Friday, Nov 16 2018 | Time 17:51 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • स्टार्टअप में देशभर में बड़ा बदलाव लाने की क्षमता :प्रभु
  • कृषि क्षेत्र में नवाचार की सख्त जरुरत :प्रभु
  • स्टार्टअप में देशभर में बड़ा बदलाव लाने की क्षमता :प्रभु
  • कश्मीर में सीमावर्ती क्षेत्रों में तीन दिन बाद यातायात बहाल
  • कृषि क्षेत्र में नवाचार की सख्त जरुरत :प्रभु
  • विदेशी मुद्रा भंडार 12 करोड़ डॉलर घटा
  • ई सिगरेट पर केन्द्र का परामर्श राज्यों के लिए बाध्यकारी नहीं
  • मर्सिडीज बेंज की नयी कार लांच
  • सामाजिक कार्यकर्ता पर हमले का महिला समिति ने लिया संज्ञान
  • 15 करोड़ी क्लब में शामिल हुये रिषभ पंत
  • अनुबंधित कर्मियों ने किया आत्महत्या का प्रयास
  • पंजाब में आतंकवादियों की आशंका के कारण कड़े सुरक्षा प्रबंध
  • सीट बंटवारे को लेकर बिहार राजग में बढ़ रही तल्खी
  • आदिवासी जिलों में सबसे कम प्रत्याशी, सर्वाधिक रीवा में
  • सहारनपुर सड़क हादसे में बाइक सवार दम्पत्ति एवं पुत्री की मृत्यु
राज्य Share

राजस्थान में पहली ई लाइब्रेरी का अजमेर में लोकार्पण

अजमेर 05 सितम्बर (वार्ता) राजस्थान की पहली ई-लाइब्रेरी आज अजमेर के टाउनहॉल (गांधी भवन) में शुरु हो गई।
करीब तीस हजार से ज्यादा किताबों वाली इस ई-पुस्तकालय का लोकार्पण साहित्यकार पद्मश्री चंद्रप्रकाश देवल ने किया। इस अवसर पर शिक्षा मंत्री वासुदेव देवनानी ने कहा कि यह अजमेर ही नहीं प्रदेश के लिए उदाहरण है कि अजमेर नगर निगम ने ई-लाइब्रेरी का निर्माण कर एक उदाहरण पेश किया। उन्होंने महापौर धर्मेन्द्र गहलोत के प्रयास की सराहना करते हुए इसे शहरवासियों के लिए निगम की सौगात बताया।
इस मौके पर जिला कलेक्टर आरती डोगरा, महापौर धर्मेन्द्र गहलोत, निगम आयुक्त हिमांशु गुप्ता, दैनिक नवज्योति के प्रधान संपादक दीनबंधु चौधरी और लाइब्रेरी में सहयोग करने वाली निगम से एपीओ उपायुक्त ज्योति ककवानी मौजूद थी।
पुस्तकालय में सभी पुस्तकों को ई-कैटलॉगिंग किया गया है जिससे पुस्तकों की स्थिति एवं पुस्तक विशेष कहां रखी है इसकी जानकारी कंप्यूटर की जरिए मिल सकेगी। इसमें महापुरुषों की जीवनी, भारतीय इतिहास, अजमेर मेरवाड़ा के आजादी से पूर्व के गजट सहित सिंधि, उर्दू, राजस्थानी एवं संस्कृत भाषा की कई पुस्तक मौजूद है।
सं जोरा
वार्ता
image