Wednesday, Sep 26 2018 | Time 01:02 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • जम्मू निकाय चुनाव के लिए 815 उम्मीदवारों ने भरे पर्चे
  • पश्चिमी पाकिस्तान का शरणार्थी एक प्रतिनिधि मंडल जितेंद्र सिंह से मिला
भारत Share

एससी/एसटी कानून : केंद्र सरकार से जवाब तलब

एससी/एसटी कानून : केंद्र सरकार से जवाब तलब

नयी दिल्ली 07 सितम्बर (वार्ता) उच्चतम न्यायालय ने अनुसूचित जाति/ अनुसूचित जनजाति (एससी/एसटी) अत्याचार निवारण संशोधन कानून की संवैधानिक वैधता को चुनौती देने वाली याचिका की सुनवाई पर शुक्रवार को रजामंदी जता दी, हालांकि इसने फिलहाल कानून के अमल पर रोक लगाने से इन्कार कर दिया।

मुख्य न्यायाधीश दीपक मिश्रा, न्यायमूर्ति ए एम खानविलकर और न्यायमूर्ति डी वाई चंद्रचूड़ की पीठ ने वकील पृथ्वी राज चौहान और प्रिया शर्मा की याचिका सुनवाई के लिए स्वीकार तो कर ली लेकिन संशोधन कानून के अमल पर स्थगनादेश जारी करने से इन्कार कर दिया।

न्यायमूर्ति मिश्रा ने कहा, “केंद्र सरकार का पक्ष जाने बिना कानून के अमल पर रोक लगाना मुनासिब नहीं होगा।” इसके साथ ही न्यायालय ने केंद्र सरकार को नोटिस जारी करके छह सप्ताह के भीतर जवाबी हलफनामा दायर करने को कहा है।

उल्लेखनीय है कि शीर्ष अदालत ने गत 20 मार्च को दिये गए फैसले में एससी-एसटी कानून के दुरुपयोग पर चिंता जताते हुए धारा 18 के उन प्रावधानों को निरस्त कर दिया था, जिसके तहत आरोपी को तुरंत गिरफ्तार करने, तत्काल प्राथमिकी दर्ज करने और अग्रिम जमानत न देने की व्यवस्था की गयी थी।

न्यायालय ने इन प्रावधानों को निरस्त करते हुए कहा था कि एससी/एसटी अत्याचार निवारण कानून में शिकायत मिलने के बाद तुरंत मामला दर्ज नहीं होगा, पुलिस उपाधीक्षक या इस रैंक के अधिकारी पहले शिकायत की प्रारंभिक जांच करके पता लगाएगा कि मामला झूठा या दुर्भावना से प्रेरित तो नहीं है। इसके अलावा इस कानून में प्राथमिकी दर्ज होने के बाद अभियुक्त को तुरंत गिरफ्तार नहीं किया जायेगा। सरकारी कर्मचारी की गिरफ्तारी से पहले सक्षम अधिकारी और सामान्य व्यक्ति की गिरफ्तारी से पहले एसएसपी की मंजूरी ली जायेगी। इतना ही नहीं न्यायालय ने अभियुक्त की अग्रिम जमानत का भी रास्ता खोल दिया था।

न्यायालय के इस फैसले का व्यापक राजनीतिक विरोध हुआ था और विभिन्न राजनीतिक दलों ने इससे कानून के कमजोर होने की बात कही थी। उसके बाद दो अप्रैल को देश भर में विरोध-प्रदर्शन और आंदोलन हुए थे।

केंद्र सरकार ने पुनरीक्षण याचिका दायर की थी, जो अब भी न्यायालय में लंबित है, लेकिन बाद में भारी राजनीतिक दबाव के बीच सरकार ने मानसून सत्र के दौरान संसद में संशोधन विधेयक पेश किया और दोनों सदनों में यह पारित भी हो गया। राष्ट्रपति की मोहर के बाद इसे अधिसूचित भी कर दिया गया है।

संशोधन कानून के तहत धारा 18ए जोड़कर न्यायालय द्वारा निरस्त किये गये प्रावधानों को फिर से बहाल करने की कवायद की गयी है ताकि कानून को मूल स्वरूप में लाया जा सके। इसी कवायद की वैधानिकता को याचिकाकर्ताओं ने चुनौती दी है।

सुरेश.श्रवण

वार्ता

More News
एम्स में मनाया अपना 63वां स्थापना दिवस

एम्स में मनाया अपना 63वां स्थापना दिवस

25 Sep 2018 | 11:14 PM

नयी दिल्ली 25 सितंबर (वार्ता) अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान एवं चिकित्सा संस्थान (एम्स) ने मंगलवार को अपना 63वां स्थापना दिवस समारोह मनाया। इस दिन एम्स में स्नातक शिक्षण की शुरुआत की गयी थी और पहला बैच-एमबीबीएस कक्षाएं 1956 में आयोजित किया गया।नयी दिल्ली 25 सितंबर (वार्ता) अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान एवं चिकित्सा संस्थान (एम्स) ने मंगलवार को अपना 63वां स्थापना दिवस समारोह मनाया। इस दिन एम्स में स्नातक शिक्षण की शुरुआत की गयी थी और पहला बैच-एमबीबीएस कक्षाएं 1956 में आयोजित किया गया।

 Sharesee more..
नायडू ने तोड़ा प्रोटोकॉल, कतार में लग करके किये भगवान वेेेंकटेश्वर के दर्शन

नायडू ने तोड़ा प्रोटोकॉल, कतार में लग करके किये भगवान वेेेंकटेश्वर के दर्शन

25 Sep 2018 | 10:22 PM

नयी दिल्ली 25 सितम्बर (वार्ता) उप राष्ट्रपति एम वेकैंया नायडू ने प्रोटोकॉल तोड़ते हुए मंगलवार को आम नागिरकों की तरह कतार में लगकर तिरुपति तिरूमाला देवस्थानम (टीटीडी) में भगवान वेंकटश्वर के दर्शन किये।

 Sharesee more..
रक्षा और सुरक्षा क्षेत्र में सहयोग बढायेंगे भारत और मोरक्को

रक्षा और सुरक्षा क्षेत्र में सहयोग बढायेंगे भारत और मोरक्को

25 Sep 2018 | 10:07 PM

नयी दिल्ली 25 सितम्बर (वार्ता) भारत और मोरक्को ने रक्षा और सुरक्षा के क्षेत्र में द्विपक्षीय सहयोग बढाने पर सहमति व्यक्त की है।

 Sharesee more..
लाभ पद मामला: आप विधायकों का अनुरोध चुनाव आयोग ने ठुकराया

लाभ पद मामला: आप विधायकों का अनुरोध चुनाव आयोग ने ठुकराया

25 Sep 2018 | 9:59 PM

नयी दिल्ली 25 सितंबर (वार्ता) लाभ का पद मामले में फंसे आम आदमी पार्टी (आप) के 20 विधायकों को मंगलवार को उस समय तगड़ा झटका लगा जब चुनाव आयोग ने दिल्ली सरकार के अधिकारियों समेत गवाहों को तलब करने और उनसे पूछताछ करने का अनुरोध ठुकरा दिया।

 Sharesee more..
अपराधियों के चुनाव लड़ने पर रोक का कानून बनाएं, समर्थन करेंगे : कांग्रेस

अपराधियों के चुनाव लड़ने पर रोक का कानून बनाएं, समर्थन करेंगे : कांग्रेस

25 Sep 2018 | 9:44 PM

नयी दिल्ली, 25 सितम्बर (वार्ता) कांग्रेस ने कहा है कि अपराधियों को चुनावी राजनीति से दूर रखने के लिए सरकार विधेयक लाती है तो पार्टी उसका समर्थन करेगी।

 Sharesee more..
image