Wednesday, Apr 24 2019 | Time 07:28 Hrs(IST)
image
BREAKING NEWS:
  • रुस के खसान शहर में किम के आगमन पर सुरक्षा व्यवस्ता दुरुस्त
  • उत्तर कोरिया के नेता किम पुतिन से बातचीत करने निजी ट्रेन से रवाना हुए
  • श्रीलंका हमले में 45 बच्चों की जान गई :यूनीसेफ
  • सउदी ने आतंकवाद फैलाने के आरोप में 37 नागरिकों को दी फांसी
  • अबू धाबी के क्राउन प्रिंस ने दक्षिण सूडान के राष्ट्रपति से की मुलाकात
  • रक्षा बलों के प्रमुखों को बदल सकते हैं श्रीलंका के राष्ट्रपति
  • मोरक्को पुलिस ने आईएस से जुड़े संदिग्ध को हिरासत में लिया
राज्य


सहिष्णुता हिंदू धर्म का गुण है, हिंदू धर्म सर्वव्यापी है: ममता

कोलकाता 12 सितंबर (वार्ता) पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि सहिष्णुता हिंदू धर्म का एक गुण है, हिंदू धर्म सर्वव्यापी है।
सुश्री बनर्जी ने स्वामी विवेकानंद के शिकागो में ऐतिहासिक भाषण की 125वीं वर्षगांठ के मौके पर रामकृष्ण मिशन की ओर से बेलुर मठ में मंगलवार को आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा,“ बंगाल सहिष्णुता की भूमि है। हिंदू धर्म लोगों से प्रेम करना सिखाता है, न कि भेदभाव। आगे आयें और देश में नयी जागृति का नेतृत्व करें। ”
उन्होंने कहा कि वह शिकागो जाना चाहती थी लेकिन दुर्भाग्य से उस जगह नहीं जा सकी जहां स्वामीजी ने ऐतिहासिक भाषण दिया था। उन्होंने कहा,“ इसके पीछे गहरी साजिश रची गयी थी। कुछ लोग चाहते थे कि मैं वहां न जाऊं। मैं आशा करती हूं कि जिन ताकतों ने मुझे वहां जाने से रोका वे स्वामी विवेकानंद के भाषण को पढ़ेंगे।”
रामकृष्ण मिशन ने मुख्यमंत्री को शिकागो के एक कार्यक्रम में शामिल होने के लिए आमंत्रित किया था। कार्यक्रम को हालांकि अपरिहार्य परिस्थितियों में जून में रद्द कर दिया गया।
सुश्री बनर्जी ने कहा स्वामी विवेकानंद, गुरु रवीद्रनाथ टैगोर और नेताजी सुभाष चंद्र बोस ने धर्म और राजनीति को लेकर जो आदर्श अपनाये थे, उनमें काफी समानता थी।
मुख्यमंत्री ने कहा कि स्वामीजी ने 1893 में शिकागो के भाषण में सबका दिल जीत लिया था।
नीरज.श्रवण
वार्ता
More News
कारवां-ए-अमन बस सेवा आठवें सप्ताह स्थगित रही

कारवां-ए-अमन बस सेवा आठवें सप्ताह स्थगित रही

23 Apr 2019 | 10:43 PM

श्रीनगर, 23 अप्रैल (वार्ता) जम्मू-कश्मीर के श्रीनगर और पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर की राजधानी मुजफ्फराबाद के बीच चलने वाली बस कारवां-ए-अमन लगातार आठवें सप्ताह नहीं चली। दोनों ओर फंसे हुए यात्रियों को उरी के कामन पोस्ट पर नियंत्रण रेखा के इस ओर अंतिम भारतीय सैन्य चौकी को पार करने की अनुमति देने का निर्णय लिया गया है

see more..
image