Monday, Nov 19 2018 | Time 07:00 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • इजरायल में जल्द चुनाव संभव नहीं : नेतन्याहू
  • सबरीमला : श्रद्धालु गिरफ्तार, विजयन के निवास के बाहर प्रदर्शन
  • विजयन के निवास के बाहर श्रद्धालुओं ने किया प्रदर्शन
  • सबरीमला में तनाव बरकरार, भक्ति गीत गाने पर श्रद्धालु गिरफ्तार
  • एचएएल बनायेगा स्वदेशी तेजस लड़ाकू विमान: भामरे
  • सबरीमला मेें मानवाधिकारों का गंभीर उल्लंघन: केरल मानवाधिकार आयोग
  • कांग्रेस ने राजस्थान के लिए सभी उम्मीदवार किये घोषित
राज्य Share

----

श्रीमती राजे ने कहा कि किसानों के हित को ध्यान में रखते हुए वर्ष 2013 से अब तक कृषि बिजली की दरें नहीं बढ़ाई। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार ने वैट घटाकर पेट्रोल और डीजल की कीमतों में कमी की है, इसका फायदा किसानों सहित समाज के सभी वर्गों को मिलेगा। उन्होंने कहा कि सरकार ने 3100 नए पशु उप चिकित्सा केन्द्र खोले हैं और गायों के कल्याण के लिए अलग से गोपालन विभाग बनाया है। साथ ही गोशालाओं को 850 करोड़ रूपए का अनुदान दिया है। पंजीकृत गोशालाओं में पशु आहार सहायता का समय तीन माह से बढ़ाकर छह महीने किया है। उन्होंने कहा कि स्वयंसेवी संस्थाओं को साथ लेकर सरकार प्रत्येक जिले में एक नंदी गोशाला भी शुरू करने के प्रयास कर रही है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि यमुना जल बंटवारे के लिए पांच राज्यों के बीच 1994 में एमओयू हुआ था। इसके बाद 24 साल तक यह परियोजना लम्बित पड़ी रही। वर्ष 2017 में हमारी सरकार ने ताजेवाला हेड से हमारे हिस्से का पानी लेने के लिए पाइपलाइन पर आधारित प्रस्ताव बनाकर फीजिबिलिटी रिपोर्ट केन्द्रीय जल आयोग को भेजी, जिसे केन्द्रीय जल आयोग ने गत फरवरी में स्वीकृति दे दी। इस परियोजना की डीपीआर बहुत शीघ्र बनकर तैयार हो जाएगी। बीस हजार करोड़ रूपए की इस परियोजना से चूरू-झुंझुनूं एवं सीकर जिले को पानी मिलेगा।
उन्होंने कहा कि आपणी योजना का पुनर्गठन कर डीपीआर लगभग तैयार हो चुकी है। आपणी योजना में तीन हजार से अधिक आबादी वाले गांवों में घर-घर पानी पहुंचाया जाएगा। इसके लिए 140 करोड़ रुपए की योजना अलग से स्वीकृत की गई है, जिसमें चूरू विधानसभा क्षेत्र की 11 और तारानगर विधानसभा क्षेत्र की छह योजनाओं को शामिल किया गया है। इनमें से चूरू विधानसभा क्षेत्र की चार और तारानगर विधानसभा क्षेत्र की दो योजनाओं का कार्य प्रगति पर है।
उन्होंने कहा कि 33 करोड़ रुपए से चूरू-बिसाऊ परियोजना का कार्य भी प्रगति पर है। इसके अलावा 65 करोड़ रूपए से 11 गांवों के लिए उच्च जलाशय एवं पाइपलाइन नेटवर्क का काम अगले वर्ष में पूरा हो जाएगा। साथ ही, 109 नलकूपों का निर्माण किया जाएगा। उन्होंने कहा कि इन कामों के पूरा होते ही इस क्षेत्र की पानी की समस्या काफी हद तक दूर हो जाएगी।
श्रीमती राजे ने कहा कि सोमवार रात को चूरू पहुंचने के बाद उन्होंने अधिकारियों को यहां शहर की सड़कों का निरीक्षण करने के लिए भेजा। उन्होंने कहा कि चूरू शहर में सड़कों के विकास के लिए 10 करोड़ रूपए स्वीकृत करवा दिए गए हैं। आवश्यकता पड़ने पर और भी राशि उपलब्ध करवा दी जाएगी।
उन्होंने कहा कि हमारी सरकार ने पांच साल में प्रदेश में सात सरकारी मेडिकल कॉलेज खोले हैं, जिनमें से एक मेडिकल कॉलेज 190 करोड़ रूपए की लागत से चूरू में खोला गया है। इसी तरह, यहां गर्ल्स कॉलेज और लॉ कॉलेज खोलकर बरसों पुरानी मांगों को पूरा किया गया है। उन्होंने कहा कि चूरू में नौ करोड़ रुपए की लागत से बनाया गया नेचर पार्क इस शहर के लिए एक बड़ी सौगात है।
उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार ने 625 करोड़ रूपयों से प्रदेश के 125 बड़े देवालयों और धार्मिक आस्था के केन्द्रों का जीर्णोद्धार किया है। साथ ही लोकदेवताओं की स्मृति को चिरस्थायी बनाए रखने के लिए पैनोरमा तैयार किए गए हैं।
जोरा
वार्ता
image