Saturday, Jan 19 2019 | Time 13:34 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • कर्नाटक में एक सप्ताह बाद लौटे भाजपा विधायक
  • बाबुल सुप्रियो का तृणमूल कांग्रेस की विशाल रैली पर कटाक्ष
  • कमजोर लोगों पर हमला करता है डिमेंशिया
  • ठेके पर शिक्षकों की नियुक्ति का प्रस्ताव नहीं हो सका पारित
  • कोलकाता में ‘पाखंड शो’: बाबुल सुप्रियो
  • श्रीनगर हवाई अड्डे पर उड़ानें बाधित
  • लद्दाख में हिमस्खलन में मरने वालों की संख्या पांच हुई
  • कुम्भ के लिये सात हजार क्यूसेक जल का अतिरिक्त प्रवाह
  • दक्षिण भारत पर हमले की साजिश नाकाम, तीन गिरफ्तार
  • अमेरिका, उत्तर कोरिया के बीच कार्यकारी स्तर की ‘सार्थक’ बैठक
  • लीबिया में सशस्त्र लड़ाकों की झड़पों में 13 मरे, 52 घायल
  • सबरीमला: अयप्पा मंदिर में 51 महिलाओं के प्रवेश का कोई सबूत नहीं
  • मेक्सिको में तेल पाइपलाइन में विस्फोट, 20 मरे, 54 घायल
  • सबरीमला : केरल पुलिस ने 67,094 लोगों पर मामला दर्ज
  • अमेरिका में पुलिसकर्मी को सात साल की सजा
राज्य Share

जयंत मलैया ने जीएसटी पर केन्द्रित पत्रिका का किया विमोचन

भोपाल, 05 सितंबर (वार्ता) मध्यप्रदेश के वित्त एवं वाणिज्यिक कर मंत्री जयंत मलैया ने आज भोपाल में वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) पर केन्द्रित पत्रिका का विमोचन किया। पत्रिका में जीएसटी में किये गये प्रावधानों का सरल भाषा में समावेश किया गया है।
इस मौके पर अपर मुख्य सचिव वाणिज्यिक कर मनोज श्रीवास्तव ने कहा कि देश में आर्थिक क्षेत्र में जीएसटी को बड़े बदलाव के रूप में माना गया है। देश में विभिन्न प्रकार के करों का एकीकरण कर जीएसटी के रूप में सरलीकरण किया गया है। उन्होंने कहा कि जीएसटी कानून की समाज में जितनी सरल भाषा में अधिक से अधिक चर्चा की जायेगी, उसका उतना अधिक लाभ करदाता और कर संग्रहणकर्ता को मिलेगा।
सेंट्रल चीफ कमिश्नर, जीएसटी हेमंत भट्ट ने में कहा कि जीएसटी ने एक कर-एक राष्ट्र और एक देश के उद्देश्य को पूरा किया है। उन्होंने कहा कि जीएसटी की कार्य-प्रणाली में लचीलापन रखा गया है। जन-सामान्य और व्यवसाइयों की सुविधाओं को ध्यान में रखते हुए इसमें लगातार संशोधन भी किये जा रहे हैं। जीएसटी के रिर्टन फाईल फॉर्म का सरलीकरण किया जा रहा है।
बघेल
वार्ता
image