Wednesday, Oct 28 2020 | Time 10:21 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • बिहार में विधानसभा की 71 सीटों पर अबतक पड़े 6 74 प्रतिशत वोट
  • कश्मीर में दो आतंकवादी मारे गये
  • औरंगाबाद में दो आईईडी बरामद
  • कोरोना की जांच का आंकड़ा साढ़े दस करोड़ के पार
  • फ्रांस में कोरोना से 523 और लोगों की मौत, 33,417 नये मामले
  • राहुल ने की महागठबंधन के पक्ष में वोट डालने की अपील
  • मतदाता कोविड-19 संबंधी सावधानियों के साथ मतदान करें: नड्डा
  • मराठवाड़ा क्षेत्र में कोरोना के 430 नए मामले, 15 लोगों की मौत
  • मोदी की बिहार मतदाताओं से कोविड-19 की सावधानी बरतने की अपील
  • आज का इतिहास (प्रकाशनार्थ 29 अक्टूबर)
  • नाइजीरिया में सड़क हादसा, 13 लोगों की मौत
  • पेट्रोल-डीजल के दाम लगातार 26 वें दिन स्थिर
  • ईरान भूमिगत परमाणु सुविधा का कर रहा है निर्माण : आईएईए
  • बुल्गारिया में कोरोना मामलों में वृद्धि, विश्वविद्यालय और नाइट क्लब होंगे बंद
  • बिहार में पहले चरण की 71 विधानसभा सीट के लिए मतदान शुरू
राज्य » मध्य प्रदेश / छत्तीसगढ़


विदिशा जिले के पांच ग्रामों में 260 लोगों को सुरक्षित निकाला गया

विदिशा, 30 अगस्त (वार्ता) मध्यप्रदेश के विदिशा जिले में अतिवृष्टि से नेवन नदी में उफान आने के कारण पांच गांवों के 260 ग्रामीमों को रेस्क्यू ऑपरेशन चलाकर सुरक्षित निकाला गया है।
आधिकारिक जानकारी के अनुसार अतिवृष्टि से पांच ग्रामों हुस्नापुरा, पांझ, लालाखेडी, अहमदनगर एवं ठर्र ग्राम में जलभराव हो जाने के कारण इन ग्रामों के 260 व्यक्तियों को सुरक्षित निकाला गया और उन्हें सुरक्षित स्थलों में पहुंचाया गया। कलेक्टर डॉ पंकज जैन ने बाढ़ प्रभावितों के ठहरने के लिए बनाए गए राहत शिविरों में पहुंचकर व्यवस्थाओं का जायजा लिया और आवश्यक निर्देश दिए।
कलेक्टर ने एसडीएम गोपाल सिंह वर्मा को निर्देश दिए कि प्रभावितो को राहत शिविर में ठहराने के दौरान किसी भी प्रकार की तकलीफ ना हो का विशेष ध्यान रखा जाएं। उन्होंने शिविर में चिकित्सक की उपस्थिति सुनिश्चित कराते हुए सभी के लिए भोजन, पीने के लिए पानी तथा बिस्तर एवं अन्य वस्त्रों के संबंध में आवश्यक निर्देश देते हुए पूर्ति सुनिश्चित कराई है।
एसडीएम विदिशा ने बताया कि विदिशा अनुविभाग क्षेत्र में बाढ़ एवं अतिवृष्टि के कारण 17 ग्रामों में पानी भर गया है, जिसमें पांच ग्रामों के लोग पानी से घिर जाने के कारण उन सभी को रेस्क्यू आपरेशन करते हुए होमगार्ड की सहायता से वोटो के माध्यम से सुरक्षित स्थलों पर लाया गया। तत्पश्चात राहत शिविरों में पहुंचाने के लिए वाहनो तथा बसों के माध्यम से भेजा गया है। विदिशा जिला प्रशासन द्वारा बाढ पीड़ितों के लिए तमाम बुनियादी आवश्यकताओं की पूर्ति सुनिश्चित कराई गई है।
उधर, जिले की तहसील कुरवाई में बेतवा नदी का पानी पुल की सतह के ऊपर से बह रहा है। इस कारण से दोनो तरफ बेरिकेट्स लगाए गए हैं। जिले के सीमावर्ती सागर जिले की तहसील बीना के तरफ से आने वाले वाहनों को ग्राम लायरा में तथा विदिशा सिरोंज की तरफ से आने वाले वाहनो को मेहलुआ चौराहे पर रोका गया है। अभी बेतवा नदी खतरे से पांच फीट नीचे बह रही है। प्रशासन ने सुरक्षा के तमाम इंतेजाम किए हैं।
सं बघेल
वार्ता
image