Friday, Aug 12 2022 | Time 21:49 Hrs(IST)
image
राज्य » राजस्थान


राजस्थान में इस बार युवा केन्द्रित बजट पेश करने के होंगे प्रयास-गहलोत

राजस्थान में इस बार युवा केन्द्रित बजट पेश करने के होंगे प्रयास-गहलोत

जयपुर 28 जून (वार्ता) राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा है कि उनकी सरकार राज्य में युवाओं को रोजगार देने एवं उन्हें आगे लाने तथा प्रोत्साहित करने के लिए कई कदम उठाये हैं और इस बार बजट में युवा केन्द्रित बजट पेश करने के प्रयास किये जायेंगे।

श्री गहलोत राजीव गांधी यूथ एक्सीलेंस सेंटर के शिलान्यास कार्यक्रम में आज यहां यह बात कही। उन्होंने कहा कि राज्य में युवाओं से संवाद किया जा रहा है और उनसे सुझाव भी लिए जा रहे हैं। नौजवानों के लिए योजनाएं बनी हुई हैं। उन्होंने कहा कि सरकार ने पिछले बजट में किसानों के लिए अलग से बजट पेश किया गया। उन्होंने कहा कि वह अलग से बजट की बात तो नहीं करते लेकिन इस बार बजट में युवा केन्द्रित बजट पेश करने का प्रयास किया जायेगा।

उन्होंने कहा कि राजस्थान में भर्तियों में केवल राज्य के लोगों के लिए ही आरक्षण कर देने के मामले पर चर्चा करते हुए कहा कि कुछ राज्यों में इस तरह की शुरुआत की गई हैं और अपने बच्चों को ही भर्ती किया जायेगा लेकिन यह उच्चत्तम न्यायालय की भावना के अनुरुप नहीं बताया जा रहा है। उन्होंने कहा कि वह इस बारे में परीक्षण करा रहे हैं और निश्चित रहो कि अगर इस तरह का हो सकता है तो राजस्थान भी इसमें पीछे नहीं रहेगा।

उन्होंने कहा कि चाहे गरीब हो या अमीर सबको आगे बढ़ने का मौका मिलना चाहिए। राज्य के दो सौ बच्चे दुनियां के किसी भी हिस्से में पढ़ने जायंगे और इसका पूरा खर्चा राज्य सरकार उठायेगी, इस तरह का फैसला हमने ले रखा है। उन्होंने कहा कि कोचिंग का जमाना है और कोटा में 20-25 साल से कोचिंग पढ़ा रहे है उसके बाद राज्य में कोचिंग का रिवाज बन गया और जयपुर में हाउसिंग बोर्ड में कोचिंग का बड़ा हब बनाने जा रहा हैं। राजस्थान में राज्य सरकार ने 15 हजार बच्चों की कोचिंग फ्री कराने की गांरटी ली है। परीक्षाओं के लिए अभ्यर्थियों को रोडवेज में फ्री किया गया है,

इस प्रकार अनेकों काम हाथ मे लिए गये हैं।

उन्होंने कहा कि दिल्ली में राज्य के 500 विद्यार्थियों के लिए कोचिंग और काम के लिए बेरोजगारों के लिए रहने के लिए तीन सौ करोड़ की लागत से भवन बनाने का काम जल्दी शुरु किया जायेगा। सरकार युवा एवं खिलाड़ियों को प्रोत्साहन दे रही है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य में ग्रामीण ओलंपिक खेल हो रहे हैं। इसमें 26 लाख नौजवानों का पंजीकरण कराया गया है जो दुनियां में रिकार्ड बनेगा कि राजस्थान के हर गांव में खेलों का आयोजन हो रहा है। जो प्रतिभा गांव में छिपी हुई है वे इसके माध्यम से आगे आ पायेगी। उन्होंने कहा कि गर्व की बात है कि वह पहली बार मुख्यमंत्री बना तब कम लड़कियां पढ़ती थी लेकिन आज लड़िकयां पढ़ने में बाजी मार रही है। उन्होंने कहा कि सरकार नौकरियां देने में भी कोई कमी नहीं रख रही है और एक लाख 25 हजार बेरोजगारों को नौकरी दे दी गई हैं और एक लाख के लिए प्रक्रिया चल रही है और एक लाख की घोषणा की हुई हैं। इस प्रकार करीब तीन लाख नौकरियां देने, प्रक्रिया एवं घोषणा आदि हो चुकी है। उन्होंने कहा कि इससे सोचा जा सकता हैं कि सरकार की सोच क्या है।

जोरा

वार्ता

image