Saturday, Jun 15 2024 | Time 00:51 Hrs(IST)
image
भारत


उच्चतम न्यायालय ने ईवीएम-वीवीपैट पर चुनाव आयोग से मांगा स्पष्टीकरण

उच्चतम न्यायालय ने ईवीएम-वीवीपैट पर चुनाव आयोग से मांगा स्पष्टीकरण

नई दिल्ली, 24अप्रैल (वार्ता) उच्चतम न्यायालय ने इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) के माध्यम से पडे़ मतों के साथ वोटर वेरिफिएबल पेपर ऑडिट (वीवीपैट) की पर्चियों की गिनती 100 फीसदी तक बढ़ाने की याचिका पर बुधवार को चुनाव आयोग से कई स्पष्टीकरण देने के साथ ही यह भी बताने को कहा कि क्या माइक्रो कंट्रोलर एक बार प्रोग्राम करने योग्य है?

न्यायमूर्ति संजीव खन्ना और एस वी एन भट्टी की पीठ ने चुनाव आयोग से आज दो बजे से पहले ईवीएम-वीवीपैट से संबंधित कई तथ्य स्पष्ट करने को कहा।पीठ ने अतिरिक्त सॉलिसिटर जनरल ऐश्वर्या भाटी और अन्य वकील से कहा, "हम बस कुछ स्पष्टीकरण चाहते थे।" शीर्ष अदालत ने यह जानना चाहा कि क्या कंट्रोल यूनिट या वीवीपैट में माइक्रो कंट्रोलर स्थापित है।

पीठ ने चुनाव आयोग से पूछा, "हमें लगा कि नियंत्रण इकाई में मेमोरी स्थापित है। हमें बताया गया कि वीवीपैट में फ्लैश मेमोरी है। क्या माइक्रो कंट्रोलर एक बार प्रोग्राम करने योग्य है। हमें बस इसकी पुष्टि कर दें।" शीर्ष अदालत ने यह भी जानना चाहा कि चुनाव आयोग के पास कितनी प्रतीक लोडिंग इकाइयां उपलब्ध थीं।

पीठ ने ईवीएम के डेटा को बरकरार रखने की समय सीमा भी जानना चाहा। पीठ ने चुनाव आयोग की ओर से पेश अतिरिक्त सॉलिसिटर जनरल भाटी और वरिष्ठ अधिवक्ता मनिंदर सिंह से पूछा, "आपने कहा कि चूंकि चुनाव याचिका दायर करने की सीमा 30 दिन है। इसलिए ईवीएम में डेटा 45 दिनों तक संग्रहित रहता है, लेकिन लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम की धारा 81 के अनुसार, उस सीमा की अवधि 45 दिन है। ऐसे में ईवीएम में डेटा रखने का समय बढ़ाना होगा।'

पीठ ने कहा, "हम इस बारे में आश्वस्त होना चाहते थे। यदि सीमा अवधि 45 दिन है तो इसे (ईवीएम सुरक्षित करने की अवधि) 60 दिन करें।"

याचिकाकर्ताओं के अधिवक्ता की ओर से सोर्स कोड का मुद्दा भी उठाने पर पीठ ने कहा, 'सोर्स कोड का खुलासा कभी नहीं किया जाना चाहिए। लोग इसका दुरुपयोग करने की कोशिश करेंगे।' याचिकाएं एनजीओ एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स और अन्य द्वारा दायर की गई हैं।

बीरेंद्र.साहू

वार्ता

More News
नड्डा ने दिया स्वास्थ्य सुविधाओं की गुणवत्ता पर जोर

नड्डा ने दिया स्वास्थ्य सुविधाओं की गुणवत्ता पर जोर

14 Jun 2024 | 9:25 PM

नयी दिल्ली 14 जून (वार्ता) केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री जगत प्रकाश नड्डा ने शुक्रवार को कहा कि स्वास्थ्य सुविधाओं और स्वास्थ्य प्रणालियों की गुणवत्ता तथा इनका दायरा बढ़ाने पर जोर दिया जाना चाहिए।

see more..
ट्रेनों में स्लीपर, जनरल कोच बढ़ाएगी रेलवे,

ट्रेनों में स्लीपर, जनरल कोच बढ़ाएगी रेलवे,

14 Jun 2024 | 8:00 PM

नयी दिल्ली 14 जून (वार्ता) रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने गर्मियों के सीज़न में यात्रियों को होने वाली दिक्कतों को गंभीरता से लेते हुए रेलवे के वरिष्ठ अधिकारियों को पांच मोर्चों पर युद्धस्तर पर काम करने के निर्देश दिये हैं जिनमें ट्रेनों में गैरवातानुकूलित स्लीपर एवं अनारक्षित श्रेणी के कोचों की संख्या बढ़ाना और वातानुकूलित कोचों में एयर कंडीशनिंग प्रणाली के खराब होने की शिकायतों को दूर करना शामिल है।

see more..
नयी दिल्ली स्टेशन के पुनर्विकास की तैयारी, बनेगा एमएमटीएच

नयी दिल्ली स्टेशन के पुनर्विकास की तैयारी, बनेगा एमएमटीएच

14 Jun 2024 | 8:00 PM

नयी दिल्ली 14 जून (वार्ता) देश की राजधानी के मुख्य रेलवे स्टेशन नयी दिल्ली स्टेशन के पुनर्विकास की उलझी हुई गुत्थी सुलझती हुई दिख रही है।

see more..
दिल्ली की जनता को सजा दे रही हरियाणा की भाजपा सरकार : संजय

दिल्ली की जनता को सजा दे रही हरियाणा की भाजपा सरकार : संजय

14 Jun 2024 | 8:00 PM

नयी दिल्ली, 14 जून (वार्ता) आम आदमी पार्टी (आप) के वरिष्ठ नेता एवं राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने कहा कि यहाँ के लोगों ने भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के सातों सांसद जिताए हैं इसके बाद भी हरियाणा की भाजपा सरकार दिल्ली के लोगों को सजा दे रही है।

see more..
कृत्रिम बुद्धिमत्ता पर आधारित टूल ‘दिव्य दृष्टि’ करेगा चेहरे की पहचान

कृत्रिम बुद्धिमत्ता पर आधारित टूल ‘दिव्य दृष्टि’ करेगा चेहरे की पहचान

14 Jun 2024 | 8:00 PM

नयी दिल्ली 14 जून (वार्ता) रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) की प्रतियोगिता जीतने वाली एक महिला उद्यमी ने चेहरे की पहचान के लिए कृत्रिम बुद्धिमत्ता का इस्तेमाल करते हुए एक टूल ‘ दिव्य दृष्टि’ विकसित किया है।

see more..
image