Thursday, Sep 20 2018 | Time 21:42 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • मायावती ने दिया विपक्षी एकता के कांग्रेस के प्रयासों को करारा झटका
  • सफाईकर्मी करेंगे 21 से 25 सितम्बर तक भूख हड़ताल
  • आनंदपुर साहिब -नैना देवी रोपवे प्रोजेक्ट को मंजूरी
  • मायावती ने दिया विपक्षी एकता के कांग्रेस के प्रयासों को करारा झटका
  • कार और ट्रक की टक्कर में तीन की मौत
  • राजकीय सम्मान के साथ शहीद नरेंद्र सिंह का अंतिम संस्कार
  • नदीम ने 10 ओवर में 10 रन पर झटके आठ विकेट
  • एस्मा के तहत निलम्बन के खिलाफ रोडवेज कर्मियों की भूख हड़ताल
  • हरियाणा में 23-25 अक्तूबर तक होगा खेल महाकुम्भ
  • अफगानिस्तान ने बंगलादेश को दी 256 की चुनौती
  • अफगानिस्तान ने बंगलादेश को दी 256 की चुनौती
  • डंपर घोटाला : शिवराज के खिलाफ दायर याचिका खारिज
  • तेईस से 25 अक्तूबर तक हरियाणा में खेल महाकुम्भ का आयोजन
  • सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग के आठ अधिकारी पदोन्नत
  • नीतीश दिल्ली से लौटे
दुनिया Share

इंडोनेशिया प्रशांत महासागर के ज्वालामुखीय और भूकम्पीय शृंखला में आता है। इस देश में प्राय: भूकंप के झटके आते रहते हैं। वर्ष 2004 में हिंद महासागर की सुनामी से इंडोनेशिया में 120,000 लोगों सहित 13 देशों में 226,000 लोगों की मौत हो गयी थी।
भूकंप के डर से रविवार शाम से हजारों की संख्या में पर्यटक हवाई जहाज और बड़ी नावों से लोंबोक छोड़कर चले गए हैं।
अधिकारियों ने कहा कि भूकंप के तुरंत बाद सुनामी आने की आशंका को देखते हुए लोंबोक के उत्तरी-पश्चिमी तट के गिली द्वीप से 2,000 से ज्यादा लोगों को सुरक्षित जगहों पर ले जाया गया है।
इंडोनेशिया की खोजी और बचाव एजेंसी (बसरनास) ने ट्विटर पर कहा कि साेमवार शाम तक गिली के 3,000 से ज्यादा लोगों को सुरक्षित जगहों पर ले जाया गया है और कई और लोगों को अभी भी वहां से निकाला जाना बाकी है।
आपदा राहत एजेंसी (बीएनपीबी) ने सोमवार शाम को एक बयान में कहा,“ तीन द्वीपों से हजारों लोगों, पर्यटकों और होटल कर्मियों को अभी भी सुरक्षित जगहों पर ले जाए जाने की प्रक्रिया चल रही है।”
गिली ट्रावंगन में इंग्लैंड की छात्रा सैफ्रॉन एमिस ने कहा कि वहां कम से कम 200 लोग अभी भी फंसे हैं और गिली एयर और गिली मेना से लोगों का पहुंचना जारी था।
उन्होंने रायटर से कहा, “ हमें अभी भी वाई-फाई की सुविधा नहीं है और बिजली भी बहुत कम है। गिली एयर में खाने की चीजों और पानी की कमी हो गयी है और इसलिए वे हमारे पास आए हैं।” बाद में उन्होंने एक संदेश भेजकर कहा कि उन्हें एक नाव से मुख्य द्वीप पर ले जाया जा रहा है, जहां से वह बाली के लिए निकलेंगी।
बचाव दल के लोगों को उम्मीद है कि भूकंप के केंद्र लोंबोक के उत्तर में तबाह हुईं हजारों इमारतों के मलबे से लोगों को जिंदा निकाला जा सकेगा।
सं.श्रवण
जारी रायटर
More News
फिलीपींस में भूस्खलन:12 की मौत, कई मलबे में फंसे

फिलीपींस में भूस्खलन:12 की मौत, कई मलबे में फंसे

20 Sep 2018 | 6:05 PM

मनीला 20 सितंबर (रायटर) फिलीपींस में गुरुवार को भारी बारिश के कारण भूस्खलन होने से कम से कम 12 लोगों की मौत हो गयी तथा कई अन्य लोगों के मलबे में फंसे होने की आशंका है।

 Sharesee more..
भारत से औपचारिक जवाब का इंतजार: पाकिस्तान

भारत से औपचारिक जवाब का इंतजार: पाकिस्तान

20 Sep 2018 | 6:05 PM

इस्लामाबाद 20 सितम्बर (वार्ता) पाकिस्तान ने गुरुवार को कहा कि उसे प्रधानमंत्री इमरान खान की आेर से भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लिखे गये पत्र पर उनकी ओर से औपचारिक जवाब का इंतजार है।

 Sharesee more..
image