Thursday, Sep 20 2018 | Time 12:51 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • स्कूल बस और कार की टक्कर में दोनों चालक घायल
  • बंद रहे शेयर और मुद्रा बाजार
  • कांग्रेस का आचरण लोकतंत्र के लिए शुभ नहीं : शिवराज
  • गुलशन कुमार का किरदार निभायेंगे आमिर खान
  • गुलशन कुमार का किरदार निभायेंगे आमिर खान
  • बत्ती गुल मीटर चालू की स्क्रिप्ट से बेहद प्रभावित हुये शाहिद कपूर
  • पाकिस्तान के साथ संबंध प्रगाढ़ : जिनपिंग
  • बत्ती गुल मीटर चालू की स्क्रिप्ट से बेहद प्रभावित हुये शाहिद कपूर
  • शरद ने सफाई कर्मचारियों की मौत पर उठाये सवाल
  • भारतीय सिनेमा जगत के युगपुरूष ताराचंद बड़जात्या
  • भारतीय सिनेमा जगत के युगपुरूष ताराचंद बड़जात्या
  • लघु बचत योजनाओं की ब्याज दरों में बढ़ोत्तरी
  • लघु बचत योजनाओं की ब्याज दरों में बढ़ोत्तरी
  • गोंडा में दो वाहनों की टक्कर चार मरे 12 घायल
  • दर्शकों के बीच खास पहचान बनायी करीना ने
राज्य Share

लोकायुक्त को सशक्त बनाया जायेगा - कटारिया

जयपुर ,7 सितम्बर (वार्ता) राजस्थान के गृहमंत्री गुलाब चंद कटारिया ने कहा कि राजस्थान में लोकायुक्त कानून को और सशक्त बनाया जायेगा ।
श्री कटारिया ने विधानसभा में शून्य काल के बाद कांग्रेस सदस्यों के शोर शराबे के बीच शुरू हुयी कार्यवाही में राजस्थान लोकायुक्त तथा उप लोकायुक्त (संशोधन ) विधेयक 2018 पर भाजपा विधायक घनश्याम तिवाडी के सवालों का जवाब दे रहे थे । उन्होंने कहा कि राजस्थान में लोकायुक्त कानून मजबूती से कार्य कर रहा है और इसके तहत सभी प्रकरणों में मजबूती से कार्रवाई की गयी है।
उन्होंने कहा कि लोकायुक्त का कार्यकाल आठ वर्ष करने का प्रावधान देश के अन्य राज्यों के कानून के अनुरूप ही किया गया है और उच्चतम न्यायालय ने भी विधान सभा में पारित कानूनों को सही माना है। उन्होंने कहा कि जरूरत के अनुसार लोकायुक्त कानूनों में परिवर्तन किया जाता है जो एक सतत प्रक्रिया है।
उन्होंने कहा कि लोकायुक्त ने प्रदेश में सशक्त कार्यवाही करते हुये 23978 दर्ज प्रकरणों में से 2375 प्रकरणों का निस्तारण किया है इसके अलावा खान घोटाले में चार जिलों के लंबित प्रकरणों को छोड़ कर सभी मामलों पर कार्यवाही की है।
निर्दलीय विधायक हनुमान बेनीवाल ने भी विधेयक पर विरोध करते हुये कहा कि वर्तमान लोकायुक्त कानून दंतविहीन है और इइसमें मुख्यमंत्री और मंत्रियों के खिलाफ जांच और कार्यवाही करने का प्रावधान रखा जाना चाहिये।
इससे पूर्व श्री तिवाडी ने अपनी आपत्ति जताते हुये कहा कि इस विधेयक को पारित करने से लोकायुक्त का सेवा काल आठ साल का प्रावधान रखना उचित नही है। उन्होंने कहा कि दंत विहीन यह संस्था सरकार पर बोझ है और इसे मध्य प्रदेश और कर्नाटक की तरह सशक्त बनाने की जरूरत है।
इससे पूर्व श्री तिवाडी द्वारा इस विघेयक के संबंध में रखे गये परिनियत संकल्प को ध्वनि मत से अस्वीकार कर दिया गया और इसे पारित कर दिया गया ।
अजय सैनी
वार्ता
More News

गुलशन कुमार का किरदार निभायेंगे आमिर खान

20 Sep 2018 | 12:36 PM

 Sharesee more..

20 Sep 2018 | 12:24 PM

 Sharesee more..
image