Monday, Apr 22 2019 | Time 16:19 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • कच्चे तेल में उबाल से लुढ़का शेयर बाजार
  • तीसरे चरण में कड़ी सुरक्षा के बीच मंगलवार को होगा मतदान
  • ममता की हार तय: शाह
  • सुमित्रा-सुषमा नहीं दिखेंगी इस बार संसद में, 15 साल बाद दिग्विजय चुनावी मैदान में
  • बालाकोट स्ट्राइक का श्रेय लेकर क्या संदेश देना चाहते हैं मोदी:कैप्टन
  • राघव चड्ढा ने दक्षिण दिल्ली सीट से भरा पर्चा
  • एयर एशिया की 70 प्रतिशत तक छूट की पेशकश
  • अंतिम चरण के चुनाव के लिए अधिसूचना जारी
  • सेंसेक्स 495 अंक, निफ्टी 158 अंक लुढ़का
  • कमलनाथ के लोकसभा चुनाव को लेकर बयान पर शिवराज का ट्वीट
  • धोनी की बल्लेबाजी ने हमें डरा दिया था : विराट
  • धोनी की बल्लेबाजी ने हमें डरा दिया था : विराट
  • ‘चौकीदार’ को सजा मिलेगी: राहुल
  • बंगाल में सातवें चरण के चुनाव की अधिसूचना जारी
  • मनोज तिवारी ने भरा नामांकन पत्र, सपना चौधरी शामिल हुई रोड शो में
राज्य


राजस्थान में पहली ई लाइब्रेरी का अजमेर में लोकार्पण

अजमेर 05 सितम्बर (वार्ता) राजस्थान की पहली ई-लाइब्रेरी आज अजमेर के टाउनहॉल (गांधी भवन) में शुरु हो गई।
करीब तीस हजार से ज्यादा किताबों वाली इस ई-पुस्तकालय का लोकार्पण साहित्यकार पद्मश्री चंद्रप्रकाश देवल ने किया। इस अवसर पर शिक्षा मंत्री वासुदेव देवनानी ने कहा कि यह अजमेर ही नहीं प्रदेश के लिए उदाहरण है कि अजमेर नगर निगम ने ई-लाइब्रेरी का निर्माण कर एक उदाहरण पेश किया। उन्होंने महापौर धर्मेन्द्र गहलोत के प्रयास की सराहना करते हुए इसे शहरवासियों के लिए निगम की सौगात बताया।
इस मौके पर जिला कलेक्टर आरती डोगरा, महापौर धर्मेन्द्र गहलोत, निगम आयुक्त हिमांशु गुप्ता, दैनिक नवज्योति के प्रधान संपादक दीनबंधु चौधरी और लाइब्रेरी में सहयोग करने वाली निगम से एपीओ उपायुक्त ज्योति ककवानी मौजूद थी।
पुस्तकालय में सभी पुस्तकों को ई-कैटलॉगिंग किया गया है जिससे पुस्तकों की स्थिति एवं पुस्तक विशेष कहां रखी है इसकी जानकारी कंप्यूटर की जरिए मिल सकेगी। इसमें महापुरुषों की जीवनी, भारतीय इतिहास, अजमेर मेरवाड़ा के आजादी से पूर्व के गजट सहित सिंधि, उर्दू, राजस्थानी एवं संस्कृत भाषा की कई पुस्तक मौजूद है।
सं जोरा
वार्ता
image