Thursday, Nov 15 2018 | Time 17:55 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • भारत हमारी मातृभूमि है,हम सबको इसका सम्मान करना चाहिए:नाईक
  • महिलाओं के लिए सार्वजनिक स्थलों पर सहज और सुरक्षित माहौल जरूरी: सीतारमण
  • सबरीमाला मुद्दे पर सर्वदलीय बैठक से कांग्रेस-भाजपा ने किया बहिर्गमन
  • श्रीलंकाई महिलाओं ने बंगलादेश को हराया
  • माफी नहीं मांगने पर सूचना मंत्री फवाद चौधरी के संसद सत्र में भाग लेने पर रोक
  • 1984 दंगे: दो दोषियों की सजा पर फैसला 20 नवम्बर को
  • देश के विकास में झारखंड की महत्वपूर्ण भूमिका : द्रौपदी
  • सुभाष देखमुख ने किया मार्कफेड के आउटलेट का दौरा
  • पंजाब की चीनी मिलों में लगाए जाएंगे इथनोल और बिजली सयंत्र: रंधावा
  • विंडीज़ महिलाएं 31 रन से जीतीं
  • बेंगलुरू उड़ान के साथ प्रयागराज छह शहरों से सीधा जुडा:नंदी
  • द्रौपदी और रघुवर ने धरती आबा भगवान बिरसा को दी श्रद्धांजलि
  • कुपवाड़ा में नियंत्रण रेखा के पास सुरक्षा बलों का तलाश अभियान
  • सिंगापुर में हुई मोदी-पुतिन की संक्षिप्त वार्ता
  • 218 रन की जीत के साथ बंगलादेश ने ड्रॉ कराई सीरीज़
राज्य Share

पांडुपोल मेले में लाखों ने किये हनुमान जी के दर्शन

अलवर,11सितम्बर(वार्ता)राजस्थान में अलवर के सरिस्का बाघ परियोजना के मध्य में स्थित पांडुपोल वाले हनुमान जी के मेले में आज लाखों भक्तों ने हनुमान जी के आगे नतमस्तक हाेकर अपने घर में सुख-समृद्धि की मन्नतें मांगी। मेले के दौरान प्रशासन की और से सभी तरह की व्यवस्थाएं मजबूत रही। इस अवसर पर जिले में हनुमान जी की घर घर में जोत देखी गई दाल बाटी चूरमा का भोग लगाया गया।
जन जन को लोक आस्था के प्रतीक इस ऐतिहासिक लक्खी मेले के दौरान देश भर से सभी प्रांतों से श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ी और वही आज के दिन घर घर में पांडुपोल हनुमान जी महाराज की ज्योत देखी गई है जिसमें दाल बाटी चूरमा बनाकर हनुमान जी को भोग लगाया गया। प्रशासन की तरफ से मुख्य पोल पर भक्तों को जाने के लिए पूरी तरह रोक रही और रोडवेज बसों के द्वारा सरिस्का से पांडुपोल तक भक्तों को पहुंचाया गया। जिसमें उमेरी तिराहां पर रोडवेज बसों का ठहराव बन गया जहां से श्रद्धालुओं को पांडुपोल स्थान तक पैदल जाना पड़ा।
पुजारी चेतन शर्मा ने बताया कि हर वर्ष की भांति इस बार भी पांडुपोल हनुमान जी महाराज का लक्खी मेला बड़े हर्ष उल्लास के साथ मनाया जा रहा है जिसमें प्रशासन की ओर से पूरे इंतजाम है और यह है महाभारत काल से मंदिर स्थित है और पांडुपोल जी महाराज के हनुमान जी की लेटी हुई प्रतिमा है जहां श्रद्धालु दंडोतिया सवामणी या छोटे बच्चों के जडूले उतरवाना नवविवाहित जोड़े की गठजोड़ी की जात आदि मांगलिक कार्य करते हैं। मेले का प्रारंभ 8 सितम्बर को रामायण पाठ के साथ शुरु हुआ ।
मेले के दौरान कानून व्यवस्था को लेकर प्रशासन की ओर से पुलिस जाब्ता भारी संख्या में लगाया गया मेले में आने वाले श्रद्धालुओं के लिए रोडवेज बसों की व्यवस्था की गई है और मेला परिसर स्थल पर पुलिस कंट्रोल रूम बनाया गया है । मंदिर मेला कमेटी की ओर से जगह-जगह टेंट व्यवस्था और पीने के पानी की व्यवस्था की गयी है।मेले के दौरान आने वाले श्रद्धालुओं को वन्य जीवों की सुरक्षा एवं कच्चे रास्तों के उपयोग न करने के लिए चेतावनी बोर्ड लगाए गए। इसके अलावा श्रद्धालुओं के लिए भंडारे एवं अन्य सेवाओं के लिए कई सामाजिक संगठन सेवा कार्य कर रहे हैं।
सं सैनी
वार्ता
More News

जोगी कांग्रेस के तीन पदाधिकारी निष्कासित

15 Nov 2018 | 5:55 PM

 Sharesee more..
कुशीनगर महोत्सव का आगाज, नारी सम्मान देश को आगे बढ़ायेगा:मौर्या

कुशीनगर महोत्सव का आगाज, नारी सम्मान देश को आगे बढ़ायेगा:मौर्या

15 Nov 2018 | 5:52 PM

कुशीनगर 15 नवम्बर (वार्ता) उत्तर प्रदेश के श्रम मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्या ने कहा कि नारी शक्ति का सम्मान होना चाहिए,जिससे देश आगे बढ़ेगा ।

 Sharesee more..

डंपर की चपेट में आने से एक व्यक्ति की मौत

15 Nov 2018 | 5:51 PM

 Sharesee more..
image