Thursday, Feb 27 2020 | Time 17:13 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • न्यायाधीश के तबादले पर राहुल-प्रियंका ने सरकार पर साधा निशाना
  • रिम्स में ही चलेगा लालू का इलाज, एम्स के नेफ्रोलॉजिस्ट से ली जाएगी सलाह
  • विवाह समारोह में आये मेहमानों को भेंट किए गये पौधे
  • अक्षम लोगों के हाथ में अधिकार स्मार्ट सिटी मिशन का सबसे बड़ा दोष :मंडलायुक्त
  • बैंक सुरक्षा गार्ड गुलदार की खाल के साथ गिरफ्तार
  • वार्नर सनराइजर्स हैदराबाद के फिर कप्तान नियुक्त
  • वार्नर सनराइजर्स हैदराबाद के फिर कप्तान नियुक्त
  • असुद्दीन ओवैसी की भिवंडी में होने वाली रैली रद्द
  • गडकरी के ‘बुलडाणा पैटर्न’ से खुशहाल किसान, थमी आत्महत्या
  • एयरटेल पेमेंट्स बैंक के 2 50 लाख बैंकिंग केन्द्रों पर एईपीएस भुगतान शुरू
  • जलवायु परिवर्तन, कुपोषण के मद्देनजर फसलों की 250 किस्में विकसित: महापात्रा
  • दो परिवारों के बीच 40 साल से चली आ रही रंजिश को महापंचायत ने खत्म करवाया
  • इटावा में महिला और दो चचेरे भाईयों समेत तीन लोगों की ट्रेन से कटकर मौत
  • लगातार पाँचवें दिन टूटे बाजार, निफ्टी चार माह के निचले स्तर पर
राज्य » मध्य प्रदेश / छत्तीसगढ़


घंटानाद आंदोलन के दौरान भाजपा प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह गिरफ्तार

घंटानाद आंदोलन के दौरान भाजपा प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह गिरफ्तार

भोपाल, 11 सितंबर (वार्ता) भारतीय जनता पार्टी की मध्यप्रदेश इकाई की ओर से आज राज्य के विभिन्न जिलों में चलाए गए घंटानाद आंदाेलन के दौरान पार्टी की प्रदेश इकाई के अध्यक्ष राकेश सिंह समेत कई नेताओं और कार्यकर्ताओं को राजधानी भोपाल में पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया।

श्री सिंह समेत पार्टी के बहुत से पदाधिकारी और कार्यकर्ता भोपाल में कलेक्ट्रेट कार्यालय पर प्रदर्शन करने जा रहे थे। इसी दौरान उन्हें और पार्टी के विधायकों, पदाधिकारियों और अन्य कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार कर लिया गया। सभी को केंद्रीय जेल ले जाया गया।

पार्टी आज राज्य के सभी जिलों में घंटानाद आंदोलन कर रही है। इसके पहले पार्टी के बहुत से कार्यकर्ता ढोल-मंजीरे बजाते हुए भोपाल कलेक्ट्रेट पहुंचे। पार्टी कार्यकर्ता आरोप लगा रहे थे कि सरकार 'कुंभकर्णी' नींद में सो रही है और इसीलिए भाजपा कांग्रेस सरकार को जगाने के लिए आंदोलन कर रही है।

पार्टी के आंदोलन के मद्देनजर पुलिस ने कलेक्ट्रेट कार्यालय के चारों ओर कड़ी सुरक्षा करते हुए बैरीकेड लगा दिए थे, ताकि कार्यकर्ता प्रतिबंधित क्षेत्र में नहीं पहुंच पाए।

गरिमा

वार्ता

image