Monday, Apr 22 2019 | Time 16:30 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • अंतिम चरण के चुनाव के लिए अधिसूचना जारी
  • कच्चे तेल में उबाल से लुढ़का शेयर बाजार
  • तीसरे चरण में कड़ी सुरक्षा के बीच मंगलवार को होगा मतदान
  • ममता की हार तय: शाह
  • सुमित्रा-सुषमा नहीं दिखेंगी इस बार संसद में, 15 साल बाद दिग्विजय चुनावी मैदान में
  • बालाकोट स्ट्राइक का श्रेय लेकर क्या संदेश देना चाहते हैं मोदी:कैप्टन
  • राघव चड्ढा ने दक्षिण दिल्ली सीट से भरा पर्चा
  • एयर एशिया की 70 प्रतिशत तक छूट की पेशकश
  • अंतिम चरण के चुनाव के लिए अधिसूचना जारी
  • सेंसेक्स 495 अंक, निफ्टी 158 अंक लुढ़का
  • कमलनाथ के लोकसभा चुनाव को लेकर बयान पर शिवराज का ट्वीट
  • धोनी की बल्लेबाजी ने हमें डरा दिया था : विराट
  • धोनी की बल्लेबाजी ने हमें डरा दिया था : विराट
  • ‘चौकीदार’ को सजा मिलेगी: राहुल
  • बंगाल में सातवें चरण के चुनाव की अधिसूचना जारी
मनोरंजन


एस.मोहिन्दर ने ठुकरा दिया था मधुबाला का विवाह प्रस्ताव

एस.मोहिन्दर ने ठुकरा दिया था मधुबाला का विवाह प्रस्ताव

..जन्मदिवस 08 सितम्बर के अवसर पर ..

मुंबई 07 सितंबर(वार्ता) बीते जमाने के मशहूर संगीतकार एस.मोहिन्दर को एक बार बेपनाह हुस्न की मल्लिका मधुबाला से शादी का प्रस्ताव मिला था जिन्हें उन्हें ठुकरा दिया था।

एस.मोहिन्दर मूल नाम मोहिन्दर सिंह सरना का जन्म अविभाजित पंजाब में मोंटगोमरी जिले के सिलनवाला गांव में 08 सितम्बर 1925 को एक सिख परिवार में हुआ। मोहिन्दर के पिता सुजान सिंह बख्शी पुलिस में सब इंस्पेक्टर थे। उनके पिता बांसुरी बहुत अच्छी बजाते थे जिसे वह बेहद प्यार से सुना करते थे1बचपन के दिनो से ही मोहिन्दर का रूझान संगीत की ओर हो गया था।

वर्ष 1935 में मोहन्दर ने गायक संत सुजान सिंह से शास्त्रीय संगीत की शिक्षा लेनी शुरू की। बाद में उन्होंने संगीतज्ञ भाई समुंद सिंह से शास्त्रीय संगीत की शिक्षा ली। मोहिन्दर ने महान शास्त्रीय गायक बड़े गुलाम अली खां और लक्ष्मण दास से भी शास्त्रीय संगीत की शिक्षा ग्रहण की थी। मोहिन्दर के पिता का लगतार तबादला हुआ करता था जिसके कारण उनकी पढ़ाई काफी प्रभवित हुआ करती थी। चालीस के दशक के प्रारंभ में उनका दाखिला अमृतसर जिले के कैरों गांव में खालसा हाई स्कूल में करा दिया गया।

वर्ष 1947 में देश का विभाजन होने पर उनका परिवार तो भारत में पूर्वी पंजाब चला गया लेकिन संगीत के प्रति रूझान के कारण मोहिन्दर बनारस आ गये जहां उन्होंने दो साल तक शास्त्रीय संगीत की शिक्षा ली। शुरूआती दौर में मोहिन्दर पार्श्वगायक बनना चाहते थे। कुछ वर्ष तक वह लाहौर रेडियो स्टेशन से भी गायक के तौर पर काम किया इसी दौरान उनकी मुलाकात सुरैया से हुयी जिन्होंने उन्हें मुंबई आने का न्यौता दिया। मुंबई आने पर मोहिन्दर की मुलाकात जानेमाने संगीतकार खेमचंद्र प्रकाश से हुयी।

प्रेम टंडन

जारी वार्ता

More News

22 Apr 2019 | 1:30 PM

see more..
कंचना के हिंदी रीमेक में काम करेंगे अक्षय कुमार

कंचना के हिंदी रीमेक में काम करेंगे अक्षय कुमार

22 Apr 2019 | 1:06 PM

मुंबई 22 अप्रैल (वार्ता) बॉलीवुड के खिलाड़ी कुमार अक्षय कुमार दक्षिण भारतीय फिल्म कंचना के हिंदी रीमेक में काम करते नजर आ सकते हैं।

see more..
कुली नंबर वन के रीमेक में काम नहीं कर रहे हैं वरूण धवन

कुली नंबर वन के रीमेक में काम नहीं कर रहे हैं वरूण धवन

22 Apr 2019 | 12:49 PM

मुंबई 22 अप्रैल (वार्ता) बॉलीवुड अभिनेता वरूण धवन का कहना है कि वह ‘कुली नंबर वन’ के रीमेक में काम नहीं कर रहे हैं।

see more..
सूर्यवंशी में अक्षय के अपोजिट काम करेंगी कैटरीना

सूर्यवंशी में अक्षय के अपोजिट काम करेंगी कैटरीना

22 Apr 2019 | 12:40 PM

मुंबई 22 अप्रैल (वार्ता) बॉलीवुड की बार्बी गर्ल कैटरीना कैफ फिल्म सूर्यवंशी में अक्षय कुमार के अपोजिट काम करती नजर आयेंगी।

see more..
सत्यजीत रे ने बाइसाईकिल थीफस देख किया फिल्म निर्माण का इरादा

सत्यजीत रे ने बाइसाईकिल थीफस देख किया फिल्म निर्माण का इरादा

22 Apr 2019 | 12:27 PM

..पुण्यतिथि 23 अप्रैल .. मुंबई 22 अप्रैल(वार्ता) भारतीय सिनेमा जगत में युगपुरूष सत्यजीत रे को एक ऐसे फिल्मकार के तौर पर याद किया जाता है जिन्होंने अपनी निर्मित फिल्मों के जरिये भारतीय सिनेमा जगत को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर विशिष्ट पहचान दिलाई।

see more..
image