Sunday, Sep 23 2018 | Time 19:33 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • हुसैनसागर झील में भगवान गणेश की 2000 से अधिक मूर्तियां विसर्जित
  • तीन तलाक का मुद्दा राजनीति का विषय नहीं : रविशंकर
  • एकता, अखंडता और सम्मान के लिए डालें वोट: लू
  • भारत ने छह स्वर्ण के साथ जीता ट्रैक एशिया कप
  • वोट बैंक की राजनीति के कारण गरीबों के स्वास्थ्य की हुई अनदेखी : मोदी
  • फोटो कैप्शन-दूसरा सेट
  • सरकार को आन्दोलनरत कर्मचारियों से करनी चाहिए बात-पायलट
  • पर्रिकर ही गोवा के मुख्यमंत्री बने रहेंगें: अमित शाह
  • हरियाणा ने जम्मू-कश्मीर को तीन विकेट से हराया
  • महात्मा गांधी की 150वीं जयंती पर ‘मुशायरा’
  • हरियाणा, हिमाचल और पंजाब सहित कई राज्यों में मानसून सक्रिय
  • भारत अंडर-16 लड़कियों का दूसरे राउंड का सपना टूटा
  • राफेल कांग्रेस द्वारा प्रायोजित झूठा मुद्दा-माथुर
  • भूटान भारत के परिवार का हिस्सा रहा है: वेंकैया
राज्य Share

हरियाणा रोडवेज का निजीकरण नहीं: पंवार

चंडीगढ़, 10 सितम्बर(वार्ता) हरियाणा के परिवहन मंत्री कृष्ण लाल पंवार ने रोडवेज कर्मियों की हड़ताल को लेकर आज कहा कि राज्य सरकार का रोडवेज के निजीकरण की कोई योजना नहीं है।
श्री पंवार ने राज्य विधानसभा में विपक्ष के नेता अभय सिंह चौटाला द्वारा रोडवेज कर्मियों की हड़ताल पर एस्मा लगाने का मुद्दा सदन में उठाये जाने पर कहा कि सरकार का रोडवेज का निजीकरण करने का कोई इरादा नहीं है अलबत्ता वह प्राइवेट क्षेत्र से 700 बसे लेकर इन्हें राज्य के लोगों को बेहतर परिवहन सुविधाएं प्रदान के लिये चलाना चाहती है। उन्होंने बताया कि इन बसों पर ड्राईवर मालिक का होगा तथा परिचालक सरकार का होगा। ऐसी प्रत्येक बस एक दिन में 300 किलोमीटर का सफर तय करेगी। उन्होंने कहा कि रोडवेज यूनियनों के साथ गत बैठक में इस पर सहमति बनी थी और उनसे ही ऐसी बसों को रूट देने को लेकर सुझाव मांगे गये थे।
परिवहन मंत्री ने कहा कि राज्य में इस समय लगभग 33 लाख लोगों को बस सेवाएं मुहैया कराने की आवश्यकता है लेकिन बसों की कमी के कारण केवल साढ़े 12 लाख लोगों को ये सुविधाएं मिल पा रही हैं। परिवहन बेड़े में इस समय लगभग 4100 बसें हैं। वर्ष 2017-18 में इसमें 600 बसें शामिल की गईं तथा वर्ष 2018-19 में इसमें 650 बसें और शामिल की जाएंगी।
उन्होंने कहा कि सरकार रोडवेज कर्मियों की अधिकतर मांगे मान चुकी है जिमसें इन कर्मचारियों की पदोन्नति तथा इनका वर्दी और जूता भत्ता तक बढ़ाना शामिल है। सरकार ने रोडवेज में 8200 कर्मचारियों को पक्का भी किया है जिन्हें पिछली किसी सरकार ने नहीं किया तथा ऐसे में रोडवेज कर्मियों की हड़ताल न केवल अनुचित है बल्कि इससे जनता को परेशानी हो रही है।
रमेश2113
वार्ता
ये जाने को लेकर सदन में को लेकर
More News
गरीब किसान को इलाज के लिये गिरवी नहीं रखने पड़ेगा खेत मकान : योगी

गरीब किसान को इलाज के लिये गिरवी नहीं रखने पड़ेगा खेत मकान : योगी

23 Sep 2018 | 7:30 PM

गोरखपुर 23 सितम्बर (वार्ता) आयुष्मान भारत ‘प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना’ को गरीबी का दंश झेल रहे लोगों के लिये वरदान बताते हुये उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार को कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के महत्वाकांक्षी प्रयास का सुखद परिणाम यह होगा कि इलाज के लिये अब किसी गरीब काे इलाज के लिये अपना घरबार और खेत खलिहान गिरवी नहीं रखना पड़ेगा।

 Sharesee more..

23 Sep 2018 | 7:28 PM

 Sharesee more..
image