Thursday, Sep 19 2019 | Time 13:48 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • भारतीय टीम अपराजेय नहीं: बावुमा
  • भारतीय टीम अपराजेय नहीं: बावुमा
  • तेज रफ्तार बस की चपेट में आने से युवक की मौत
  • सुरेन्द्र नागर और संजय सेठ ने राज्यसभा की सदस्यता की शपथ ली
  • कोलकाता में व्यक्ति ने मेट्रो के सामने कूद कर दी जान
  • निम्रिता की पोस्टमार्टम रिपोर्ट पर विशेषग्यों ने उठाए सवाल
  • सडक हादसे में चालक सहित चार की मौत
  • अफगानिस्तान के खाेजिआनी जिले में हवाई हमले में 30 की मौत, 45 घायल
  • मरने के बाद भी ‘करवट’ बदलते हैं लोग:अनुसंधान
  • आइफा में रणवीर और आलिया का जलवा
  • आइफा में रणवीर और आलिया का जलवा
  • आइफा में रणवीर और आलिया का जलवा
  • प्रियंका दीदी से तुलना नही कर सकती : मीरा चोपड़ा
  • प्रियंका दीदी से तुलना नही कर सकती : मीरा चोपड़ा
  • प्रियंका दीदी से तुलना नही कर सकती : मीरा चोपड़ा
राज्य


कश्मीर राजमार्ग पर फंसे हुए वाहनों को जाने की अनुमति

कश्मीर राजमार्ग पर फंसे हुए वाहनों को जाने की अनुमति

श्रीनगर, 12 मई (वार्ता) कश्मीर घाटी की आेर जाने वाले करीब आठ हजार फंसे वाहनों को रविवार को परिचालन की अनुमति दी गयी। श्रीनगर-जम्मू राजमार्ग पर भूस्खलन और लगातार पत्थर गिरने के कारण पिछले तीन दिनों से ये वाहन फंसे हुए हैं।

इस दौरान एकतरफा यातायात श्रीनगर-लेह राष्ट्रीय राजमार्ग पर लगातार चल रहा है जो कश्मीर से लद्दाख क्षेत्र को जोड़ने वाली एकमात्र सड़क और ऐतिहासिक 86 किलोमीटर लंबी मुग़ल सड़क थी।

यातायात पुलिस अधिकारी ने यूनीवार्ता को बताया कि आज डिगडोल और रामबन में कुछ अन्य स्थानों से भूस्खलन के मलबे को हटाने के बाद कश्मीर की ओर जाने वाले वाहनों को जाने की अनमुति दी गयी है जो कश्मीर घाटी को देश के बाकी हिस्सों को जोड़ता है।

भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएचएआई) और सीमा सड़क संगठन (बीआरओ) की राजमार्ग पर गिरे भूस्खलन के मलबे को हटाने और उसकी मरम्मत करने की जिम्मेदारी है। राजमार्ग में फंसे हुए वाहनों को शुक्रवार को कश्मीर घाटी की ओर जाने की अनुमति दी गयी थी। अाधिकारिक सूत्रों ने बताया कि डिगडोल में ताजा भूस्खलन के बाद इस मार्ग पर यातायात को फिर रोक दिया गया था। मशीन से भूस्खलन के मलबे को हटाने के दौरान एक चालक पहाड़ से पत्थर गिरने पर उसकी चपेट में आने से घायल हो गया।

एनएचएआई और बीआरओ के कर्मियों को मशीनों द्वारा भूस्खलन के मलबे को हटाने के कार्य में लगाया गया है। राजमार्ग में फंसे यात्री वाहनों और जरूरत की सामग्री को ले जाते हुए ट्रक सहित लगभग आठ हजार वाहनों को रविवार को कश्मीर की ओर जाने की अनुमति दी गयी।

राजमार्ग में गुरुवार से फंसे हुए पर्यटकों सहित यात्रियों ने आरोप लगाया कि प्रशासन एक गिलास पानी तक उन्हें उपलब्ध कराने में विफल रही है। उन्होंने आरोप लगाया कि उन्हें ऐसे स्थान पर ठहराया गया जहां किसी प्रकार की सुविधा नहीं थी।

इस बीच, पिछले कुछ हफ्तों में भूस्खलन के बाद राजमार्ग लगातार बंद करने और अधिकारियों ने सप्ताह में दो दिन रविवार और बुधवार को सुरक्षा बल के काफिले के आवागमन की अनुमति के कारण आवश्यक वस्तुओं विशेषकर ताजा सब्जी और फलों के अलावा चिकन और मीट के दाम में तेजी से वृद्धि हुई है। अधिकारियों ने अगले सप्ताह से बुधवार को यह प्रतिबंध हटा लिया है। राजमार्ग अब आम नागरिकों के लिए रविवार को बंद रहेगा।

यातायात पुलिस अधिकारी ने बताया कि लद्दाख क्षेत्र से कश्मीर को जोड़ने वाले राष्ट्रीय राजमार्ग पर एक तरफा यातायात चलेगा। आज श्रीनगर की ओर जाने वालों को जाने की अनुमति दी गयी है।

उन्होंने बताया कि छोटे वाहन सुबह सात बजे से पूर्वाह्न 10 बजे तक लद्दाख क्षेत्र के मिनीमर्ग से कश्मीर घाटी की ओर रवाना होंगे, जबकि बड़े वाहनों को पूर्वाह्न 10 बजे से अपराह्न एक बजे तक परिचालन की इजाजत दी जाएगी। इस अवधि के बाद किसी भी वाहन के परिचालन की अनुमति नहीं दी जायेगी।

उप्रेती.श्रवण

वार्ता

More News
सडक हादसे में चालक सहित चार की मौत

सडक हादसे में चालक सहित चार की मौत

19 Sep 2019 | 1:29 PM

सूरत, 19 सितंबर (वार्ता) गुजरात के सूरत जिले के कोसंबा क्षेत्र में गुरूवार को सड़क हादसे में ट्रक चालक सहित चार लोगों की मौत हो गयी।

see more..
हनीट्रैप मामला राजनीतिक नहीं : बच्चन

हनीट्रैप मामला राजनीतिक नहीं : बच्चन

19 Sep 2019 | 1:22 PM

इंदौर, 19 सितंबर (वार्ता) मध्यप्रदेश में हनीट्रैप मामला सामने आने से मचे हड़कंप के बीच गृह मंत्री बाला बच्चन ने आज कहा कि ये मामला राजनीतिक नहीं है।

see more..
image