाबी में 14 से 19 अक्टूबर तक खेली गई अबुधाबी ओपन रिगाटा चैम्पियनशिप में मप्र वाटर स्पोर्ट्स अकादमी की खिलाड़ी रितिका दांगी ने लैजर 4.7 इवेन्ट में देश को स्वर्ण पदक दिलाया जबकि बालक वर्ग में अकादमी के ही खिलाड़ी राम मिलन यादव ने कांस्य पदक जीता।

see more..
एमपी में 7 आदिवासी अंचल खेल परिसरों को मिलेंगी अंतर्राष्ट्रीय सुविधाएं

एमपी में 7 आदिवासी अंचल खेल परिसरों को मिलेंगी अंतर्राष्ट्रीय सुविधाएं

21 Oct 2019 | 10:20 PM

भोपाल, 21 अक्टूबर (वार्ता) मध्यप्रदेश में आदिवासी छात्र-छात्राओं की खेल प्रतिभा को विकसित करने के मकसद से आदिम-जाति कल्याण विभाग द्वारा 23 खेल परिसर संचालित किये जा रहे हैं। इनमें 17 बालक और 6 कन्या खेल परिसर हैं। ये खेल परिसर पूर्णत: आवासीय हैं। प्रत्येक खेल परिसर में 100 विद्यार्थियों के लिये सीट स्वीकृत हैं।

see more..
image