Wednesday, Sep 26 2018 | Time 01:04 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • जम्मू निकाय चुनाव के लिए 815 उम्मीदवारों ने भरे पर्चे
  • पश्चिमी पाकिस्तान का शरणार्थी एक प्रतिनिधि मंडल जितेंद्र सिंह से मिला
राज्य Share

अक्टूबर के प्रथम सप्ताह में मनाया जायेगा ‘वन्य प्राणि सप्ताह’

लखनऊ, 07 सितम्बर(वार्ता) उत्तर प्रदेश सरकार ने गत वर्षों की भांति इस वर्ष भी अक्टूबर माह के प्रथम सप्ताह में वन्य प्राणि सप्ताह’ मनाये जाने का निर्णय लिया गया है।
यह जानकारी प्रधान मुख्य वन संरक्षक, वन्यजीव पवन कुमार ने गुरूवार को यहां देते हुए बताया कि वन्य प्राणि हमारे वनों तथा हमारे जीवन की महत्वपूर्ण कड़ी है। उन्होंने कहा कि वन्य जीवों के परिवेश को सुरक्षित रखने तथा इनके संरक्षण हेतु जन सामान्य को जानकारी उपलब्ध कराया जाना ‘वन्य प्राणि सप्ताह’ का मुख्य उद्देश्य है।
श्री कुमार ने कहा कि एक से सात अक्टूबर वन्य प्राणि सप्ताह के अवसर पर जनसामान्य का अपेक्षित सहयोग प्राप्त करने हेतु वन्य जीवों के संरक्षण एवं इनके परिवेश को सुरक्षित रखने की जानकारी उन्हें उपलब्ध कराई जायेगी। साथ ही बच्चों को वन्य जीवों के बारे में समुचित जानकारी उपलब्ध कराने हेतु वन्य प्राणि सप्ताह के दौरान प्राणि उद्यान, लखनऊ एवं कानपुर में उनकाप्रवेश निःशुल्क रहेगा।
तेज
वार्ता
More News
निजी स्कूल वाहनों में लगे जीपीएस व सीसीटीवी कैमरे: उच्च न्यायालय

निजी स्कूल वाहनों में लगे जीपीएस व सीसीटीवी कैमरे: उच्च न्यायालय

25 Sep 2018 | 11:52 PM

नैनीताल 25 सितम्बर (वार्ता) उत्तराखंड उच्च न्यायालय ने हल्द्वानी के काठगोदाम में स्कूल वैन में एक मासूम के साथ हुए यौन उत्पीड़न के मामले को गंभीरता से लेते हुए मासूमों की सुरक्षा के लिये कुछ महत्वपूर्ण निर्देश जारी किये हैं।

 Sharesee more..
कृषि हमारी मूल संस्‍कृति है : उप राष्‍ट्रपति

कृषि हमारी मूल संस्‍कृति है : उप राष्‍ट्रपति

25 Sep 2018 | 11:33 PM

तिरूपति, 25 सितंबर (वार्ता) उप राष्‍ट्रपति एम.वेंकैया नायडू ने कहा है कि कृषि हमारी मूल संस्‍कृति है अौर हमें इसे समर्थन कर किसानों के लिए उपयोगी बनाना है।

 Sharesee more..
शिक्षा खो रही है अपनी प्रासंगिकता: उप राष्‍ट्रपति

शिक्षा खो रही है अपनी प्रासंगिकता: उप राष्‍ट्रपति

25 Sep 2018 | 11:06 PM

तिरूपति,25 सितंबर (वार्ता) उप राष्‍ट्रपति एम.वेंकैया नायडू ने कहा है कि शिक्षा अपनी प्रासंगिकता खो रही है क्‍योंकि इसे प्रमाण पत्र तथा ग्रेड प्राप्ति का मानक माना जा रहा है और देेश की शिक्षा प्रणाली में क्रांतिकारी परिवर्तन होना चाहिए जो अपने देश की भविष्‍य की पीढ़ी का निर्माण कर सके।

 Sharesee more..
image