Wednesday, Feb 20 2019 | Time 19:19 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • उत्तर भारत में तेज हवा चलने का अनुमान
  • मध्यप्रदेश कमलनाथ किसान कर्जा दो भोपाल
  • शीर्ष स्थान के लिए गोवा और बेंगलुरू में होगी ‘अंतिम लड़ाई’
  • कश्मीरी छात्रों का वेरिफिकेशन के बाद होगा दाखिलाः सिंह
  • दक्षिण कोरिया के साथ संबंध और मजबूत करने के लिए प्रतिबद्ध : मोदी
  • ‘गुरूजी’ के खिलाफ लोकसभा चुनाव लड़ेगे पूर्व विधायक मोहरील मुर्मू
  • भाजपा से गठबंधन के बाद विपक्ष को चुनाव से डर लग रहा है: शिव सेना
  • जलमार्ग के जरिए बांग्लादेश तक जाएगी उत्तर प्रदेश की चीनी:गडकरी
  • नामवर की स्मृति में साहित्य अकादमी में शोक सभा
  • मोदी के सऊदी अरब के शहजादे से गले मिलने पर कांग्रेस ने की आपत्ति
  • वोडाफोन आइडिया के लिए एरिक्शन लगायेगी 5 जी रेडी उपकरण
  • सोलह दिनों में 25 लाख किसानों के कर्ज माफ हो जाएंगे - कमलनाथ
  • पाकिस्तान को माकूल जवाब दिया जायेगा : साध्वी निरंजन
  • छत्तीसगढ़ में बस एवं ट्रक की टक्कर में चार की मौत 30 घायल
राज्य Share

राष्ट्रीय बिजली विरोध दो अंतिम लखनऊ

बिजली अभियंता ने बताया कि इलेक्ट्रिसिटी (अमेंडमेंट ) बिल 2014 पर पूर्व विद्युत् मंत्री पीयूष गोयल के साथ हुयी बातचीत में बिल में पांच मुख्य संशोधन करने का आश्वासन दिया था। विद्युत मंत्रालय ने जारी संशोधित ड्राफ्ट में इनमे से किसी बिंदु को शामिल नहीं किया गया है जिससे बिजली कर्मियों में भारी रोष है |
उन्होंने बताया कि बिल 19 दिसंबर 2014 को लोकसभा में रखा गया था जिसे बिजली के मामलों की संसद की स्टैंडिंग कमेटी को भेज दिया गया था | स्टैंडिंग कमेटी ने 07 मई 2015 को अपनी रिपोर्ट केंद्र सरकार को दे दी थी। | इस बिल का सबसे प्रमुख प्राविधान बिजली वितरण और आपूर्ति को अलग अलग कर बिजली आपूर्ति का निजीकरण करना है जिसका बिजली कर्मी और इंजीनियर प्रारम्भ से ही विरोध कर रहे हैं ।
बिल में बिजली वितरण और विद्युत् आपूर्ति के लाइसेंस अलग अलग करने तथा एक ही क्षेत्र में कई विद्युत् आपूर्ति कम्पनियाँ बनाने का प्राविधान है जिसके अनुसार सरकारी कंपनी को सबको बिजली देने (यूनिवर्सल पावर सप्लाई ऑब्लिगेशन ) की अनिवार्यता होगी जबकि निजी कंपनियों पर ऐसा कोई बंधन नहीं होगा |
स्वाभाविक है कि निजी आपूर्ति कम्पनियाँ मुनाफे वाले बड़े वाणिज्यिक और औद्योगिक घरानों को बिजली आपूर्ति करेंगी जबकि सरकारी क्षेत्र की बिजली आपूर्ति कंपनी निजी नलकूप , गरीबी रेखा से नीचे के उपभोक्ताओं और लागत से कम मूल्य पर बिजली टैरिफ के घरेलू उपभोक्ताओं को बिजली आपूर्ति करने को विवश होगी और घाटा उठाएगी |
प्रदीप
वार्ता
More News

मध्यप्रदेश कमलनाथ किसान कर्जा दो भोपाल

20 Feb 2019 | 7:17 PM

 Sharesee more..
लाल जी ने डॉ. नामवर सिंह के निधन पर शोक जताया

लाल जी ने डॉ. नामवर सिंह के निधन पर शोक जताया

20 Feb 2019 | 7:14 PM

पटना, 20 फरवरी (वार्ता) बिहार के राज्यपाल लाल जी टंडन ने हिन्दी साहित्य के जाने माने समीक्षक डॉ. नामवर सिंह के निधन पर शोक व्यक्त किया है।

 Sharesee more..
image