Friday, May 29 2020 | Time 00:40 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • महाराष्ट्र में पिछले 24 घंटों में 85 की मौत
भारत


एससी/एसटी कानून : केंद्र सरकार से जवाब तलब

एससी/एसटी कानून : केंद्र सरकार से जवाब तलब

नयी दिल्ली 07 सितम्बर (वार्ता) उच्चतम न्यायालय ने अनुसूचित जाति/ अनुसूचित जनजाति (एससी/एसटी) अत्याचार निवारण संशोधन कानून की संवैधानिक वैधता को चुनौती देने वाली याचिका की सुनवाई पर शुक्रवार को रजामंदी जता दी, हालांकि इसने फिलहाल कानून के अमल पर रोक लगाने से इन्कार कर दिया।

मुख्य न्यायाधीश दीपक मिश्रा, न्यायमूर्ति ए एम खानविलकर और न्यायमूर्ति डी वाई चंद्रचूड़ की पीठ ने वकील पृथ्वी राज चौहान और प्रिया शर्मा की याचिका सुनवाई के लिए स्वीकार तो कर ली लेकिन संशोधन कानून के अमल पर स्थगनादेश जारी करने से इन्कार कर दिया।

न्यायमूर्ति मिश्रा ने कहा, “केंद्र सरकार का पक्ष जाने बिना कानून के अमल पर रोक लगाना मुनासिब नहीं होगा।” इसके साथ ही न्यायालय ने केंद्र सरकार को नोटिस जारी करके छह सप्ताह के भीतर जवाबी हलफनामा दायर करने को कहा है।

उल्लेखनीय है कि शीर्ष अदालत ने गत 20 मार्च को दिये गए फैसले में एससी-एसटी कानून के दुरुपयोग पर चिंता जताते हुए धारा 18 के उन प्रावधानों को निरस्त कर दिया था, जिसके तहत आरोपी को तुरंत गिरफ्तार करने, तत्काल प्राथमिकी दर्ज करने और अग्रिम जमानत न देने की व्यवस्था की गयी थी।

न्यायालय ने इन प्रावधानों को निरस्त करते हुए कहा था कि एससी/एसटी अत्याचार निवारण कानून में शिकायत मिलने के बाद तुरंत मामला दर्ज नहीं होगा, पुलिस उपाधीक्षक या इस रैंक के अधिकारी पहले शिकायत की प्रारंभिक जांच करके पता लगाएगा कि मामला झूठा या दुर्भावना से प्रेरित तो नहीं है। इसके अलावा इस कानून में प्राथमिकी दर्ज होने के बाद अभियुक्त को तुरंत गिरफ्तार नहीं किया जायेगा। सरकारी कर्मचारी की गिरफ्तारी से पहले सक्षम अधिकारी और सामान्य व्यक्ति की गिरफ्तारी से पहले एसएसपी की मंजूरी ली जायेगी। इतना ही नहीं न्यायालय ने अभियुक्त की अग्रिम जमानत का भी रास्ता खोल दिया था।

न्यायालय के इस फैसले का व्यापक राजनीतिक विरोध हुआ था और विभिन्न राजनीतिक दलों ने इससे कानून के कमजोर होने की बात कही थी। उसके बाद दो अप्रैल को देश भर में विरोध-प्रदर्शन और आंदोलन हुए थे।

केंद्र सरकार ने पुनरीक्षण याचिका दायर की थी, जो अब भी न्यायालय में लंबित है, लेकिन बाद में भारी राजनीतिक दबाव के बीच सरकार ने मानसून सत्र के दौरान संसद में संशोधन विधेयक पेश किया और दोनों सदनों में यह पारित भी हो गया। राष्ट्रपति की मोहर के बाद इसे अधिसूचित भी कर दिया गया है।

संशोधन कानून के तहत धारा 18ए जोड़कर न्यायालय द्वारा निरस्त किये गये प्रावधानों को फिर से बहाल करने की कवायद की गयी है ताकि कानून को मूल स्वरूप में लाया जा सके। इसी कवायद की वैधानिकता को याचिकाकर्ताओं ने चुनौती दी है।

सुरेश.श्रवण

वार्ता

More News
कोरोना: अमित शाह ने राज्यों के मुख्यमंत्रियों से की बात

कोरोना: अमित शाह ने राज्यों के मुख्यमंत्रियों से की बात

28 May 2020 | 10:41 PM

नयी दिल्ली 28 मई (वार्ता) देश भर में कोरोना वायरस के संक्रमण के बढते मामलों के बीच केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने आज सभी राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशों के मुख्यमंत्रियों के साथ बातचीत की और मौजूदा स्थिति की समीक्षा की।

see more..
कोरोना मरीजों के स्वस्थ होने की दर 42.60 फीसदी

कोरोना मरीजों के स्वस्थ होने की दर 42.60 फीसदी

28 May 2020 | 9:55 PM

नयी दिल्ली, 28 मई (वार्ता) कोरोना वायरस ‘कोविड-19’ के पिछले कुछ समय से रोजाना छह हजार से अधिक नये मामले आने के कारण भारत इस महामारी से सबसे ज्यादा प्रभावित देशों की सूची में नौवें स्थान पर पहुंच गया है लेकिन राहत की बात यह है कि देश में संक्रमितों के स्वस्थ होने की दर बढ़कर 42.60 फीसदी हो गयी जबकि मृत्यु दर 2.85 फीसदी ही रही।

see more..
देश में कोरोना संक्रमण के नये मामले फिर बढ़े, संक्रमितों की संख्या 1.58 लाख पर

देश में कोरोना संक्रमण के नये मामले फिर बढ़े, संक्रमितों की संख्या 1.58 लाख पर

28 May 2020 | 9:54 PM

नयी दिल्ली 28 मई (वार्ता) देश में दो दिन तक कोरोना वायरस (कोविड 19) से संक्रमण के नये मामलों में आंशिक कमी के बाद पिछले 24 घंटों के दौरान एक बार फिर वृद्धि दर्ज की गयी है और 6566 नये मामलों के साथ संक्रमितों की कुल संख्या 1,58,333 पर पहुंच गयी तथा इस अवधि में 194 लोगों की मौत के साथ मृतकों का आंकड़ा 4531 पर पहुंच गया है।

see more..
देश में कोरेाना वैक्सीन को विकसित करने के प्रयास जारी:राघवन

देश में कोरेाना वैक्सीन को विकसित करने के प्रयास जारी:राघवन

28 May 2020 | 9:46 PM

नयी दिल्ली,28 मई(वार्ता) प्रधानमंत्री के प्रधान वैज्ञानिक सलाहकार प्रोफेसर के़ विजय राघवन ने कहा है कि देश में इस समय 30 वैज्ञानिक समूह, उद्योग जगत से जुड़ी इकाइयां और व्यक्तिगत पैमाने पर कोरोना वैक्सीन को विकसित करने के प्रयास किए जा रहे हैं और लगभग 20 समूहाें की इस क्षेत्र में अच्छी प्रगति जारी है।

see more..
शाही लीची तैयार, जल्द देगी बाजार में दस्तक

शाही लीची तैयार, जल्द देगी बाजार में दस्तक

28 May 2020 | 9:46 PM

नयी दिल्ली 28 मई ( वार्ता) राष्ट्रीय लीची अनुसंधान केन्द्र मुज़फ़्फ़रपुर ने कहा है कि शाही लीची अब अपने गुणवत्ता के अनुरूप तैयार हो गई है और किसानों को इसे तोड़कर बाजार में लाना शुरू कर देना चाहिए ।

see more..
image