Wednesday, Jun 19 2019 | Time 18:38 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • भेल की एक हजार एकड़ जमीन काे वापस लिया जाएगा - गोविंद
  • बालिका के अपहरण और हत्या के मामले में दो लड़के गिरफ्तार
  • ‘एक देश एक चुनाव’ पर संसद में चर्चा कराए सरकार : कांग्रेस
  • बंगलादेश, दक्षिण कोरिया के चैनल भारत में दिखेंगे
  • बंगलादेशी श्रमिकों के साथ झड़प में एक चीनी श्रमिक की मौत
  • बंगलादेश के खिलाफ वापसी कर सकते हैं स्टोयनिस
  • बंगलादेश के खिलाफ वापसी कर सकते हैं स्टोयनिस
  • कैप्टन सरकार नशे को काबू करने में बुरी तरह विफल : चीमा
  • वाई वी सुब्बा रेड्डी तिरुपति देवस्थानम के नये अध्यक्ष
  • मध्य नाइजीरिया में बंदूकधारी ने चार लोगों की हत्या की
  • ढाणी दादूपुर बना हरियाणा का पहला पशुधन जोखिम मुक्त गांव
  • कुशीनगर में तस्कर गिरफ्तार, 350 पेटी शराब बरामद
  • बिहार में पांच चिकित्सा टीमें भेजेगा केन्द्र
  • इलेक्ट्रिक मोबिलिटी के प्रति जागरूकता के लिए एविस की पहल
  • शिखर बाहर, पंत अंदर, भुवी पर अभी फैसला नहीं
दुनिया


टर्नबुल ने मजबूरन कर नीति में किया बदलाव

कैनबरा 22 अगस्त (रायटर) आस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री मैल्कम टर्नबुल की सत्ता पर पकड़ उस समय और कमजोर होती दिखी जब उन्हें बुधवार को केंद्रीय कर नीति में बदलाव करने पर मजबूर होना पड़ा।
श्री टर्नबुल का कार्पोरेट कर 30 प्रतिशत से घटाकर 25 प्रतिशत किये जाने का कदम सहयोगियों को खुश करने की कवायद के रूप में देखा जा रहा है।
श्री टर्नबुल को इस सप्ताह लगातार कई चुनौतियों का सामना करना पड़ा रहा है। पहले उन्हें अपनी ऊर्जा नीति को लचीला करना पड़ा और उसके बाद नियोजित कार्पोरेट कर वापस लेना पड़ा। इस बीच उनको पार्टी में अपने प्रतिद्वंदी पूर्व गृह मंत्री पीटर डटन की चुनौती का भी सामना करना पड़ा था।
आस्ट्रेलिया की गठबंधन सरकार में बड़े सहयोगी दल लिबरल पार्टी के नेता श्री डटन ने मंगलवार को श्री टर्नबुल को मतदान कराने की चुनौती पेश की थी जिसमें टर्नबुल किसी तरह से 35 के मुकाबले 48 वोट के नजदीकी अंतर से जीत हासिल करने में कामयाब रहे। इसके साथ ही टर्नबुल एक बार फिर से पार्टी के सर्वोच्च नेता चुन लिए गये।
आस्ट्रेलिया की पार्लियामेंट में बुधवार को प्रश्न काल के दौरान विपक्षी दल लेबर पार्टी ने मतदान में श्री डटन का समर्थन करने वाले नौ में से सात केंद्रीय मंत्रियों से पूछा कि क्या वे मतदान के बाद भी श्री टर्नबुल का समर्थन करते हैं। सभी सातों मंत्रियों ने श्री टर्नबुल को अपने इस्तीफे की पेशकश की लेकिन श्री टर्नबुल ने उनके इस्तीफे अस्वीकार कर दिये।
श्री टर्नबुल के भविष्य पर मंडरा रहे खतरे के बीच ब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ के आस्ट्रेलिया में मुख्य प्रतिनिधि गवर्नर जनरल पीटर कोस्ग्रोव ने अपनी यात्रा रद्द कर दी है और अब वह इस सप्ताह कैनबरा में ही रहेंगे।
आस्ट्रेलिया में नेतृत्व परिवर्तन होने पर श्री कोस्ग्रोव नये प्रधानमंत्री को शपथ दिलाते या फिर वह श्री टर्नबुल की पार्लियामेंट को समय पूर्व भंग करने की सिफारिश को स्वीकार करते।
लिबरल पार्टी की आपसी खींचतान का फायदा विपक्षी दल लेबर पार्टी को हो रहा है। आस्ट्रेलिया में मई में चुनाव होने है।
दिनेश.श्रवण
रायटर
image