Wednesday, Jan 23 2019 | Time 23:03 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • पाकिस्तानी सेना ने एक बार फिर संघर्षविराम का उल्लंघन किया
  • नाईजीरिया सैनिकों ने 58 डकैतों को मार गिराया
  • काला सागर मे जहाज दुघर्टना में छह भारतीयों की मौत
  • भारत की अर्थव्यवस्था को समावेशी अर्थव्यवस्था बनाना जरूरी - कमलनाथ
  • सीबीआई ने गुजरात में पेसो अधिकारी को रिश्वत लेते हुए पकड़ा
  • फोटो कैप्शन तीसरा सेट
  • सवा साल में यमुना होगी निर्मल : गडकरी
  • चाल धंसने से चार मजदूरों की मौत
  • संबद्ध महाविद्यालय के शिक्षकों को मिली उत्तर पुस्तिका मूल्यांकन की अनुमति
  • अलियेव को हराकर बजरंग ने पंजाब रॉयल्स को दिलाई जीत
  • अलियेव को हराकर बजरंग ने पंजाब रॉयल्स को दिलाई जीत
  • फोटाे कैप्शन दूसरा सेट
  • पवार की मौजूदगी में राकांपा का दामन थामेंगे वाघेला
  • पीयूष गोयल को वित्त और कॉरपोरेट मामलों का अतिरिक्त प्रभार
  • महिला जूनियर हॉकी टीम शिविर के लिए 33 संभावित घोषित
India Share

नोटबंदी से औपचारिक अर्थव्यवस्था में आयी नकदी: जेटली

नोटबंदी से औपचारिक अर्थव्यवस्था में आयी नकदी: जेटली

नयी दिल्ली, 08 नवम्बर (वार्ता) वित्त मंत्री अरुण जेटली ने सरकार द्वारा दो वर्ष पूर्व की गयी नोटबंदी काे पूरी तरह सही ठहराते हुए गुरुवार को कहा कि इसका उद्देश्य नकदी को औपचारिक अर्थव्यवस्था में लाना तथा नकदी रखने वालों को कर व्यवस्था में शामिल करना था और इसमें सफलता मिली है ।
श्री जेटली ने नोटबंदी के दो वर्ष पूरे होने पर एक लेख में नोटबंदी के आलोचकों को आड़े हाथ लेते हुए कहा , “ नोटबंदी की एक बे-तर्क आलोचना यह है कि लगभग पूरी नकदी बैंकों में जमा हो गयी है। नोटबंदी का उद्देश्य
नकदी की जब्ती नहीं था। नोटबंदी का उद्देश्य था कैश को औपचारिक अर्थव्यवस्था में शामिल कराना और कैशधारकों को
टैक्स सिस्टम में लाना ।” उन्होंने कहा कि अर्थव्यवस्था को व्यवस्थित बनाने की दिशा में सरकार ने जो भी कदम उठाए हैं उनमें नोटबंदी एक बड़ा और महत्वपूर्ण कदम है।
वित्त मंत्री ने कहा कि भारत नकदी के वर्चस्व वाली अर्थव्यवस्था थी। नकद लेन-देन में, लेने वाले और देने वाले का पता नहीं लगाया जा सकता। इसमें बैंकिग प्रणाली की भूमिका पीछे छूट जाती है और साथ ही कर प्रणाली भी बिगड़ती है। नोटबंदी ने नकदी धारकों को पूरी नकदी बैंकों में जमा करने पर मजबूर किया। बैकों में नकदी जमा होने और यह पता चलने से कि यह किसने जमा की , 17.42 लाख संदिग्ध खाता धारकों की पहचान हुयी ।
उन्होंने कहा कि नियमों का उल्लंघन करने वालों को दंडात्मक कार्रवाई का सामना करना पड़ा। बैकों में ज्यादा धन जमा होने से उनकी ऋण देनी की क्षमता में भी सुधार हुआ। आगे निवेश के लिए इस धन को म्यूचुअल फंड में बदल दिया गया। ये कैश भी औपचारिक प्रणाली का हिस्सा बन गया।
अरुण उनियाल
जारी वार्ता

More News
पीयूष गोयल को वित्त और कॉरपोरेट मामलों का अतिरिक्त प्रभार

पीयूष गोयल को वित्त और कॉरपोरेट मामलों का अतिरिक्त प्रभार

23 Jan 2019 | 10:33 PM

नयी दिल्ली, 23 जनवरी(वार्ता) राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की सलाह पर वित्त और काॅरपोरेट मामलों के मंत्री अरूण जेटली की अस्वस्थता के कारण उनके विभागों का आतिरिक्त प्रभार रेल मंत्री पीयूष गोयल काे दिया है।

 Sharesee more..
महीने के अंत में फिर सता सकती है शीतलहर

महीने के अंत में फिर सता सकती है शीतलहर

23 Jan 2019 | 10:03 PM

नयी दिल्ली 23 जनवरी (वार्ता) राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली तथा आसपास के इलाकों में 26 जनवरी के बाद एक बार फिर शीतलहर की संभावना है।

 Sharesee more..
कॉलेजियम व्यवस्था में भाई-भतीजावाद नहीं : जस्टिस लोकुर

कॉलेजियम व्यवस्था में भाई-भतीजावाद नहीं : जस्टिस लोकुर

23 Jan 2019 | 10:18 PM

नयी दिल्ली, 23 जनवरी (वार्ता) उच्चतम न्यायालय के पूर्व न्यायाधीश मदन बी लोकुर ने दो न्यायाधीशों- न्यायमूर्ति प्रदीप नंदराजोग और न्यायमूर्ति राजेंद्र मेनन को नजरंदाज करने पर बुधवार को निराशा तो जतायी, लेकिन कॉलेजियम व्यवस्था नाकाम होने की किसी भी आशंका को निर्मूल करार दिया।

 Sharesee more..
आगरा, मथुरा में यमुना में गंदा पानी नहीं जायेगा : गडकरी

आगरा, मथुरा में यमुना में गंदा पानी नहीं जायेगा : गडकरी

23 Jan 2019 | 8:49 PM

नयी दिल्ली, 23 जनवरी (वार्ता) जल संसाधन, नदी विकास और गंगा संरक्षण मंत्री नितिन गडकरी ने उत्तर प्रदेश के आगरा तथा मथुरा में ‘नमामि गंगे’ कार्यक्रम के तहत छह परियोजनाओं का शिलान्यास करते हुए कहा है कि इन पर काम पूरा होने के बाद यमुना में इन शहरों का गंदा पानी नहीं गिरेगा।

 Sharesee more..
image