Monday, Sep 24 2018 | Time 12:57 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • लखनऊ के रणजीत बने उत्तर प्रदेश वेटलिफ्टिंग संघ के उपाध्यक्ष
  • ओलांद की टिप्पणी से भारत-फ्रांस के संबंधों में आ सकती है खटास: फ्रांसीसी मंत्री
  • कठुआ में बाढ़ में फंसे हुए करीब 10 लोगों को बचाया गया
  • मालदीव के चुनाव परिणामों का भारत ने किया स्वागत
  • फिल्म निर्माण की विशिष्ट शैली बनायी थी फिरोज़ खान ने
  • रणवीर के साथ काम करना बेहतरीन अनुभव: कृति खरबंदा
  • अंतरिक्ष यात्री का किरदार निभायेंगे अक्षय कुमार
  • लोकरूचि जीवित हुनमान दो इटावा
  • इटावा के जीवित हनुमान के हैं सब मुरीद
  • फिल्म निर्माण की विशिष्ट शैली बनायी थी फिरोज़ खान ने
  • फिल्म निर्माण की विशिष्ट शैली बनायी थी फिरोज़ खान ने
  • कैबिनेट मंत्री का दर्जा प्राप्त भाजपा नेत्री ने छोड़ी पार्टी, कांग्रेस में होंगी शामिल
  • अस्पताल में साथी महिला डाक्टर से दुष्कर्म करने वाला रेजिडेंट डाक्टर निलंबित, गिरफ्तार
  • मोदी ने किया सिक्किम के पहले हवाई अड्डे का उद्घाटन
  • रणवीर के साथ काम करना बेहतरीन अनुभव: कृति खरबंदा
राज्य Share

अमेरिकी नागरिकों से धोखाधड़ी करने वाले गिरफ्तार

मुंबई 08 सितंबर (वार्ता) मुंबई की एक स्थानीय अदालत ने अमेरिकी नागरिकों के साथ कथित रूप से धोखाधड़ी करने वाले दो लोगों को तीन दिन के लिए पुलिस हिरासत में भेज दिया है।
आरोपियों ने अमेरिकी नागरिकों को एंटी वायरस प्रोगाम के सहारे वायरस निकालने का झांसा देकर उससे हजारों डालर ऐंठ लिये।
आरोपियों को कल पुलिस की अपराध शाखा ने गिरफ्तार किया था और उन्हें आज स्थानीय अदालत में पेश किया था जहां वे पुलिस हिरासत में भेज दिये गये।
रिपोर्ट के अनुसार 22 वर्षीय डेविड अल्फांसो और 28 वर्षीय संदीप यादव को कल गिरफ्तार कर उनका कम्प्यूटर भी जब्त कर लिया गया।
छापे के दौरान पुलिस ने काल सेंटर में 40 कर्मचारियों को काम करते हुए पाया और ये कर्मचारी गलत नाम बताकर अमेरिकी नागरिकों की तरह बात कर रहे थे। कर्मचारी अमेरिकी नागरिकों को फोन कर बताते थे उनके कम्प्यूटर अथवा लैपटॉप में वायरस या मैलवेयर की समस्या है।
इसके बाद कर्मचारी उन्हें एंटी वायरस प्रोग्राम के सहारे वायरस या मैलवेयर निकालने का प्रस्ताव देते थे। यह काल सेंटर सात माह पहले शुरू किया गया था और जिसने इसे शुरू किया वह पहले जहां काम करता था वहां से डेटा चुरा लिया था।
काल सेंटर के कर्मचारी पीडितों को समझाते थे कि वायरस के कारण उनके कंम्प्यूटर और लैपटॉप का पासवर्ड और अन्य दस्तावेज की जानकारी किसी और को मिल सकती है। इस तरह जब पीडित इसे दूर कराने के लिए तैयार हो जाता था तब उसे 100 से 700 डालर का खर्च बताया जाता था और फिर ऑनलाइन शॉपिंग वेबसाइट पर डिजिटल ‘गिफ्ट कार्ड’ के जरिये डालर मंगाते थे जो सीधे आरोपी के बैंक खाते में जाता था।
पुलिस ने काल सेंटर के मालिक डेविड अल्फांसो 22 और 28 वर्षीय संतोष यादव को भारतीय दंड संहिता की धारा 420 के तहत गिरफ्तार किया।
त्रिपाठी.श्रवण
वार्ता
More News

किशोरी से दुष्कर्म का आरोपी गिरफ्तार

24 Sep 2018 | 12:33 PM

 Sharesee more..

24 Sep 2018 | 12:20 PM

 Sharesee more..
image