Saturday, Feb 16 2019 | Time 20:36 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • शहीदों की सजी चितायें, आंसुओं के सैलाब में डूबा उत्तर प्रदेश
  • मतदाता पंजीकरण के लिये हरियाणा में 23-24 फरवरी को लगेंगे विशेष शिविर
  • पाकिस्तानी विदेश सचिव ने पुलवामा हमले पर भारत के आरोपों को नकारा
  • जिम्बाब्वे में कंडोम संकट
  • अफगानिस्तान में 51 आतंकवादी ढेर, 50 घायल
  • विधायक देशराज करेंगे बाघा सीमा पर पाकिस्तान के खिलाफ प्रदर्शन
  • बागान ने आइजॉल को 2-1 से हराया
  • भारत और मॉरीशस मिलकर करेंगे गीता का प्रचार-प्रसार पूरी दुनिया में
  • भारत और मॉरीशस मिलकर करेंगे गीता का प्रचार-प्रसार पूरी दुनिया में
  • बेटी की डोली उठाने का सपना लेकर गये ‘संजय’ नहीं लौटे
  • कार के ऊपर गन्ने से भरा ट्रक पलटा, चार घायल
  • इरफान की राष्ट्रीय पैदल चाल प्रतियोगिता में हैट्रिक
  • रालोसपा महासचिव क्रांति प्रकाश का इस्तीफा
  • उच्च स्तरीय बैठक में राजनाथ ने लिया सुरक्षा स्थिति का जायजा
  • जॉर्डन में दंगाें में एक की मौत, छह घायल
India Share

राफेल और एस-400 मिसाइल से बढेगी मारक क्षमता: वायु सेना प्रमुख

राफेल और एस-400 मिसाइल से बढेगी मारक क्षमता: वायु सेना प्रमुख

नयी दिल्ली 12 सितम्बर (वार्ता) राफेल लड़ाकू विमान सौदे को लेकर विपक्ष द्वारा मचाये जा रहे बवाल के बीच वायु सेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल बी एस धनोआ ने आज कहा कि भारत जिस तरह के ‘गंभीर खतरे’ का सामना कर रहा है उसे देखते हुए वायु सेना को राफेल जैसे विमान और रूसी सुरक्षा प्रणाली एस-400 की जरूरत है।
एयर चीफ मार्शल ने बुधवार को यहां एक सेमीनार में कहा कि दुनिया में केवल दो देश दक्षिण कोरिया तथा इजरायल ही अपने-अपने क्षेत्रों में भारत जैसे खतरे का सामना कर रहे हैं लेकिन इन दोनों ने ही अपनी वायु सेना को बेहद मजबूत बना लिया है। उन्होंने कहा कि देश में ही बना तेजस विमान उस कमी को पूरा नहीं कर सकता जिसका सामना वायु सेना कर रही है। इस कमी को पूरा करने के लिए राफेल जैसे अत्याधुनिक प्रौद्योगिकी से लैस विमान की जरूरत है।
उन्होंने कहा कि समय की जरूरत है कि भारतीय वायु सेना को पडोसी देशों की ताकत को देखते हुए मजबूत बनाया जाना चाहिए। पाकिस्तान और चीन की हवाई ताकत का उल्लेख करते हुए उन्होंने कहा कि भारतीय वायु सेना को 42 स्क्वैड्रन की जरूरत है लेकिन उसके पास केवल 31 स्क्वैड्रन हैं। पाकिस्तान निरंतर अपनी ताकत बढा रहा है और उसके पास लड़ाकू विमानों के 20 से अधिक स्क्वैड्रन हैं जिनमें उन्नत एफ-16 भी हैं और वह चीन से बडी संख्या में जे-17 विमान हासिल कर रहा है। चीन के पास 1700 से ज्यादा लड़ाकू विमान हैं जिनमें 800 चौथी नयी पीढी के लडाकू विमान हैं।
संजीव जितेन्द्र
जारी वार्ता

More News
पुलवामा पर पाकिस्तान के इनकार को भारत ने किया खारिज

पुलवामा पर पाकिस्तान के इनकार को भारत ने किया खारिज

16 Feb 2019 | 7:52 PM

नयी दिल्ली 16 फरवरी (वार्ता) भारत ने पुलवामा हमले के सिलसिले में पाकिस्तान को बेनकाब करने की कूटनीतिक मुहिम शनिवार को भी जारी रखी और इस हमले में हाथ होने से उसके इनकार को खारिज कर दिया।

 Sharesee more..

उमर ने राजनाथ से की मुलाकात

16 Feb 2019 | 7:46 PM

 Sharesee more..
image