Monday, Jul 6 2020 | Time 18:43 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • तमिलनाडु में कोरोना मामले 114000 के पार,1571 की मौत
  • केंद्रीय कर बोर्ड के विलय की खबर का सरकार ने किया खंडन
  • कोरोना के कारण सूना पड़ा कांवरिया पथ, बरसों पुरानी परम्परा टूटी
  • तमिलनाडु में कोरोना के 3827 नये मामले, 61 और की मौत
  • तमिलनाडु में कोरोना मामले 1 14 लाख के पार, 1571 की मौत
  • सौराष्ट्र और कच्छ में बहुत तेज बारिश के आसार
  • अपनी गलतियों को नहीं दोहराना ही महत्वपूर्ण: गहलोत
  • वंदे भारत मिशन के तहत 25 विमानों का संचालन कर रहा है स्पाइसजेट
  • उत्तराखंड स्कूल फीस: हाईकोर्ट के आदेश में हस्तक्षेप से ‘सुप्रीम’ इनकार
  • दुधारू पशु वितरण कर मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना शुरू
  • दलाई लामा को ‘भारत-रत्न’ तथा तिब्बतियाें को तिब्बत वापिस मिले: कपूर
  • प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना में गड़बड़ी पर डीएसओ जिम्मेवार होंगे: त्रिवेंद्र
  • उत्तरप्रदेश में महिलाओं के खिलाफ अपराध बढ़ें: प्रियंका
  • स्वामित्व योजना में हरियाणा,महाराष्ट्र के अनुभव भी शामिल करें : सिंह
States » Other states


सीएए के खिलाफ प्रदर्शन तेज किया जाएगा : ममता

सीएए के खिलाफ प्रदर्शन तेज किया जाएगा : ममता

कोलकाता, 14 जनवरी (वार्ता) पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा है कि नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) और राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (एनआरसी) के खिलाफ विरोध प्रदर्शन 22 जनवरी से तेज किया जाएगा।
सुश्री बनर्जी ने सीएए और एनआरसी के खिलाफ यहां रानी राशमोनी रोड पर चार दिनों से धरना पर बैठी तृणमूल कांग्रेस छात्र परिषद को संबोधित करते हुए सोमवार को यह बात कही। मुख्यमंत्री ने कहा कि वह पहाड़ से इसके खिलाफ विरोध की शुरुआत करेंगी।
सुश्री बनर्जी ने कहा,“मैं सभी लोगों से प्रार्थना करती हूं कि वे इस क्रूर कानून के खिलाफ सड़क पर उतर कर प्रदर्शन करें। यह आंदोलन हर ब्लॉक से हो और इसके खिलाफ रैलियां आयोजित की जाएं। सभी मोदी विरोधी लोग एकजुट होकर रैलियां निकालें और इसके खिलाफ आवाज बुलंद करें। हम तब तक शांत नहीं बैठेंगे जब तक सीएए और एनआरसी को वापस नहीं लिया जाता है।”
उन्होंने कहा, “हम पहले राजनीतिक दल हैं जिन्होंने सीएए और एनआरसी के खिलाफ आवाज उठायी। हमने इसके खिलाफ रैलियां की जिसमें हजारों लोगों ने भाग लिया। आगे और रैलियां आयोजित की जाएंगी। जो लोगों को उकसा रहे हैं और ऐसे में कुछ अप्रिय घटना होती है तो वे इसके जिम्मेदार होंगे।”
मुख्यमंत्री ने कहा,“कुछ राजनीतिक दल ऐसे हैं जो रैलियां नहीं निकालते लेकिन प्रति वर्ष हड़ताल करते हैं। अगर आप वाकई गंभीर होकर राजनीति करना चाहते हैं तो रैलियां निकालें और सड़क पर उतरकर प्रदर्शन करें। मैं हिंसा की राजनीति में भरोसा नहीं करती।”
सुश्री बनर्जी ने कहा,“देश की आर्थिक हालत बदतर होती जा रही है। लोग अपनी नौकरियां खो रहे हैं। देश में बेरोजगारी बढ़ रही है लेकिन इस मामले को लेकर कोई कदम नहीं उठाए जा रहा है। लेकिन भारतीय जनता पार्टी लोगों को भ्रमित रही है।”
छात्र परिषद के सदस्यों को प्रोत्साहन देते हुए उन्होंने कहा,“मुझे पूरा विश्वास है कि यह युवा लड़के लड़कियां देश का नेतृत्व कर सकते हैं। इन लोगों के पास आत्मविश्वास है और एकजुट भारत का सपना है जहां धर्म के आधार पर कोई भेदभाव नहीं है।”
मुख्यमंत्री ने घोषणा की कि धरना जारी रहेगा और वह लगातार इन लोगों का आत्मविश्वास बढ़ाने यहां आती रहेंगी। सुश्री बनर्जी ने कहा,“ आप लोग हिंसा में कभी शामिल नहीं हों, देश को एकजुट करने के लिए मिलकर काम करें ,इससे देश में शांति एवं समृद्ध आयेगी।”
शोभित आशा
वार्ता

More News
प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना में गड़बड़ी पर डीएसओ जिम्मेवार होंगे: त्रिवेंद्र

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना में गड़बड़ी पर डीएसओ जिम्मेवार होंगे: त्रिवेंद्र

06 Jul 2020 | 6:24 PM

देहरादून 06 जुलाई(वार्ता) उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना का लाभ पात्र व्यक्तियों तक पहुंचाना सुनिश्चित करने के निर्देश देते हुए कहा कि इसमें किसी भी तरह की गड़बड़ी पाए जाने पर संबंधित जिला पूर्ति अधिकारी (डीएसओ) की जिम्मेवारी तय की जाएगी।

see more..
image