Wednesday, Nov 14 2018 | Time 05:40 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
दुनिया Share

एमएसएफ ने कहा कि दुर्घटनाग्रस्त नाव में सुडान, माली, नाइजीरिया, कैमरून, घाना, लीबिया, अल्जीरिया और मिस्र के शरणार्थी सवार थे। दुर्घटना में किसी तरह से जान बचाने वाले बहुत से शरणार्थियों को लीबियाई तटरक्षक दो सितम्बर को लीबिया के खोमस बंदरगाह लेकर आये।
एजेंसी के अनुसार इन शरणार्थियों को लीबिया में भी मुश्किलों का सामना करना पड़ा। बहुत से शरणार्थी अपनों को खो चुके थे और उनके गम में गमगीन थे।
“शरणार्थियों की सहायता और सहयोग करने की बजाय उनको गिरफ्तार करके दर्दनाक स्थिति में हिरासत में रखा गया। उनको सुरक्षा, मूलभूत सुविधाएं और कानूनी सहायता भी नहीं प्रदान की गयी।”
एमएसएफ ने लीबिया में हिरासत में रखे गये हजारों शरणार्थियों को रिहाई की मांग की है।
दिनेश
रायटर
More News
श्रीलंका संसद भंग करने पर सुप्रीम कोर्ट ने लगाई रोक

श्रीलंका संसद भंग करने पर सुप्रीम कोर्ट ने लगाई रोक

13 Nov 2018 | 7:48 PM

कोलंबो 13 नवंबर (शिन्हुआ) श्रीलंका के सुप्रीम कोर्ट ने राष्ट्रपति मैत्रीपाला सिरीसेना के संसद भंग करने के फैसले पर मंगलवार को रोक लगा दी, सुप्रीम कोर्ट के तीन न्यायाधीशों की खंडपीठ ने यह रोक लगाकर विपक्ष समेत विभिन्न वर्गाें को अंतरिम राहत प्रदान की।

 Sharesee more..
नवाज की रिहाई के खिलाफ याचिका पर होगी सुनवाई

नवाज की रिहाई के खिलाफ याचिका पर होगी सुनवाई

13 Nov 2018 | 2:25 PM

इस्लामाबाद 13 नवंबर (वार्ता) पाकिस्तान के सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को राष्ट्रीय जवाबदेही ब्यूरो (नेब) की पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ और उनकी बेटी मरियम नवाज की एवेन्यू फील्ड अपार्टमेंट मामले में रिहाई के इस्लामाबाद उच्च न्यायालय के आदेश के खिलाफ याचिका स्वीकार करते हुए मामले की नियमित सुनवायी के लिए बड़ी पीठ के गठन का आदेश दिया।

 Sharesee more..
image