Sunday, Nov 18 2018 | Time 16:14 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • पुलिस ने हिरासत में मेेरे पेट पर लात मारी: सुरेंद्रन
  • निकाय चुनाव में दो बजे तक कुल 43 प्रतिशत मतदान
  • महिला पुलिसकर्मियों की समस्या पर राष्ट्रीय सम्मेलन
  • रमन ने माना, तीसरे मोर्चे की होगी भूमिका
  • इक्कीसवीं सदी के अनुरूप हो शिक्षा प्रणाली: वेंकैया नायडू
  • बेटियों के अपमान पर माफी मांगे खट्टर : सुरजेवाला
  • सरकार प्राकृतिक चिकित्सा घर-घर पहुंचायेगी: नाईक
  • आम लोगों के लिये 18 से 27 नवंबर तक खुला आईआईटीएफ
  • कसमों-वादों आरोप-प्रत्यारोपों का शोर, मूलभूत मुद्दों पर नहीं रहा जोर
  • दूरसंचार प्रणाली से पुलिस के आधुनिकीकरण पर सम्मेलन
  • टिकट के लिए धर्म के नाम पर कोई कोटा नहीं होना चाहिए-राठौड़
  • पिछली आस्ट्रेलिया सीरीज़ से काफी सीखा: शास्त्री
  • पिछली आस्ट्रेलिया सीरीज़ से काफी सीखा: शास्त्री
  • पर्यटन केंद्र के रूप में विकसित होगा वाल्मीकि नगर : नीतीश
  • प्रेस से बात नहीं करते मोदी : राहुल
दुनिया Share

त्रिनिदाद के रवि महाराज ने कहा कि भाषा और संस्कृति को आगे बढ़ाने के लिए उसे स्थानीय संदर्भों एवं जरूरतों के आधार पर प्रचारित-प्रसारित करना चाहिए। ब्रिटेन की शैल अग्रवाल ने प्रवासी संसार में भारतीय संस्कृति एवं अपनेपन की कमी को रेखांकित किया। अमेरिका की मृदुल कीर्ति ने भाषा एवं संस्कृति के बिखरे सूत्रों को स्वस्थ मन:स्थिति में जोड़ने की बात कही।
फिजी के अनिल जोशी ने संस्कृति, भाषा एवं साहित्य में संस्थागत हस्तक्षेप करने की मांग करते हुये कहा कि प्रतिनिधि प्रवासी रचनाकारों की रचनाओं की अलोचना एवं विवेचना के लिए मानक प्रारूप अपनाया जाना चाहिए। विश्व की अन्य भाषाओं की तरह हिंदी सीखने के लिए ऑनलाइन शिक्षण की व्यवस्था की जानी चाहिए।
सिंगापुर की संध्या सिंह ने दक्षिण-पूर्व एशिया में हिंदी भाषा के शिक्षण एवं शिक्षकों के प्रशिक्षण की आवश्यकता पर बल दिया। इस सत्र में हरजेंद्र चौधरी ने कहा कि हिंदी के जीवित रहने के लिए इसे जीवन की जरूरतों से जोड़ना अति आवश्यक है। गुलशन सुखलाल ने प्रवासी भाषा एवं साहित्य को वर्गीकरण से आगे बढ़कर एक सैद्धांतिकी विकसित किये जाने पर बल दिया। इस सत्र में हिंदी भाषा एवं संस्कृति का एकोफोन, दक्षिण एशियाई एवं ल्यूसोफोन क्षेत्रों तक विस्तार किये जाने की विशेष आवश्यकता पर बल दिया। सत्र में इक्कीस वक्ताओं द्वारा प्रवासी संसार में भाषा एवं संस्कृति के विभिन्न पक्षों पर मंतव्य रखे गये। सत्र की अध्यक्षता कमल किशोर गोयनका एवं संयोजन नारायण कुमार द्वारा किया गया।
शिवा. उपाध्याय. सूरज
(वार्ता)
More News
फ्रांस में पेट्रोल, डीजल की मंहगाई को लेकर प्रदर्शन, एक की मौत, 106 घायल

फ्रांस में पेट्रोल, डीजल की मंहगाई को लेकर प्रदर्शन, एक की मौत, 106 घायल

18 Nov 2018 | 1:12 PM

पेरिस 17 नवंबर (स्पूतनिक) फ्रांस में पेट्रोल और डीजल की मंहगाई को लेकर हुए प्रदर्शनों में एक व्यक्ति की मौत हो गयी जबकि 106 से अधिक घायल हो गये। फ्रांस के गृह मंत्रालय ने यह जानकारी दी।

 Sharesee more..
फ्रांस के प्रदर्शनों में घायलों की संख्या बढ़कर 227 हुई

फ्रांस के प्रदर्शनों में घायलों की संख्या बढ़कर 227 हुई

18 Nov 2018 | 1:06 PM

पेरिस 18 नवंबर (स्पूतनिक) फ्रांस में पेट्रोल और डीजल की मंहगाई को लेकर हुए प्रदर्शनों में एक व्यक्ति की मौत हो गयी जबकि घायलों की संख्या बढ़कर 227 घायल हो गयी है। फ्रांस की स्थानीय मीडिया ने रविवार को यह जानकारी दी।

 Sharesee more..
image