Tuesday, Feb 19 2019 | Time 09:50 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • अभेद्य सुरक्षा के बीच माघी पूूर्णिमा पर नौ बजे 40 लाख श्रद्धालुओ ने लगायी आस्था की डुबकी
  • मोदी अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी पहुंचे, 3382 करोड़ की ‘सौगत’ देंगे
  • दक्षिण कोरिया में आग से दो लोगों की मौत, 50 अचेत
  • मथुरा यमुना एक्सप्रेस-वे पर एम्बुलेंस और कार की भीषण टक्कर,सात की मृत्यु
  • गुआइदो के आदेशों का पालन करे वेनेजुएला की सेना: ट्रंप
  • बंगलादेश में पोर्नोग्राफी और गैम्बलिंग वेबसाइट पर प्रतिबंध
  • आज का इतिहास (प्रकाशनार्थ 20 फरवरी)
  • अमेरिका में तीन बच्चे सहित मृत पायी गयी महिला
  • अमेरिका में आपातकाल की घोषणा के विरोध में देश व्यापी प्रदर्शन
  • अल अजहर ने की नाइजीरिया में हुए आत्मघाती हमले की निंदा
  • मिस्र: बम विस्फोट में दो पुलिसकर्मी, एक आतंकवादी की मौत
  • सीरिया में आतंकवादी हमले में दो लोगों की मौत
  • तुर्की में यिल्दिरिम ने की इस्तीफा देने की घोषणा
  • इराक में आतंकवादियों ने की एक की हत्या और सात का अपहरण
  • यमन में सुरक्षा बलों के साथ झड़प में 10 हौती विद्रोही मारे गए
राज्य Share

कर चोरों के खिलाफ आयकर विभाग का बड़ा अभियान,चार व्यवसायियों पर छापें

अजमेर,12 सितम्बर(वार्ता) राजस्थान के अजमेर शहर में आयकर विभाग ने कर चोरी के खिलाफ बड़ी कार्रवाई करते हुये आज चार बड़े व्यवसायियों के बीस ठिकानाें छापेमारी की कार्यवाही को अंजाम दिया।
आयकर विभाग के सूत्रों ने बताया कि उदयपुर ,जयपुर और जोधपुर से आयी टीमों ने अल सुुबह ही शहर के चार व्यवसायियों के बीस ठिकानोें पर छापेमारी की कार्रवाई को अंजाम दिया और अघोषित आय और बेनामी संपत्ति का पता लगाया। समाचार लिखें जाने तक यह कार्रवाई जारीथी ।
सूत्रों के अनुसार विभाग का संयुक्त दल अंधेरे सुबह पांच बजे अजमेर पहुंचकर छापा मारने वाले ठिकानों पर पहुंच गया और करीब सात बजे से कार्यवाही को शुरू कर दिया। संयुक्त दल में विभाग के करीब सौ अधिकारियों ने कार्यवाही को अंजाम दिया। नया बाजार स्थित फर्नीचर व्यवसायी रामगोपाल प्रेमप्रकाश, सिनेमा रोड पड़ाव स्थित जैन नमकीन, स्टेशन रोड के अंडा व्यवसायी केवलरमानी तथा मदार गेट स्थित कांच व्यवसायी रामप्रताप भंवरलाल के यहां विभाग के अधिकारी कार्यवाही करते हुए दस्तावेज जब्त करने में जुटे हुए है।
आयकर विभाग की इस कार्यवाही से शहर के अन्य व्यवसायियों में भी हड़कंप मचा हुआ है और समीप के कई दुकानदारों ने तो दुकानें भी नहीं खोली है। जिन व्यवसायिक प्रतिष्ठानों के यहां छापे की कार्यवाही की जा रही है उनके खिलाफ विभाग के पास बेनामी संपत्तियों एवं कर चोरी के पुख्ता सबूत है। विभाग व्यवसायियों के बैंक खाते एवं लॉकर्स आदि की जानकारी जुटाने में भी लगा हुआ है। छापे में विभाग को कितना और क्या हासिल हो पाता है इसका पता अभी नहीं चल सका है।
सं सैनी
वार्ता
image