Saturday, Apr 20 2019 | Time 16:31 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • नौसेना के विध्वंसक पोत इम्फाल का जलावतरण
  • सिद्धू की नोटबंदी और जीएसटी पर मोदी को चुनौती
  • बराड़ बने शिअद के वरिष्ठ उपाध्यक्ष
  • अगर भाजपा सत्ता में आयी तो कांग्रेस जिम्मेदार: आप
  • प्रज्ञा भारती को कलेक्टर भोपाल ने नोटिस जारी किया
  • चुनाव आयोग ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की वेब-सीरीज पर प्रतिबंध लगाया
  • बलियानाला: प्रशासन ने दिये 65 भवनों को खाली करने के निर्देेश
  • 200 सीटें भी नहीं जीत पायेगा राजग, चुनाव के बाद भूतपूर्व प्रधामंत्री बन जायेंगे मोदी - अहमद पटेल
  • बैट की संस्थापक मैगी अमृतराज का निधन
  • सत्ती पर चुनाव आयोग की कार्रवाई उचित: राठौर
  • पांड्या-राहुल पर 20-20 लाख रूपये का जुर्माना
  • मोदी ने ‘समावेशी विकास का हाईवे’ तैयार किया: नकवी
  • मोदी चुनिंदा उद्योगपतियों के चौकीदार, जनता दूसरा मौका नहीं देगी : राहुल
  • साध्वी प्रज्ञा ने शहीदों का अपमान किया : आशा कुमारी
  • गुम्मा में दुकान में लगी आग, लाखों का नुकसान
राज्य


करीब तिहत्तर हजार करोड़ से बनेंगे तीन कन्ट्रोल्ड एक्सेस सुपर एक्सप्रेस हाइवे

जयपुर, 10 सितंबर (वार्ता) लगभग तिहत्तर हजार करोड़ रुपए की लागत के तीन कन्ट्रोल्ड एक्सेस सुपर एक्सप्रेस हाइवे अमृतसर -गुजरात, भटिंडा- अजमेर और दिल्ली-बड़ौदरा हाइवे बनाए जाएंगे।
राज्य के सार्वजनिक निर्माण मंत्री यूनुस खान ने आज हनुमानगढ़ में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर यह जानकारी दी। श्री खान ने बताया कि इनमें अमृतसर -गुजरात और भटिंडा-अजमेर हाइवे हनुमानगढ़ जिले से निकलेंगे। उन्होंने बताया कि अमृतसर -गुजरात सुपर एक्सप्रेस हाइवे की लम्बाई 856 किलोमीटर होगी जिसकी लागत 25 हजार करोड़ रुपए आएगी। इसी तरह भटिंडा- अजमेर सुपर एक्सप्रेस हाइवे की लम्बाई 489 किलोमीटर और लागत 24 हजार 500 करोड़ रुपए एवं दिल्ली-बड़ौदरा सुपर एक्सप्रेस हाइवे की लम्बाई 444 किलोमीटर हाेगी जिसकी लागत 23 हजार करोड़ आएगी।
उन्होंने बताया कि अमृतसर- गुजरात सुपर एक्सप्रेस हाइवे डबवाली (हरियाणा),संगरिया, हनुमानगढ़, लूणकरणसर, देशनोक, नोखामंडी, शेरगढ़, पचपदरा, सांचोर और सिणधरी होता हुआ गुजरात जाएगा। यह हाइवे फोरलेन का होगा और सीमेंटेड बनेगा। कार्य शुरू हो चुका है और इसकी निविदा भी हो चुकी हैं वहीं भटिंडा- अजमेर सुपर एक्सप्रेस हाइवे सिक्सलेन का बनेगा और यह राजस्थान के हनुमानगढ़, चूरू, सीकर, नागौर आदि जिलों से निकलेगा। इसी प्रकार दिल्ली- बड़ौदरा सुपर एक्सप्रेस हाइवे राजस्थान के अलवर, भरतपुर, सवाईमाधोपुर, बूंदी, झालावाड़ आदि जिलों से निकलेगा।
उन्होंने बताया कि कन्ट्रोल्ड एक्सेस सुपर एक्सप्रेस हाइवे बनाने का मकसद उत्तरी भारत को बंदरगाहों से सीधा जोड़ना तथा समय की बचत करना है। जिस माल को बंदरगाहों तक पहुंचने में चार- पांच दिन लगते थे। इससे वह दो दिन में ही पहुंच जाएगा। श्री खान ने बताया कि पिछली बार मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने किशनगढ़ से हनुमानगढ़ तक 401 किलोमीटर लंबा मेगा हाइवे बनाया था। उस समय इस रोड़ पर इतना यातायात नहीं था।
इस अवसर पर डॉ रामप्रताप भी मौजूद थे।
जोरा
वार्ता
image