Saturday, Oct 31 2020 | Time 18:54 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • बरेली पुलिस ने पांंच तस्कर किए गिरफ्तार,22 लाख की शराब बरामद
  • युवक कांग्रेस का किसान सत्याग्रह
  • झांसी: धूमधाम से मनायी गयी सरदार पटेल और महर्षि वाल्मीकि जयंती
  • प्रदेश के लोगों के अधिकारों का हनन जारी : तारिगामी
  • हरियाणा में आशा वर्करों से सम्बंधित नियमों में आमूलचूल परिवर्तन
  • दिल्ली की लगातार चौथी हार, प्लेऑफ का इंतजार बढ़ा
  • दिल्ली की लगातार चौथी हार, प्लेऑफ का इंतजार बढ़ा
  • दिल्ली का निराशाजनक प्रदर्शन, 9/110
  • नैनी रेलवे स्टेशन से पहली बार बांग्लादेश भेजा गया गेहूं
  • चार लाख सुपारी देकर कराई गई पार्षद धामी की हत्या
  • आंध्र में कोरोना के सक्रिय मामलों में फिर से गिरावट
  • दिल्ली की लगातार चौथी हार, प्लेऑफ का इंतजार बढ़ा
राज्य » राजस्थान


बाहर के लोगों का हिंसा करना गुप्तचर प्रणाली की असफलता है - पूनियां

जयपुर, 27 सितंबर (वार्ता) राजस्थान में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के प्रदेशाध्यक्ष डाॅ. सतीश पूनियां ने डूंगरपुर में हिंसा की घटना पर चिंता जताते हुए कहा कि दक्षिणी राजस्थान में विगत तीन चार दिनों से जो घटनाएं हुई हैं, वे राजस्थान सरकार की गुप्तचर प्रणाली की असफलता है।
डाॅ. पूनियां ने आज जारी बयान में कहा कि प्रशासन स्वीकार कर रहा है कि झारखंड एवं आस-पास के लोगों ने यहां अशांति फैलाई है। कानून व्यवस्था को हाथ में लेकर उपद्रव करके सद्भाव बिगाड़ने की कोशिश करने की घटनायें चिंताजनक हैं। बाहरी तत्व आकर सरकार की नाक के नीचे प्रदेश की शांति व्यवस्था को बिगाड़ रहे हैं।
उन्होंने कहा कि ऐसा लगता है कि राज्य सरकार का इकबाल खत्म हो गया है, कोई भी लोक कल्याणकारी सरकार लोगों की सुरक्षा की जानमाल की गारंटी देती है, उनको भरोसा देती है, लेकिन शायद अशोक गहलोत की सरकार की कानून व्यवस्था प्राथमिकता नहीं है। डा़ पूनियां ने कहा कि कई दिनों से यह आंदोलन चल रहा था। सरकार को या तो इसकी जानकारी नहीं थी या तो कोई संवाद नहीं था। बाहर से जिस तरीके से अराजक तत्व आये और घटनाओं को अंजाम दिया, यह दुर्भाग्यपूर्ण एवं प्रदेश के लिये चिंताजनक भी है, सरकार सुनिश्चित करे कि भविष्य में इस तरीके की पुनरावृति न हो।
डाॅ. पूनियां ने ट्वीट किया कि पहले आशंका थी, अब प्रशासन ने भी पुष्टि कर दी है। ये बाहरी तत्व कौन हैं? झारखंड से आए, कुछ चले गए, कुछ अब भी छुपे हैं, जो हमारे आदिवासी क्षेत्रों में शांति और सदभाव को बिगाड़ने का कुत्सित प्रयास कर रहे हैं। हालांकि वे सफल नहीं होंगे, लेकिन उनको जल्द बेनकाब करना चाहिए।
सुनील
वार्ता
More News
कोटा में कपास के गोदाम में आग से करोड़ों का नुकसान

कोटा में कपास के गोदाम में आग से करोड़ों का नुकसान

31 Oct 2020 | 5:58 PM

कोटा, 31 अक्टूबर (वार्ता) राजस्थान में कोटा-झालावाड़ मार्ग पर आलनिया माता जी के मंदिर के पास एक ऑयल मिल के गोदाम में रखी कपास की बोरियों में आग लग जाने से करोड़ों रुपए का नुकसान होने का अनुमान है।

see more..
image