Thursday, Jan 24 2019 | Time 16:34 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • क्षेत्र में घना कोहरा ,पाला तथा शीतलहर की संभावना
  • गणतंत्र दिवस के मौके पर एनटीपीसी की सुरक्षा बढ़ायी गयी
  • आसिया मामले में समीक्षा याचिका पर 29 जनवरी को सुनवाई
  • नडाल पांचवीं बार ऑस्ट्रेलियन ओपन के फाइनल में
  • जाधव ने भाजपा में शामिल होने से इन्कार किया
  • चिकित्सक के लापता भतीजे का शव बरामद
  • जयंती के मौके पर याद किये गये कर्पूरी ठाकुर
  • रॉकिंगडील्स की स्पाइस हॉटस्पॉट रिटेल के साथ साझेदारी
  • केदारनाथ कस्तूरी मृग अभ्यारण्य में मंदिरों को शामिल करने के मामले में केन्द्र से मांगा जवाब
  • मैसी सर्वकालिक सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी: गार्सिया
  • चंदा के खिलाफ सीबीआई ने किया मुकदमा दर्ज, चार जगह छापे
  • असम के तीन व्याख्याता सड़क हादसे के शिकार
  • शोपियां में दूसरे दिन भी रहा जनजीवन प्रभावित
  • सिंधू और श्रीकांत क्वार्टरफाइनल में
  • बॉलीवुड अभिनेता यशपाल शर्मा बनाएंगे कवि पं0 लख्मी चंद की बायोपिक
खेल Share

विकास, अमित और धीरज पदक से एक कदम दूर

विकास, अमित और धीरज पदक से एक कदम दूर

जकार्ता, 27 अगस्त (वार्ता) भारत की सबसे बड़ी पदक उम्मीद विकास कृष्णन,अमित और धीरज ने शानदार प्रदर्शन करते हुए सोमवार को 18वें एशियाई खेलों की मुक्केबाजी प्रतियोगिता के क्वार्टरफाइनल में प्रवेश कर लिया जबकि मोहम्मद हुसामुद्दीन को नजदीकी हार का सामना करना पड़ा।

विकास ने 75 किग्रा के मिडलवेट वर्ग में पाकिस्तान के तनवीर अहमद को 5-0 से धो दिया। पांचों जजों ने 30-27 के समान स्कोर के साथ भारतीय मुक्केबाज़ के पक्ष में फैसला सुनाया। विकास का क्वार्टरफाइनल में बुधवार को चीन के एर्बिके तैंगलातिहान से मुकाबला होगा।

अमित ने 49 किग्रा लाइटवेट वर्ग में मंगोलिया के एंखमंदाख खारखू को 5-0 से पराजित किया। अमित के पक्ष में तीन जजों ने 30-26 से और दो जजों ने 30-25 से फैसला सुनाया। अमित क्वार्टरफाइनल में उत्तर कोरिया के रयोंग जांग किम से भिड़ेंगे।

धीरज ने 64 किग्रा वेल्टरवेट वर्ग में किर्गिस्तान के नुरलान कोबाशेव को 3-0 से हराया। तीन जजों ने भारतीय मुक्केबाज के पक्ष में 29-27 से फैसला दिया जबकि दो जजों का निर्णय 28-28 से बराबर रहा। धीरज का अगला मुकाबला मंगोलिया के चिंजोरिग बतारसुख से होगा।

हुसामुद्दीन को 56 किग्रा बेंटमवेट वर्ग में मंगोलिया के एंख-एमर खार्खू से 2-3 से हार का सामना करना पड़ा। दो जजों ने भारतीय मुक्केबाज के पक्ष में 30-27 से फैसला दिया लेकिन तीन जजों ने मंगोलियाई मुक्केबाज के पक्ष में निर्णय दिया जिससे वह विजेता बन गए।

भारत ने इन एशियाई खेलों में 10 मुक्केबाज उतारे थे जिनमें से चार क्वार्टरफाइनल में पहुंच चुके हैं। इन खेलों में पहली बार हिस्सा ले रहीं सरजूबाला देवी 51 किग्रा फ्लाईवेट वर्ग के क्वार्टरफाइनल में पहुंच चुकी हैं। मनोज कुमार शिवा थापा और गौरव सोलंकी हार कर बाहर हो चुके हैं।

 

image