Thursday, Feb 21 2019 | Time 12:08 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • पारिवारिक फिल्मों से दर्शकों को मंत्रमुग्ध किया सूरज बड़जात्या ने
  • ऋतिक के अलावा किसी से कंपटीशन नहीं: टाइगर
  • दीपिका के साथ काम करना हमेशा खास रहा : रणवीर
  • अल अजीजिया मामले में नवाज की सजा पर फैसला सुरक्षित
  • राफेल मामला: फैसले पर पुनर्विचार को सहमत सुप्रीम कोर्ट
  • सैनिकों की शहादत पर राजनीति कर रहे हैं मोदी: कांग्रेस
  • हॉरर फिल्म में काम करना चाहती हैं कैटरीना
  • बॉक्सर का किरदार निभायेंगे शाहिद कपूर
  • 83 के प्रॉफिट में हिस्सा लेंगे रणवीर सिंह!
  • मैक्सिको में 630 किलो कोकीन जब्त, 15 गिरफ्तार
  • ममता ने बंगलादेश में भीषण आग से हुई मौतों पर शोक जताया
  • ढाका में इमारत में आग, 70 की मौत
  • वेनेजुएला शक्तिशाली राष्ट्र बनेगा: मादुरो
  • डेमोक्रेटिक पार्टी के सांसद लाएंगे आपातकाल खत्म करने का प्रस्ताव
  • ट्रम्प ने लगायी आईएस में शामिल महिला के स्वदेश लौटने पर रोक
विशेष » कुम्भ Share

कुंभ क्षेत्र में परमार्थ निकेतन ने लगाया नेत्र शिविर

कुंभ क्षेत्र में परमार्थ निकेतन ने लगाया नेत्र शिविर

प्रयागराज, 09 फरवरी (वार्ता) उत्तर प्रदेश के प्रयागराज स्थित कुंभ क्षेत्र में परमार्थ निकेतन ने नेत्र शिविर शुरू किया है। इस शिविर में एक निजी अस्पताल के डॉक्टर लोगों को चिकित्सा सुविधा दे रहे हैं। परमार्थ निकेतन यहां पहले से ही श्रद्धालुओं को चिकित्सा सेवा दे रहा है।

परमार्थ निकेतन के प्रमुख स्वामी चिदानंद सरस्वती ने शनिवार को नेत्र शिविर का उद्घाटन किया। उनके साथ भागवत कथाकार अनुराग शास्त्री, मोहनजी, उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्य सचिव आलोक रंजन और अन्य विशिष्ट अतिथि उपस्थित थे।

इस नेत्र शिविर में मेदांता अस्पताल और महावीर सेवा सदन के डॉक्टर नेत्र रोगियों की जांच कर रहे हैं। परमार्थ निकेतन की ओर से पहले से चलाये जा रहे चिकित्सा शिविर में भी मेदांता के डॉक्टर सेवा कर रहे हैं।

शिविर के पहले ही दिन डॉक्टरों ने 500 से ज्यादा लोगों का नेत्र परीक्षण कर निशुल्क चश्मे और दवाइयां दी। इसके अलावा चिकित्सा शिविर में भी एक हजार से ज्यादा लोगों को सुविधायें दी जा चुकी हैं। परमार्थ निकेतन कुंभ चलने तक लोगों को चिकित्सा सुविधा देता रहेगा। इसमें निशुल्क एंबुलेंस सेवा भी शामिल है।

स्वामी चिदानंद सरस्वती ने नेत्र शिविर में आने वाले रोगियों को 'जीते-जीते रक्त दान और जाते-जाते नेत्रदान' का संदेश भी दिया। उन्होंने युवाओं का आह्वान किया कि वे रक्तदान जरूर करें। उन्होंने अंगदान का भी लोगों से आह्वान किया है।

सं विश्वजीत

वार्ता

More News
कुंभ मेले के सेक्टर पांच में लगी आग, पांच टेंट जलकर राख

कुंभ मेले के सेक्टर पांच में लगी आग, पांच टेंट जलकर राख

19 Feb 2019 | 6:53 PM

प्रयागराज, 19 फरवरी (वार्ता) कुंभ के पांचवें स्नान पर्व माघी पूर्णिमा के दौरान मंगलवार को सेक्टर पांच स्थित एक शिविर में आग लगने से पांच टेंट जलकर राख हो गये।

 Sharesee more..
माघी पूूर्णिमा: तीन बजे तक त्रिवेणी में 80 लाख ने लगायी आस्था की डुबकी

माघी पूूर्णिमा: तीन बजे तक त्रिवेणी में 80 लाख ने लगायी आस्था की डुबकी

19 Feb 2019 | 4:00 PM

कुंभनगर,19 फरवरी (वार्ता) दुनिया के सबसे बड़े आध्यात्मिक और सांस्कृतिक समागम कुंभ के पांचवें स्नान पर्व माघी पूर्णिमा के पावन अवसर पर गंगा, यमुना और अदृश्य सरस्वती के त्रिवेणी में दोपहर तीन बजे तक 80 लाख श्रद्धालु आस्था की डुबकी लगा चुके थे।

 Sharesee more..
माघी पूर्णिमा स्नान के साथ ही समाप्त हुआ कल्पवास

माघी पूर्णिमा स्नान के साथ ही समाप्त हुआ कल्पवास

19 Feb 2019 | 3:17 PM

कुंभ नगर,17 फरवरी (वार्ता) पतित पावनी गंगा, श्यामल यमुना और अन्त: सलीला स्वरूप में प्रवाहित सरस्वती की रेती पर कुम्भ में पौष पूर्णिमा स्नान के साथ ही संयम, अहिंसा, श्रद्धा एवं कायाशोधन का 'कल्पवास' माघी पूर्णिमा स्नान के साथ ही खत्म हो गया और कल्पवासियों की घर वापसी शुरू हो गयी।

 Sharesee more..
माघी पूर्णिमा को संगम स्नान का महात्म

माघी पूर्णिमा को संगम स्नान का महात्म

19 Feb 2019 | 11:53 AM

कुंभनगर,19 फरवरी (वार्ता) दुनिया के सबसे बड़े आध्यात्मिक और सांस्कृतिक समागम कुंभ के पांचवें माघी पूर्णिमा का संगम स्नान उत्तम और सुखदायी माना गया है।

 Sharesee more..
अभेद्य सुरक्षा के बीच माघी पूूर्णिमा पर नौ बजे तक 40 लाख श्रद्धालुओ ने लगायी आस्था की डुबकी

अभेद्य सुरक्षा के बीच माघी पूूर्णिमा पर नौ बजे तक 40 लाख श्रद्धालुओ ने लगायी आस्था की डुबकी

19 Feb 2019 | 11:07 AM

कुम्भनगर, 19 फरवरी (वार्ता) दक्षिण कश्मीर के पुलवामा में केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के वाहन पर आतंकी हमले के मद्देनजर अभेद्य सुरक्षा के बीच मंगलवार को कुम्भ के पांचवें प्रमुख माघी पूर्णिमा के स्नान पर्व पर सुबह नौ बजे तक पतित पावनी गंगा, श्यामल यमुना और अन्त सलीला स्वरूप में प्रवाहित सरस्वती के त्रिवेणी में करीब 40 लाख श्रद्धालुओं ने आस्था की डुबकी लगाई।

 Sharesee more..
image