Thursday, Feb 21 2019 | Time 06:48 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • इराक में घुसपैठ करने वाले आईएस के 24 आतंकवादी हिरासत में
  • तुर्की में सैन्य प्रशिक्षण के दौरान विस्फोट, पांच सैनिक घायल
  • पाकिस्तान ने राजौरी में संघर्ष विराम उल्लंघन कर की गोलीबारी
  • पाकिस्तान प्रायोजित आतंकवाद से कश्मीर में शांति बाधित : डीजीपी
राज्य Share

मुख्यमंत्री ने कहा कि गुरू की कृपा और आशीर्वाद का ही नतीजा है कि राज्य के लोगों को 350वें प्रकाश पर्व और शुकराना समारोह का आयोजन करने का अवसर मिला। प्रकाश पर्व के आयोजन से समाज में प्रेम, सद्भाव, भाईचारा, आपसी एकता का माहौल पैदा हुआ। पूरे बिहार में प्रकाश उत्सव का माहौल रहा, जिसमें सभी लोग शामिल हुए। उन्होंने कहा कि प्रकाश पर्व के मौके पर एक-एक लंगर में लाखों लोग शामिल हुए। ऐतिहासिक गांधी मैदान में विशेष आयोजन किया गया था। ऐसा लग रहा था कि मानो हर आदमी के अंदर गुरु गोविन्द सिंह जी महाराज बसे हों।
श्री कुमार ने कहा कि गुरु गोविंद सिंह जी महाराज सर्वंशदानी, संत सिपाही, महान योद्धा, सफल नेतृत्वकर्ता, सामाजिक-राजनीतिक- आध्यात्मिक चिंतक, कई भाषाओं के विद्वान, श्रेष्ठ साहित्यकार, दया, क्षमा, प्रेम, विनम्रता और परोपकार सद्गुणों से सम्पन्न एक आदर्श व्यक्तित्व थे। यह कोई मामूली बात नहीं है कि मात्र 42 वर्ष की उम्र तक ही उन्होंने सब कुछ करके दिखा दिया। जब तक यह धरती रहेगी लोग उन्हें याद करेंगे।
समारोह को पर्यटन मंत्री प्रमोद कुमार, भवन निर्माण मंत्री महेश्वर हजारी और भवन निर्माण विभाग के प्रधान सचिव चंचल कुमार ने भी संबोधित किया। इस अवसर पर पूर्व मुख्य सचिव एवं बिहार राज्य योजना पर्षद् के उपाध्यक्ष जी. एस. कंग, मुख्यमंत्री के परामर्शी अंजनी कुमार सिंह, मुख्य सचिव दीपक कुमार, पर्यटन एवं कला संस्कृति विभाग के प्रधान सचिव रवि परमार, मुख्यमंत्री के सचिव मनीष कुमार वर्मा, मुख्यमंत्री के विशेष कार्य पदाधिकारी गोपाल सिंह, पटना के पुलिस उप महानिरीक्षक राजेश कुमार, जिला अधिकारी कुमार रवि, वरीय पुलिस अधीक्षक मनु महाराज समेत पर्यटन विभाग एवं भवन निर्माण विभाग के पदाधिकारी, अन्य गणमान्य व्यक्ति, सिख श्रद्धालु एवं स्थानीय लोग उपस्थित थे।
सूरज उमेश
वार्ता
More News
18 अलगावववादी नेताओं की सुरक्षा वापस

18 अलगावववादी नेताओं की सुरक्षा वापस

20 Feb 2019 | 11:39 PM

नयी दिल्ली/ जम्मू 20 फरवरी (वार्ता) जम्मू-कश्मीर सरकार ने 14 फरवरी को पुलवामा में हुए भीषण आतंकवादी हमले के बाद बड़ा कदम उठाते हुए यासीन मलिक, सैयद अली शाह गिलानी, सलीम गिलानी, मौलबी अब्बास अंसारी समेत 18 अलगाववादी नेताओं की सुरक्षा बुधवार को वापस ले ली।

 Sharesee more..

ईसागढ़ छात्रावास अधीक्षक निलंबित

20 Feb 2019 | 11:27 PM

 Sharesee more..

मालगाड़ी के छह डिब्बे पटरी से उतरे

20 Feb 2019 | 11:26 PM

 Sharesee more..

कमलनाथ मिलने पहुंचे बावरिया से

20 Feb 2019 | 11:16 PM

 Sharesee more..
image