Wednesday, Sep 19 2018 | Time 19:03 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • बासमती पर कीटनाशकों का प्रयोग नहीं करें
  • अटल बीमित व्यक्ति कल्याण योजना की पात्रता में ढील
  • दिल्ली में काबुली सिखों की जनसंख्या 35 हजार से ज्यादा: डॉ रूप सिंह
  • मलेशिया में अवैध शराब के सेवन से 21 लोगों की मौत, कई बीमार
  • पायलट कार्तिक की मौत की उच्च स्तरीय जांच हो: कार्तिक
  • भीमा कोरेगांव मामले में गुरुवार को भी जारी रहेगी सुनवाई
  • शिअद चुनाव में गड़बड़ी के खिलाफ जायेगी अदालत में
  • सुल्तान जोहोर कप में मनदीप संभालेंगे भारतीय कप्तानी
  • सुल्तान जोहोर कप में मनदीप संभालेंगे भारतीय कप्तानी
  • सफाईकर्मी की मौत ने खोली ‘स्वच्छ भारत’ की पोल : राहुल
  • सोया तेलों, गेहूँ में नरमी, चना, चना दाल मजबूत
  • नहीं बढ़े पेट्रोल-डीजल के दाम
  • नीर निर्मल योजना के तहत मुफ्त मिलेगा नल का कनेक्शन : सुशील
  • छोटे कारोबार के विकास के लिये सरकार प्रतिबद्ध: गिरिराज
  • पाकिस्तान रेंजर्स की अकारण फायरिंग में बीएसएफ जवान शहीद
राज्य Share

चुनाव प्रचार के दौरान राममंदिर मुद्दे से दूरी बना सकती है भाजपा

चुनाव प्रचार के दौरान राममंदिर मुद्दे से दूरी बना सकती है भाजपा

लखनऊ 03 सितम्बर (वार्ता) चुनाव के दौरान अक्सर अयोध्या में राममंदिर निर्माण की वकालत करने वाली भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) अागामी लोकसभा चुनाव में जनभावनाओं से जुड़े इस संवेदनशील मुद्दे से दूरी बना सकती है।

पार्टी सूत्रों ने सोमवार को बताया कि रामजन्मभूमि मसला उच्चतम न्यायालय में होने के चलते भाजपा आलाकमान

चुनाव प्रचार में इस मामले से परहेज करेगी। पार्टी को उम्मीद है कि न्यायालय का फैसला मंदिर के पक्ष में होगा।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गोरखपुर में रविवार को एक कार्यक्रम के दौरान कहा था कि राम मंदिर निर्माण प्रभु राम की इच्छा पर निर्भर करता था। इस दौरान उन्होने इशारा किया था कि मंदिर मुद्दे पर उनकी दवाब बनाने की कोई योजना नही है। दूसरी ओर प्रदेश के सिंचाई मंत्री धर्मपाल सैनी राममंदिर भाजपा के एजेंडे में होने की अटकलों को सिरे से खारिज कर चुके हैं।

श्री सैनी ने रविवार को एटा में पत्रकारों से कहा था कि राममंदिर पार्टी का एजेंडा नही है। हर बार पार्टी अपने एजेंडे में विकास के मुद्दे को तरजीह देती है और इस बार भी इसी को तवज्जो दी जायेगी। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी भी साफ कर चुके है कि विकास ही एकमात्र मुद्दा होगा।

हाल ही में सूबे के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा था कि राममंदिर निर्माण का समाधान यदि अदालत से नही निकलता है तो उस दशा में भाजपा विधायिका के जरिये मसले के हल का प्रयास कर सकती है हालांकि बाद में उन्होने अपने बयान को वापस ले लिया था।

इस बीच संत समाज और हिन्दूवादी संगठन मंदिर निर्माण को लेकर केन्द्र सरकार पर दवाब बनाये हुये है। अंतर्राष्ट्रीय हिन्दू परिषद के अध्यक्ष प्रवीण तोगडियाने इस सिलसिले में 21 अक्टूबर से लखनऊ से अयोध्या मार्च करने की घोषणा की है। श्री तोगडिया का कहना था कि सरकार द्वारका की तरह अयोध्या में भव्य राममंदिर निर्माण की खातिर सरकार को अध्यादेश लाने की जरूरत है और अगर ऐसा नही हुआ तो उनका संगठन अयोध्या के लिये कूच करेगा।

प्रदीप मुसन्ना

वार्ता

More News
सिंगाजी विद्युत परियोजना की तीसरी इकाई से जल्द होगा विद्युत उत्पादन

सिंगाजी विद्युत परियोजना की तीसरी इकाई से जल्द होगा विद्युत उत्पादन

19 Sep 2018 | 6:54 PM

भोपाल, 19 सितंबर (वार्ता) रबी सीजन में बिजली आपूर्ति के मद्देनजर मध्यप्रदेश के खंडवा जिले की सिंगाजी ताप विद्युत परियोजना की तीसरी इकाई से विद्युत उत्पादन जल्द प्रारंभ किया जाएगा।

 Sharesee more..
image